Monday, June 14, 2021

5G केस में कोर्ट की फटकार के बाद फिर बोलीं जूही चावला- हमें बस सुरक्षा का सर्टिफिकेट दे दीजिए

- Advertisement -


बॉलिवुड ऐक्‍ट्रेस जूही चावला (Juhi Chawla) बीते दिनों 5G रेडिएशन (5G Radiation) के ख‍िलाफ आवाज बुलंद करने के कारण खूब चर्चा में रही हैं। जूही ने दिल्‍ली हाई कोर्ट (Delhi High Court) में इसको लेकर याचिका भी दाख‍िल की थी, जिसमें उन्‍हें कोर्ट ने फटकार लगाई गई। यही नहीं, ऐक्‍ट्रेस पर 20 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया। अब बुधवार को जूही ने सोशल मीडिया के जरिए एक बार फिर इस मसले पर अपनी राय दी है। जूही ने कहा कि बीते दिनों खूब शोर हुआ, जिसमें एक जरूरी मेसेज कहीं खो गया। जूही कहती हैं कि वह 5G के ख‍िलाफ नहीं हैं, वह तो बस इतना चाहती हैं कि अथॉरिटीज इस बात का सर्टिफिकेट (Certificate Of Security) दे दें कि 5G बच्‍चों के लिए, गर्भवती महिलाओं के लिए और हम सब के लिए सुरक्ष‍ित है।

जूही ने ट्विटर और इंस्‍टाग्राम पर शेयर किया वीडियो
जूही चावला ने ट्विटर और इंस्‍टाग्राम पर 1 मिनट 24 सेकेंड का वीडियो शेयर किया है। इसे शेयर करते हुए जूही ने लिखा है- सुनिए। वीडियो में जूही ने क्‍या कहा है, ‘नमस्‍ते, इन पिछले दिनों में इतना शोर हो गया कि मैं तो अपने आप को भी नहीं सुन पाई। इस शोर में मुझे लगा कि एक बहुत अहम, बहुत ही महत्‍वपूर्ण मेसेज शायद खो गया और वो था कि हम 5G के ख‍िलाफ नहीं हैं। हम 5G के ख‍िलाफ नहीं है, बल्‍क‍ि हम तो इसका स्‍वागत करते हैं। आप प्‍लीज जरूर लेकर आइए। हम बस यही कहना चाह रहे हैं कि अथॉरिटीज यह सर्टिफाई करें कि यह सेफ है।’

‘हमें बता दीजिए, ताकि हमारा डर निकल जाए’
जूही वीडियो में आगे कहती हैं, ‘हम सब यह कह रहे हैं प्‍लीज आप इसे सर्टिफाई कर दीजिए, इस पर स्‍टडीज, इस पर रिसर्च पब्‍ल‍िक डोमेन में पब्‍ल‍िश कर दीजिए। ताकि हमारा ये जो डर है, ये निकल जाए। हम सब लोग आराम से जाकर सो जाएं। हम बस यह जानना चाहते हैं कि यह बच्‍चों के लिए प्रग्‍नेंट के लिए, जो बच्‍चे अभी पैदा नहीं हुए हैं, उनके लिए भी यह सेफ है, सुरक्ष‍ित है। हम बस यही कह रहे हैं।’

5G केस में जूही चावला पर 20 लाख रुपये का जुर्माना, कोर्ट ने फटकारा- पब्‍ल‍िसिटी के लिए दी याचिका
कोर्ट ने लगाई थी जूही चावला को फटकार
इससे पहले दिल्‍ली हाई कोर्ट ने जूही चावला को मामले में कड़ी फटकार लगाई थी। जूही की याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा कि उनकी अपील तथ्‍यों की बजाय कानूनी सलाह पर आधारित है। यह कोर्ट के समय को बर्बाद करने जैसा है। कोर्ट ने फटकार लगाते हुए कहा कि ऐसा लगता है जैसे यह सब पब्‍ल‍िसिटी बटोरने के लिए किया गया है। लिहाजा, जूही चावला को कोर्ट का समय बर्बाद करने के लिए 20 लाख रुपये का जुर्माना भरने के निर्देश दिए जाते हैं। इसके साथ ही जूही को कोर्ट की सुनवाई के लिए बकाया फीस भरने के लिए भी एक से डेढ़ हफ्ते का समय दिया गया। फीस की रकम में करीब दो लाख लाख रुपये जूही ने जमा नहीं करवाए थे।

Juhi Chawla का ट्रोलर्स को तगड़ा जवाब- 10 साल से कह रही हूं, 4G और 5G का रेडिएशन खतरनाक



Source link

इसे भी पढ़ें

जोकोविच जैसा कोई नहीं: हर ग्रैंडस्लैम दो बार जीतने वाले ओपन ऐरा के पहले खिलाड़ी

हाइलाइट्स:नोवाक जोकोविच फ्रेंच ओपन के नए चैंपियन4 घंटे चले फाइनल में सितसिपास को हराया52 साल में चारों ग्रैंड स्लैम दो बार जीतने वाले...
- Advertisement -

Latest Articles

जोकोविच जैसा कोई नहीं: हर ग्रैंडस्लैम दो बार जीतने वाले ओपन ऐरा के पहले खिलाड़ी

हाइलाइट्स:नोवाक जोकोविच फ्रेंच ओपन के नए चैंपियन4 घंटे चले फाइनल में सितसिपास को हराया52 साल में चारों ग्रैंड स्लैम दो बार जीतने वाले...

भारत ने पिछले 3 साल में बांग्लादेश को को सौंपे 577 घुसपैठिए , इस साल अब तक 100 को वापस भेजा गया

नई दिल्लीभारत ने साल 2018 से अपने पड़ोसी देश बांग्लादेश को अधिकतम 577 घुसपैठिए सौंपे हैं, जो दोनों देशों के बीच आपसी सहयोग...