Wednesday, June 16, 2021

Nisha Rawal ने करण मेहरा से Alimony में मांगा है ये सबकुछ, क्‍यों कतरा रहे हैं करण मेहरा?

- Advertisement -


निशा रावल (Nisha Rawal) और करण मेहरा (Karan Mehra) की शादीशुदा जिंदगी में जो विवाद था, वह सबके सामने आ चुका है। ऐक्ट्रेस ने हाल ही पति करण मेहरा के खिलाफ (Nisha Rawal domestic violence) मारपीट के आरोप में एफआईआर दर्ज करवाई थी, जिसके बाद मुंबई पुलिस ने करण को गिरफ्तार (Karan Mehra arrest) कर लिया था।

बाद में बात सामने आई कि करण मेहरा और निशा रावल के बीच एलिमनी (Nisha Rawal alimony) की रकम को लेकर झगड़ा हुए। जमानत पर रिहा होने के बाद दिए एक इंटरव्यू में करण मेहरा ने दावा किया था कि निशा उनसे एलिमनी की मोटी (Nisha Rawal alimony amount) रकम मांग रही थीं जो वह देने में सक्षम नहीं थे। हालांक निशा रावल ने इस दावे को खारिज कर दिया और कहा कि एलिमनी की रकम को लेकर करण से झगड़ा नहीं हुआ था।

निशा रावल ने सुनाई आपबीती, बताया सोमवार रात करण ने क्‍या-क्‍या किया

निशा रावल ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में करण मेहरा पर न सिर्फ उनका सिर दीवार में मारने का आरोप लगाया बल्कि उस एलिमनी के बारे में भी खुलासा किया, जिसके कारण दोनों के बीच बहस हो गई थी। निशा रावल ने बताया कि आखिर एलिमनी के तौर पर उन्होंने करण मेहरा से क्या मांगा।

पढ़ें: निशा रावल का बड़ा खुलासा- करण मेहरा का दूसरी लड़की से अफेयर, बच्‍चे के कारण अब तक थी चुप

‘सिर्फ बच्चे की पढ़ाई का खर्च मांगा’
निशा रावल ने बताया कि उन्होंने करण मेहरा से कहा था कि जब तक उनका बेटा काविश 12वीं क्लास में नहीं आ जाता, तब तक वह उसे पढ़ा लेंगी, लेकिन उसके आगे की पढ़ाई करण मेहरा संभाल लें। उन्होंने कहा, ‘मैंने करण से बोला था कि मैं बच्चे की 12वीं तक की पढ़ाई देख लूंगी। तब तक आपके 12 साल होंगे पैसे जमा करने के लिए। उसके बाद आप बच्चे की हायर एजुकेशन संभाल लेना। मैं कर पाऊंगी तो उस वक्त मैं भी मदद करूंगी। इसके अलावा भी अगर आप नहीं कर पाए तो मैं आपकी भी मदद करूंगी। मैं कभी इसके लिए जिम्मेदार नहीं मानूंगी। तो फिर बताइए मैंने क्या गलत बोला?

निशा का दावा- करण के लिए अपनी जूलरी तक बेची, एलिमनी के लिए कोई प्रेशर नहीं

प्रेस कॉन्फ्रेंस में निशा रावल के भाई रोहित सेठिया (Rohit Sethiya) और एस्ट्रॉलजर दोस्त मोनिशा कोटवानी (Monisha Kotwani) भी मौजूद थीं। मोनिशा ने कहा, ‘उस आदमी के लिए इसने अपनी शादी की जूलरी तक बेच दी। निशा ने खुद उसे बोला कि तुम्हें पूरा अमाउंट देने की जरूरत नहीं है। मैं अपने पैरों पर खड़ी हो जाऊंगी। पर जो बेसिक है, कम से कम वो तो दो। वह बच्चा तुम्हारा भी है। आप कैसे जिम्मेदारी से हट सकते हैं। फाइनैंशली निशा रावल ने सालों से कैसे कुर्बानी दी है, यह हमें पता है।’

पढ़ें: ‘मुझे थप्पड़ मारे, CCTV बंद करके पीटा’, Karan Mehra ने बयां की पत्नी के जुल्म की कहानी

मैकडॉनल्ड में नौकरी करने को तैयार निशा रावल
वहीं निशा रावल के भाई रोहित सेठिया ने बताया कि निशा ने अपने लिए करण मेहरा से एलिमनी के तौर पर कुछ भी नहीं मांगा। उन्होंने करण से कहा था कि वह किसी भी तरह से अपना गुजारा कर लेंगी, पर वह कम से कम बच्चे की पढ़ाई का खर्च दे दें। निशा चाहती है कि कम से कम बच्चे को अच्छी पढ़ाई और अन्य चीजें मिलें। करण बस काविश की जिम्मेदारी उठा ले और इसके अलावा उन्हें कुछ नहीं चाहिए। निशा मैकडॉनल्ड में भी काम करने को तैयार थी। झाड़ू तक लगाने को तैयार थी। वह एक महीने से नौकरी ढूंढ रही थी ताकि बच्चे को संभाल सके।

क्‍या डेटिंग के वक्‍त भी निशा रावल को पीटते थे करण मेहरा?

पढ़ें: करण मेहरा ने जमानत मिलते ही निशा पर लगाए गंभीर आरोप- उसने मुंह पर थूका, दीवार में सिर मारा

पैर के अंगूठे के फ्रैक्चर के लिए भी नहीं दिए पैसे

निशा रावल ने यह भी बताया कि करण मेहरा ने उनकी खुद की कमाई तक का एक पैसा उनके पास नहीं छोड़ रखा था। निशा ने कहा कि करण उनके अकाउंट से सारा पैसा अपने अकाउंट में ट्रांसफर कर लेता और फिर अपने हिसाब से पैसे खर्च करता था। निशा ने बताया कि उनके अंगूठे में फ्रैक्चर हो गया था, लेकिन करण ने अकाउंट में इतने पैसे भी नहीं छोड़े थे कि वह उसका इलाज करवा सकें। वह दो महीनों तक उस फ्रैक्चर अंगूठे के साथ रहीं।

निशा रावल बोलीं- मैं अपने ही पास रखूंगी बेटे काविश की कस्‍टडी



Source link

इसे भी पढ़ें

- Advertisement -

Latest Articles

Supreme Court News: राज्यों में बोर्ड एग्जाम कैंसल करने की मांग वाली याचिका पर सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्लीसुप्रीम कोर्ट उस याचिका पर 17 जून को सुनवाई करेगा जिसमें याचिकाकर्ता ने कहा है कि राज्यों के बोर्ड एग्जाम कैंसल किया...