Saturday, December 5, 2020

BHU Reopening 2020: बीएचयू को 23 नवंबर से खोलने की तैयारी, शुरुआत पीएचडी पाठ्यक्रमों से

- Advertisement -


BHU Reopening 2020: कोरोना महामारी के चलते मार्च से बंद चले आ रहे बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी (BHU) को 23 नवंबर से खोले जाने का फैसला किया गया है। पहले चरण में विज्ञान संकाय के पीएचडी पाठ्यक्रमों के अंतिम वर्ष के स्टूडेंट्स को रिसर्च कार्यों के लिए यूनिवर्सिटी आने की अनुमति दी जाएगी।

BHU Reopening 2020: कोरोना महामारी के चलते मार्च से बंद चले आ रहे बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी (BHU) को 23 नवंबर से खोले जाने का फैसला किया गया है। इस संबंध में यूनिवर्सिटी के ऑफिशियल ट्वीटर अकाउंट से ट्वीट भी किया गया है। बीएचयू प्रशासन की ओर से इसे लेकर आदेश जारी किया गया है। आदेश के अनुसार, पहले चरण में, यानी 23 नवंबर से विज्ञान संकाय के पीएचडी पाठ्यक्रमों के अंतिम वर्ष के स्टूडेंट्स को रिसर्च कार्यों के लिए यूनिवर्सिटी आने की अनुमति दी जाएगी।

कोविड-19 से संबंधित सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए संकाय स्तर पर कोर कमिटी का गठन किया गया है। राज्य द्वारा जारी दिशा-निर्देशों या एसओपी के कार्यान्वयन और निगरानी के लिए विभिन्न समितियां समय-समय पर स्थितियों की समीक्षा करती रहेंगी। इसके आधार पर ही अन्य विभागों को भी खोलने के बारे में निर्णय लिया जाएगा। बीएचयू प्रशासन की ओर से जानकारी दी गई है कि विभाग के साथ ही कृषि विज्ञान, पर्यावरण एवं सतत विकास, चिकित्सा विज्ञान, पशु चिकित्सा विज्ञान के स्टूडेंट्स की ओर से गाइडलाइन तैयार की जा रही है। बीएचयू द्वारा आधिकारिक जानकारी में कहा गया है कि एसओपी स्वास्थ्य मंत्रालय, गृह मंत्रालय और महामारी के प्रसार को रोकने के लिए सुरक्षा उपायों पर राज्य सरकार के दिशानिर्देशों पर आधारित होगा।

राज्य सरकार के आदेश के अनुसार, सात महीने के अंतराल के बाद फिर से खोलने की घोषणा करने वाला यह राज्य का पहला कॉलेज है। राज्य सरकार ने सोमवार को घोषणा की थी कि 23 नवंबर से राज्य के कॉलेज और विश्वविद्यालय फिर से खुलेंगे। उच्च शिक्षण संस्थानों को रोस्टर के आधार पर 50 प्रतिशत स्टूडेंट्स की उपस्थिति के साथ फिर से खोला जाएगा। हालांकि, वैसे छात्र, शिक्षक और कर्मचारी जो कि कन्टेनमेंट जोन में रह रहे हैं, उन्हें संस्थानों में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।











Source link

इसे भी पढ़ें

किसान आंदोलन के समर्थन में 36 ब्रिटिश सांसद, भारत पर दबाव बनाने के लिए लिखी चिट्ठी

हाइलाइट्स:भारत के किसान आंदोलन को 36 ब्रिटिश सांसदों ने दिया समर्थनब्रिटिश विदेश सचिव को लिखी चिट्ठी, भारत से बात करने की अपील कीबोले-...

Aus vs Ind: कनकशन विवाद पर बोले सहवाग, 24 घंटे बाद तक भी दिखते हैं लक्षण, भारत ने कुछ भी गलत नहीं किया

नयी दिल्लीपूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने कहा कि भारतीय टीम रविंद्र जडेजा के कनकशन विकल्प को लेने में बिलकुल सही थी...
- Advertisement -

Latest Articles

किसान आंदोलन के समर्थन में 36 ब्रिटिश सांसद, भारत पर दबाव बनाने के लिए लिखी चिट्ठी

हाइलाइट्स:भारत के किसान आंदोलन को 36 ब्रिटिश सांसदों ने दिया समर्थनब्रिटिश विदेश सचिव को लिखी चिट्ठी, भारत से बात करने की अपील कीबोले-...

Aus vs Ind: कनकशन विवाद पर बोले सहवाग, 24 घंटे बाद तक भी दिखते हैं लक्षण, भारत ने कुछ भी गलत नहीं किया

नयी दिल्लीपूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने कहा कि भारतीय टीम रविंद्र जडेजा के कनकशन विकल्प को लेने में बिलकुल सही थी...

एर्दोगन ने फ्रांसीसी राष्ट्रपति मैक्रों को बताया ‘मुसीबत’, बोले- उनसे जल्द छुटकारा पा लेगा फ्रांस

अंकारामुस्लिम देशों के खलीफा बनने की कोशिश कर रहे तुर्की के राष्ट्रपति रेचप तैय्यप एर्दोगन फ्रांस के खिलाफ लगातार जहर उगल रहे हैं।...