Wednesday, April 14, 2021

बंद की जा सकती है Elon Musk के Starlink ब्रॉडबैंड की भारत में प्री-बुकिंग, जानें क्या है वजह

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • स्टारलिंक ब्रॉडबैंड से बहुत कुछ बदलने की संभावना
  • भारत में ब्रॉडबैंड सर्विस का दायरा काफी बढ़ रहा है

नई दिल्ली
एलॉन मस्क की स्पेस ब्रॉडबैंड कंपनी Starlink ने फरवरी के अंत में भारत में प्री-बुकिंग के लिए अपनी सेवाएं शुरू कर दी थीं। वहीं, अब कंपनी भारत की रेगुलेटरी बॉडी से बाधाओं का सामना कर रही है। भारत की रेगुलेटरी बॉडीज का कहना है कि कंपनी ने दिशानिर्देशों का अनुपालन नहीं किया है, जिसके चलते Starlink ब्रॉडबैंड की प्री-बुकिंग तब तक के लिए बंद की जा सकती हैं, जब तक उसे अधिकारियों से हरी झंडी नहीं मिल जाती है। Starlink को भारत में वर्ष 2022 में लॉन्च किया जाना है।

ये भी पढ़ें-WhatsApp वीडियो स्टेटस को ऐसे आसानी से करें डाउनलोड, थर्ड पार्टी ऐप की नहीं जरूरत

ब्रॉडबैंड इंडिया फोरम (BIF) ने कथित तौर पर टेलिकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) और इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन (ISRO) से कहा है कि वो एलॉन मस्क की कंपनी SpaceX टेक्नॉलजीज को भारत में अपनी Starlink सैटलाइट इंटरनेट सर्विस के बीटा वर्जन को बेचने के लिए रोके।

ये भी पढ़ें-मार्केट में उपलब्ध लेटेस्ट स्मार्टफोन, कम दाम के ये फोन देंगे महंगे से महंगे फोन को टक्कर

अमेजन, फेसबुक, ह्यूजेस, गूगल और माइक्रोसॉफ्ट का प्रतिनिधित्व करने वाले उद्योग निकाय के अध्यक्ष टीवी रामचंद्रन ने कहा है कि SpaceX के पास भारत में इस तरह की सर्विसेज पेश करने की अनुमति नहीं है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि उन्होंने निकायों को मौजूदा नीति और नियामक मानदंडों के फेयर कॉम्पिटिशन और पालन के लिए हस्तक्षेप करने का निर्देश दिया है।

ये भी पढ़ें-रोजाना 2GB डेटा और अनलिमिटेड कॉलिंग समेत कई बड़े फायदों से लैस है BSNL का ये सस्ता रिचार्ज

दुनियाभर में इंटरनेट का जाल बिछ गया है

ये है वजह
रिपोर्ट में कहा गया है कि Starlink के पास भारत में अपना ग्राउंड या अर्थ स्टेशन नहीं है। साथ ही इसरो और दूरसंचार विभाग (DoT) से देश में बीटा सर्विसेज देने के लिए सैटलाइट फ्रिक्वेंसी ऑथराइजेशन भी नहीं है। आगे कहा गया है कि Starlink मौजूदा दिशानिर्देशों के अनुरूप नहीं था, जिसमें यह कहा गया है कि कम्यूनिकेशन सर्विसेज के टेस्टिंग फेज के दौरान सर्विस को कमर्शल लॉन्च नहीं किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें-Second Hand Laptop खरीद रहे हैं तो इन बातों का रखें ध्यान, नहीं तो हो सकता है नुकसान

कब शुरू होगा?
आपको बता दें कि Starlink को भारत में प्री-ऑर्डर के लिए उपलब्ध कराया गया है। इसके लिए 99 डॉलर यानी करीब 7,200 रुपये देने होंगे, जो पूरी तरह से रिफंडेबल है। हालांकि, कंपनी ने कहा था कि यह सर्विस ‘पहले आओ पहले पाओ’ के आधार पर यूजर्स के लिए उपलब्ध कराई जाएगी। वर्ष 2022 में सैटलाइट के जरिये भारतीय यूजर्स को इंटरनेट कनेक्टिविटी उपलब्ध कराए जाने की उम्मीद है। यह अभी बीटा-टेस्टिंग चरण में है। Starlink के ब्रॉडबैंड कनेक्शन के लिए कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट से प्री-बुकिंग की जा सकती है। यह पहले से ही अमेरिका, यूके और कनाडा में उपलब्ध है।

ये भी पढ़ें-Xiaomi का नया Tablet Mi Pad 5 भारत में जल्द होगा लॉन्च, होगा Snapdragon 870 प्रोसेसर

Starlink broadband Pre Booking In india 2

ब्रॉडबैंड मार्केट में छाने की तैयारी

बेहतर स्पीड का दावा
SpaceX के मुताबिक, Starlink सैटलाइट पारंपरिक सैटलाइट्स की तुलना में पृथ्वी से 60 गुना ज्यादा पास है। इसके चलते यूजर्स को दूसरी सैटलाइट्स की तुलना में इसके जरिये बेहतर सर्विस मिलेगी। इसके जरिये लो लैटेंसी में यूजर्स को वीडियो कॉल करने में सुविधा मिलेगी। साथ ही ऑनलाइन गेमिंग भी पहले से बेहतर होगी। साथ ही Starlink कथित तौर पर 1Gbps डाउनलोडिंग और अपलोडिंग स्पीड देने पर काम कर रहा है। अब तक यह 150Mbps स्पीड दे रहा था, जो टेस्टिंग के दौरान 300Mbps थी।

ये भी पढ़ें-फ्री में IPL देखने के लिए Disney+Hotstar वाले Vi, Jio, Airtel के बेस्ट रिचार्ज प्लान देखें



Source link

इसे भी पढ़ें

- Advertisement -

Latest Articles

Xiaomi Mi 11 को मिला MIUI 12.5 अपडेट, जुड़े कई शानदार फीचर

हाइलाइट्स:शाओमी मी 11 को मिला MIUI 12.5 अपडेटनए फीचर्स के साथ कई ऑप्टिमाइजेशन भीदिया जा रहा मार्च 2021 का सिक्यॉरिटी पैचनई दिल्लीXiaomi Mi...

Covid-19 By Touching Surface: बेवजह पोछा मत लगाइए, सतह को छूने से कोरोना संक्रमित होने का अबतक नहीं मिला कोई सबूत

हाइलाइट्स:सतह को छूने से नहीं फैलता है कोरोना का संक्रमण, अमेरिकी सीडीसी ने बतायाविशेषज्ञ बोले- सतह से नहीं, बल्कि हवा के जरिए फैलता...