Saturday, January 23, 2021

सायरा बानो ने बताई राजेश खन्‍ना संग मशहूर तस्‍वीर की कहानी, साथ में ये दो फिल्‍में न कर पाने का मलाल

- Advertisement -


राजेश खन्‍ना की मंगलवार को 80वीं बर्थ ऐनिवर्सरी है। इस खास मौके पर अपने जमाने की मशहूर ऐक्‍ट्रेस सायरा बानो ने ऐक्‍टर से जुड़ी कई यादों को साझा किया। उन्‍होंने बताया कि न सिर्फ एक बार बल्कि वह दो बार राजेश खन्‍ना के साथ काम करने से चूक गईं।

पहली फिल्‍म ‘छोटी बहू’ थी जिसमें बाद में शर्मिला टैगोर ने काम किया। सायरा ने ई-टाइम्‍स से बातचीत में बताया, ‘मैं बीमार थी और इलाज के लिए लंदन गई थी। मुझे कोलाइटिस की प्रॉब्‍लम थी और इस कारण मुझे फिल्‍म छोड़नी पड़ी। हालांकि, मैं फिल्‍म का ग्रैंड मुहूर्त कभी नहीं भूल सकती हूं जो कि मुंबई के दादर स्थित रूप तारा स्‍टूडियोज में हुआ था।’

राजेश ने कहा- कप हटा सकते हैं
दिलीप कुमार की पत्‍नी सायरा ने आगे बताया, ‘मुहूर्त में राजेश खन्‍ना के साथ चाय पीते हुए एक तस्‍वीर क्‍लिक हुई। यह वह मौका था जब मेरी उनसे सबसे लंबी बात हुई थी। सोचा गया कि हम चाय को कप और प्‍याले में पिएंगे लेकिन राजेश ने कहा कि हम कप को हटा सकते हैं। इसके बाद चाय पीते हुए जो फाइनल पिक्‍चर आई, वह प्‍याले के साथ थी जो फिर काफी मशहूर हुई।’

दूसरी फिल्‍म थी ‘रेशम की डोरी’
इसके बाद दूसरी फिल्‍म ‘रेशम की डोरी’ थी। इसमें भी राजेश के ऑपोजिट सायरा को काम करना था लेकिन उस वक्‍त उनके स्‍वास्‍थ्‍य ने साथ नहीं दिया। बानो ने बताया, ‘मैं वह फिल्‍म भी छोड़ दी। असल में फिल्‍म राजेश को करनी थी लेकिन जब मैं लंदन से लौटी, फिल्‍म में धर्मेंद्र थे और उन्‍होंने इसके कुछ हिस्‍सों की शूटिंग भी कर ली थी।’

दिलीप साब के बर्थडे पर घर आए थे राजेश खन्‍ना
बानो के मुताबिक, ‘हम फिल्‍में नहीं कर पाए लेकिन फोन पर हमेशा टच में रहे। हम एक-दूसरे का बेहद सम्‍मान करते थे और वह मेरे काम की प्रशंसा करते थे। वह 1989 में दिलीप साब के बर्थडे पर डिंपल के साथ हमारे घर आए थे।’



Source link

इसे भी पढ़ें

Republic Day Parade: ईस्टर्न लद्दाख में चीन से मुकाबले के लिए तैनात टी-90 टैंक दौड़ेगा राजपथ पर, जानें क्यों है खास

हाइलाइट्स:भारतीय सेना का मुख्य बैटल टैंक है टी-90 , 50-60 किलोमीटर/घंटा है रफ्तारआर्मी का अकेला ऐसा टैंक है जो गाइडेड मिसाइल भी फायर...

वैज्ञानिकों को मिली बड़ी सफलता, दो हफ्ते में चल पड़े लकवाग्रस्त चूहे, जगी लाखों मरीजों के लिए उम्मीद

बर्लिनवैज्ञानिकों को रिसर्च के क्षेत्र में एक बड़ी सफलता मिली है। पैरालिसिस यानी लकवे का इलाज ढूंढ रहे वैज्ञानिकों ने चूहों पर सकारात्मक...
- Advertisement -

Latest Articles

Republic Day Parade: ईस्टर्न लद्दाख में चीन से मुकाबले के लिए तैनात टी-90 टैंक दौड़ेगा राजपथ पर, जानें क्यों है खास

हाइलाइट्स:भारतीय सेना का मुख्य बैटल टैंक है टी-90 , 50-60 किलोमीटर/घंटा है रफ्तारआर्मी का अकेला ऐसा टैंक है जो गाइडेड मिसाइल भी फायर...

वैज्ञानिकों को मिली बड़ी सफलता, दो हफ्ते में चल पड़े लकवाग्रस्त चूहे, जगी लाखों मरीजों के लिए उम्मीद

बर्लिनवैज्ञानिकों को रिसर्च के क्षेत्र में एक बड़ी सफलता मिली है। पैरालिसिस यानी लकवे का इलाज ढूंढ रहे वैज्ञानिकों ने चूहों पर सकारात्मक...

5 महीनों में 2 देशों के 8 शहर घूमने के बाद बेटी से मिले अजिंक्य रहाणे, लिखा ये मेसेज

मुंबई ऑस्ट्रेलिया से टेस्ट सीरीज जीतकर स्वदेश लौटे भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के खिलाड़ी इस समय अपने घर पर आराम कर...

Moto G 5G और Mi 10T समेत इन 5जी स्मार्टफोन्स पर Flipkart Sale में भारी छूट, देखें ऑफर्स

नई दिल्ली। Flipkart Big Saving Days Sale में कई स्मार्टफोन्स बंपर डिस्काउंट और आकर्षक ऑफर्स के साथ बेचे जा रहे हैं। आप भी...