Monday, June 14, 2021

सबसे धांसू माइलेज वाली भारत की टॉप 5 हैचबैक, बजट में भी होगी फिट

- Advertisement -


नई दिल्ली
भारत में हैचबैक कारों को काफी पसंद किया जाता है। कॉम्पैक्ट डिजाइन और लो मेंटनेंस के चलते लोग इन्हें खरीदना काफी पसंद करते हैं। इसके अलावा ये कारें अफोर्डबेल भी होती है। इसके अलावा भारत में माइलेज पर भी खासा ध्यान ग्राहक देते हैं। यहां हम आपको ऐसी ही कारों के बारे में बताएंगे।

Hyundai i20 डीजल MT
यह कार 2 इंजन ऑप्शन के साथ आती है। इसमें 1.5 लीटर 4 सिलिंडर डीजल इंजन 25.2 किमी प्रति लीटर तक माइलेज देता है। वहीं कार की कीमत 8.21 लाख रुपये से 10 लाख रुपये के बीच है।

Tata Altroz Diesel MT
टाटा मोटर्स की यह हैचबैक देश की सबसे सुरक्षित कारों में से एक है। इस कार का 1.5 लीटर 4 सिलिंडर टर्बो इंजन 25.11 किमी प्रति लीटर की माइलेज देता है। कार की शुरुआती कीमत 6.99 लाख रुपये है।

मारुति बलेनो/टोयोटा ग्लैंजा
यह दोनों कारें क्रमश: 1.2L K12B पेट्रोल और 1.2K K12C ड्यूलजेट इंजन के साथ आएगी। बलेनो में आपको 23.87 किमी प्रति लीटर का माइलेज मिलते है वहीं ग्लैंजा में आपको 21.02 किमी प्रति लीटर का माइलेज मिलता है।

फॉक्सवैगन पोलो MT
यह कार 1.0 लीटर 3 सिलिंडर इंजन के साथ आती है जो आपको 18.24 किमी प्रति लीटर की माइलेज देता है। इस कार के Polo 1.0L TSI Highline Plus वेरियंट कीमत 8.49 लाख रुपये है।

होंडा जैज CVT

होंडा की यह कार 1.2 लीटर 4 सिलिंडर पेट्रोल इंजन के साथ आती है जो 90bhp पावर और 110Nm टॉर्क जेनेरेट करता है। यह कार आपको 17.1 किमी प्रति लीटर का बढ़िया माइलेज देती है।



Source link

इसे भी पढ़ें

जोकोविच जैसा कोई नहीं: हर ग्रैंडस्लैम दो बार जीतने वाले ओपन ऐरा के पहले खिलाड़ी

हाइलाइट्स:नोवाक जोकोविच फ्रेंच ओपन के नए चैंपियन4 घंटे चले फाइनल में सितसिपास को हराया52 साल में चारों ग्रैंड स्लैम दो बार जीतने वाले...
- Advertisement -

Latest Articles

जोकोविच जैसा कोई नहीं: हर ग्रैंडस्लैम दो बार जीतने वाले ओपन ऐरा के पहले खिलाड़ी

हाइलाइट्स:नोवाक जोकोविच फ्रेंच ओपन के नए चैंपियन4 घंटे चले फाइनल में सितसिपास को हराया52 साल में चारों ग्रैंड स्लैम दो बार जीतने वाले...

भारत ने पिछले 3 साल में बांग्लादेश को को सौंपे 577 घुसपैठिए , इस साल अब तक 100 को वापस भेजा गया

नई दिल्लीभारत ने साल 2018 से अपने पड़ोसी देश बांग्लादेश को अधिकतम 577 घुसपैठिए सौंपे हैं, जो दोनों देशों के बीच आपसी सहयोग...