Thursday, April 15, 2021

अब बिना तार के घर-घर दौड़ेगी बिजली, न्यूजीलैंड में जल्द शुरू होगा ट्रायल

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • बिना तार के बिजली की सप्लाई की तकनीक का परीक्षण कर रहा न्यूजीलैैंड
  • परियोजना सफल रही तो दुनियाभर के देशों को बिजली के उलझे तारों के मिलेगी मुक्ति
  • न्यूजीलैंड के एक स्टार्टअप ने विकसित की है टेक्नोलॉजी, निकोल टेस्ला ने सबसे पहले की थी परिकल्पना

वेलिंगटन
कल्पना कीजिए कि कभी आप सोकर उठें और आपके घर के सामने लगा बिजली का खंभा गायब हो। डरिए नहीं, इन बेतरकीब ढंग से उलझे बिजली के तारों के गायब होने के बावजूद भी आपके घर में बिजली की सप्लाई चालू रहेगी। दअसल, न्यूजीलैंड की सरकार और एमरोड नाम के एक स्टार्टअप के साथ मिलकर इस परियोजना पर तेजी से काम कर रही है। अगर यह पार्टनरशिप काम करती है तो इससे बिना तार के बिजली सप्लाई करने का सपना पूरा हो सकता है।

इसी साल शुरू होगा ट्रायल
बिना तार के बिजली की सप्लाई किसी विज्ञान कथा (science fiction) की तरह लगता है। लेकिन, इस प्रौद्योगिकी को पहले से ही विकसित किया जा चुका है। अब इसकी उपयोगिका को लेकर केस स्टडी की जा रही है। इस तरह के अपने पहले पायलट प्रोग्राम में न्यूजीलैंड का दूसरा सबसे बड़ा बिजली वितरक कंपनी पॉवरको इसी साल स्टार्टअप कंपनी एमरोड की तकनीक का परीक्षण शुरू करेगा।

ऐसे दौड़ेगी बिना तार के बिजली
इन दोनों कंपनियों ने इस टेस्ट के लिए 130 फुट के एक प्रोटोटाइप वायरलेस एनर्जी इंफ्रास्ट्रक्चर को तैनात करने की योजना बनाई है। इसे संभव बनाने के लिए एमरोड ने रेक्टिफाइड एंटीना को विकसित किया है। इसे रेक्टिना का नाम दिया गया है। इस एंटीना के जरिए ट्रांसमीटर एंटीना से भेजी जा रही बिजली के माइक्रोवेव को पकड़ा जा सकता है। बताया जा रहा है कि इस तरह की तकनीकी न्यूजीलैंड के पहाड़ी इलाकों के लिए वरदान साबित हो सकती है।


वायरलेस पावर ट्रांसमिशन तकनीक विकसित
एमरोड के संस्थापक ग्रेग कुशनिर ने बताया कि हम लंबी दूरी की वायरलेस पावर ट्रांसमिशन के लिए एक तकनीक विकसित कर चुके हैं। यह तकनीक अपने आप में काफी समय से है। यह ऊर्जा के क्षेत्र में क्रांति लाने के साथ भविष्य भी हो सकता है। उन्होंने कहा कि इस तरह की वायरलेस बिजली सप्लाई की पहली परिकल्पना मशहूर वैज्ञानिक निकोल टेस्ला ने सबसे पहले की थी।

Power Without Wires 01

निकोल टेस्ला ने 150 साल पहले की थी परिकल्पना
1890 के दशक में सबसे पहले टेस्ला ने ही बिना तार के पावर की सप्लाई की परिकल्पना की थी। इसके लिए उन्होंने ‘टेस्ला कॉइल’ नाम की एक ट्रांसफार्मर सर्किट पर काम भी किया था, जो बिजली को पैदा करता था, लेकिन वह यह साबित नहीं कर सके कि वह लंबी दूरी पर बिजली के एक बीम को नियंत्रित कर सकता है। अब इस स्टार्टअप कंपनी का कहना है कि टेस्ला ने जिस सपने को देखा था हम उसे पूरा करने जा रहे हैं।



Source link

इसे भी पढ़ें

पप्पू ने बनवाया गर्ल्स हॉस्टल का पास

मास्टर जी - अगर कोई लड़का गर्ल्स हॉस्टल की तरफ गया...नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:Apr 15, 2021, 06:00AM ISTमास्टर जी - अगर कोई लड़का गर्ल्स...
- Advertisement -

Latest Articles

पप्पू ने बनवाया गर्ल्स हॉस्टल का पास

मास्टर जी - अगर कोई लड़का गर्ल्स हॉस्टल की तरफ गया...नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:Apr 15, 2021, 06:00AM ISTमास्टर जी - अगर कोई लड़का गर्ल्स...