Wednesday, August 4, 2021

कोरोना महामारी के बीच ऐक्टिंग छोड़ किसान बन गए ‘सिया के राम’ फेम आशीष शर्मा

- Advertisement -


कोरोना महामारी के बीच जहां कुछ स्टार्स ने लॉकडाउन में गुजारे के लिए अन्य काम तलाशे और फैमिली के साथ वक्त गुजारा, वहीं ऐक्टर आशीष शर्मा (Ashish Sharma) ने खेती करने का फैसला किया और राजस्थान स्थित अपने गांव पहुंच गए।

‘रंगरसिया’ (Rangrasiya) और ‘सिया के राम’ (Siya Ke Ram) जैसे टीवी शोज में नजर आए आशीष शर्मा खुद को लकी मानते हैं कि कोरोना महामारी के कारण अब वह जिंदगी कि असली खुशियों को इंजॉय करना और उनकी सराहना करना सीख गए हैं। आशीष शर्मा अब पूरी तरह से खेती-बाड़ी पर ध्यान दे रहे हैं। उन्होंने अपने (Ashish Sharma Instagram) इंस्टाग्राम अकाउंट पर कई वीडियो शेयर किए हैं, जिनमें वह खेतों में काम करते नजर आ रहे हैं।


बीज बोने से लेकर गायों का दूध तक निकाला

आशीष शर्मा ने हमारे सहयोगी ईटाइम्स को बताया कि इस महामारी में उन्होंने खेतों में बीच बोना, गायों का दूध निकालना और ट्रैक्टर तक चलाना सीखा। वह बोले, ‘हम जिंदगी में असली खुशियों को सराहना भूल गए थे, लेकिन इस महामारी ने हमें यह सिखा दिया। मुझे अहसास हुआ कि जिंदगी में छोटी-छोटी खुशियां उसे और खूबसूरत बना देती हैं। मैंने वापस अपनी जड़ों का रुख करने और किसान बनने का फैसला किया। खेती-बाड़ी सदियों से हमारा पेशा रहा है, लेकिन मुंबई आने के बाद यह छूट गया था। इसलिए मैंने वापस आकर खेती करने का सोचा।’


40 एकड़ जमीन और 40 गाय

आशीष शर्मा ने कहा कि वह काफी वक्त से ऑर्गैनिक फार्मिंग में जाने का मन बना रहे थे और अब जाकर उन्हें मौका मिला है। आशीष ने कहा, ‘गांव में हमारे पास 40 एकड़ जमीन और 40 गाय हैं। हमारा मकसद हेल्दी खान-पान प्रमोट करना है। मैं चाहता हूं कि लोगों में नैचरल तरीके से जिंदगी जीने के प्रति जागरुकता पैदा करना चाहता हूं और मदर नेचर के करीब जाना चाहता हूं।’

ashish sharma farmer2


अब टीवी शोज नहीं करना चाहते आशीष

आशीष शर्मा बीते काफी वक्त से टीवी की दुनिया से दूर हैं। इस बारे में जब उनसे पूछा गया था तो उन्होंने ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ के साथ बातचीत में कहा था कि शुरुआत में उन्हें काफी इंगेजिंग स्टोरी मिल रही थीं, लेकिन बाद में वो थकाऊं सी हो गईं। चूंकि वह ज्यादा एक्सप्लोर नहीं कर पाए, इसलिए टीवी से दूरी बना ली। आशीष शर्मा अब वेब सीरीज पर फोकस करना चाहते हैं।


इस खबर को अंग्रेजी में पढ़ने के लिए क्लिक करें।





Source link

इसे भी पढ़ें

- Advertisement -

Latest Articles

भव्य स्वागत देख बोले पीवी सिंधु के कोच कोच पार्क ताइ सांग- मुझे ‘गुरु’ बनाने के लिए शुक्रिया

नई दिल्लीतोक्यो ओलिंपिक में इतिहास रचने वाली भारत की बेटी पीवी सिंधु के विदेशी कोच पार्क ताइ सांग भव्य स्वागत से अभिभूत दिखे।...

India vs Germany Head to Head in Hockey: भारत के लिए ब्रॉन्ज मेडल नहीं होगा आसान, जानें जर्मनी के खिलाफ कैसा है रेकॉर्ड

तोक्योतोक्यो ओलिंपिक में 130 करोड़ भारतीयों की गोल्डन उम्मीद ने उस वक्त दम तोड़ दिया, जब पुरुष हॉकी टीम को बेल्जियम से सेमीफाइनल...