Saturday, November 28, 2020

अमेरिकी चुनाव LIVE: दोबारा भी हो गई गिनती तो डोनाल्‍ड ट्रंप के लिए चांस कम, जानें कहां रुका है फैसला

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • अमेरिका में मतगणना शुरू हुए करीब 72 घंटे बीत चुके हैं लेकिन अभी तक तस्‍वीर साफ नहीं
  • डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्‍मीदवार जो बाइडेन 264 इलेक्‍टोरल वोट पाकर जीत से मात्र 6 कदम दूर हैं
  • वहीं वर्तमान राष्‍ट्रपति और रिपब्लिकन उम्‍मीदवार ट्रंप 214 वोटों के साथ रेस में काफी पीछे चल रहे

वॉशिंगटन
दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका में राष्‍ट्रपति चुनाव के बाद मतगणना शुरू हुए करीब 72 घंटे बीत चुके हैं लेकिन अभी तक अगला राष्‍ट्रपति कौन बनेगा, इसकी तस्‍वीर पूरी तरह से साफ नहीं हो पाई है। डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्‍मीदवार जो बाइडेन 264 इलेक्‍टोरल वोट पाकर जीत से मात्र 6 कदम दूर हैं। वहीं वर्तमान राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप 214 वोटों के साथ रेस में काफी पीछे चल रहे हैं। आइए जानते हैं क्‍यूं फंसा है र‍िजल्‍ट और क्‍या अभी भी ट्रंप राष्‍ट्रपति बन सकते हैं….

दरअसल, अमेरिका में अगले राष्‍ट्रपति का बनाने की चाभी अब 4 प्रमुख राज्‍यों के हाथ में आ गई है। ये राज्‍य हैं जॉर्जिया, पेन्सिलवेनिया, एरिजोना और नेवाडा। इनमें से तीन राज्‍यों में डोनाल्‍ड ट्रंप आगे चल रहे हैं और नेवाडा में जो बाइडेन बेहद कम मतों से बढ़त बनाए हुए हैं। जो बाइडेन को राष्‍ट्रपति बनने के लिए कुल 6 वोटों की जरूरत है। बाइडेन अगर नेवाडा जीत लेते हैं तो वह राष्‍ट्रपति बन जाएंगे। नेवाडा में कुल 6 वोट हैं।

ट्रंप हारे भी तो नहीं होगा बुश-क्लिंटन जैसा अंजाम, बाइडेन के लिए बनेंगे बड़ा खतरा

उधर, डोनाल्‍ड ट्रंप जॉर्जिया, पेन्सिलवेनिया, एरिजोना तीनों ही राज्‍यों में ट्रंप बढ़त बनाए हुए हैं। हालांकि बाइडेन के मुकाबले उनकी बढ़त लगातार कम हो रही है। जार्जिया में कुल 16 वोट हैं। पेन्सिलवेनिया में भी ट्रंप की बढ़त है लेकिन यह लगातार कम हो रही है। पेन्सिलवेनिया 20 इलेक्‍टोरल वोट हैं। यही हालत एरिजोना में भी है। यहां पर 11 वोट हैं और यहां कांटे का मुकाबला देखने को मिल रहा है। इसके अलावा अलास्‍का जैसे कुछ और राज्‍य हैं जहां अभी मतगणना चल रही है। डोनाल्‍ड ट्रंप को उम्‍मीद है कि अगर इन राज्‍यों में जीतते हैं तो उनके दोबारा राष्‍ट्रपति बनने का रास्‍ता खुल सकता है।

दोबारा गिनती के बाद भी डोनाल्‍ड ट्रंप के लिए चांस कम
डोनाल्‍ड ट्रंप हार के आसार देखते हुए अब दोबारा गिनती कराने पर जोर दे रहे हैं। उधर, विशेषज्ञों का कहना है कि अगर ऐसा होता भी है तो ट्रंप के जीतने के चांस कम हैं। दरअसल, ट्रंप की टीम यह प्रयास कर रही है कि जिन राज्‍यों में बाइडेन के जीत का मार्जिन कम है, वहां पर दोबारा गिनती कराई जाए। ट्रंप की नजर मिश‍िगन और विस्‍कोन्सिन पर है। मिशिगन में चुनावी गड़बड़ी के आरोपों पर ट्रंप की टीम को कोर्ट से झटका लगा है।

पढ़ें: ट्रंप का मोदी संग ‘प्रचार’ करना नहीं आया काम, भारतीयों की पहली पसंद रहे बाइडेन

ट्रंप की टीम को उम्‍मीद थी कि धोखाधड़ी के आरोप लगाकर वे दोबारा मतगणना करा सकते हैं लेकिन उनके उम्‍मीदों पानी फिर गया है। विस्‍कोन्सिन में तभी फिर से मतगणना कराई जा सकती है जब जीत का अंतर एक प्रतिशत से कम हो। ट्रंप की टीम ने धोखाधड़ी का आरोप लगाकर फिर से मतगणना कराए जाने की मांग की है। ट्रंप अगर यहां फिर से मतगणना कराते हैं तो उन्‍हें काफी पैसा देना होगा और इसका फैसला आने में 13 दिन लग सकता है।

ट्रंप ने एक बार फिर अपने जीत के दावे को दोहराया

इस बीच गुरुवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर अपने जीत के दावे को दोहराया है। साथ ही आशंका जताई है कि अवैध वोटों के जरिए इस चुनाव को ‘चुराने’ की कोशिश की जा रही है। ट्रंप ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा, ‘अगर आप लीगल वोट गिनें तो मैं आराम से जीत रहा हूं। लेकिन अगर आप अवैध (मेल इन बैलट्स) वोट गिनेंगे तो वे (डेमोक्रेट) इसके जरिए हमसे जीत छीनने की कोशिश कर सकते हैं। मैं कई बड़े राज्य ऐतिहासिक मार्जिन के साथ जीत चुका हूं।’

ट्रंप ने ओपिनियन पोल्स को फर्जी बताते हुए कहा, ‘ओपिनियन पोल्स करने वालों ने जानबूझकर पूरे देश में ब्लू वेव (डेमोक्रेट के पक्ष में) दिखाई। असल में ऐसी कोई वेव नहीं थी। पूरे देश में बड़ी रेड वेव (रिपब्लिकन के पक्ष में) है, इसका मीडिया को भी अंदाजा था मगर हमें इसका फायदा नहीं हुआ।’ मेल इन बैलट्स में गड़बड़ी की आशंका जाहिर करते हुए ट्रंप ने कहा, ‘हैरानी की बात है कि मेल इन बैलट्स किस तरह एक पक्ष (डेमोक्रेट) की तरफ ही दिख रहे हैं। यह एक भ्रष्ट प्रैक्टिस है और लोगों को भी भ्रष्ट बनाती है, भले ही वे अंदर से ऐसे न हों।

हार की ओर बढ़ रहे अमेर‍िकी राष्‍ट्रपति, ग्रेटा थनबर्ग ने डोनाल्‍ड ट्रंप की भाषा में उड़ाया उन्‍हीं का मजाक

ट्रंप को मिशिगन और जॉर्जिया में कोर्ट से बड़ा झटका
अमेरिका की अदालतों ने चुनाव में कथित गड़बड़ी के खिलाफ राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप के प्रचार अभियान की ओर से मिशिगन और जॉर्जिया में दर्ज कराए गए मुकदमों को खारिज कर दिया है। ट्रंप प्रचार अभियान ने मिशिगन में अनुपस्थित मतपत्रों (जब कोई व्यक्तिगत रूप से मतदान केन्द्र में नहीं जा कर बल्कि अन्य किसी माध्यम से मतदान करता है) की गिनती रोकने का अनुरोध किया था, वहीं जॉर्जिया में प्रचार अभियान ने आरोप लगाया कि वहां अनुचित मतों की भी गणना की जा रही है।

मिशिगन कोर्ट ऑफ क्लेम्स की न्यायाधीश सिंथिया स्टीफेन्स ने बृहस्पतिवार को यह कहते हुए वाद खारिज कर दिया कि मिशिगन के सेक्रेटरी ऑफ स्टेट स्थानीय मतगणना प्रक्रिया में शामिल नहीं है। इस संबंध में औपचारिक आदेश शुक्रवार को जारी होगा। अनेक मीडिया संस्थान राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन को मिशिगन राज्य से विजयी घोषित कर चुके हैं। जॉर्जिया में न्यायाधीश जेम्स एफ बास ने वाद को खरिज कर दिया। उन्होंने कहा,‘मैं अनुरोध को अस्वीकार करता हूं और याचिका खारिज करता हूं ।’ ट्रंप प्रचार अभियान ने पेनसिल्वेनिया और नेवादा में भी वाद दायर किए हैं और विस्कोंसिन में मतों की गणना दोबारा कराने की मांग की है।



Source link

इसे भी पढ़ें

कोविड टीके के वितरण और टीकाकरण के लिए स्वास्थ्य प्रणाली तैयार कर रहा है विशेषज्ञ समूह: राघवन

नई दिल्लीदेश के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार के. विजय राघवन ने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ मिलकर एक विशेषज्ञ समूह मौजूदा स्वास्थ्य...

हिंद महासागर में बड़ी भूमिका को तैयार भारत, NSA डोभाल ने श्रीलंकाई राष्ट्रपति से की मुलाकात

कोलंबोभारत ने हिंद महासागर में चीन की बढ़ती गतिविधियों को रोकने के लिए अपने पड़ोसियों को साधने की कोशिशों को तेज कर दिया...
- Advertisement -

Latest Articles

कोविड टीके के वितरण और टीकाकरण के लिए स्वास्थ्य प्रणाली तैयार कर रहा है विशेषज्ञ समूह: राघवन

नई दिल्लीदेश के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार के. विजय राघवन ने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ मिलकर एक विशेषज्ञ समूह मौजूदा स्वास्थ्य...

हिंद महासागर में बड़ी भूमिका को तैयार भारत, NSA डोभाल ने श्रीलंकाई राष्ट्रपति से की मुलाकात

कोलंबोभारत ने हिंद महासागर में चीन की बढ़ती गतिविधियों को रोकने के लिए अपने पड़ोसियों को साधने की कोशिशों को तेज कर दिया...

Women Big Bash League: सिडनी थंडर दूसरी बार बनी चैंपियन, फाइनल में दी मेलबर्न स्टार्स को शिकस्त

सिडनीसिडनी थंडर ने दमदार प्रदर्शन करते हुए शनिवार को महिला बिग बैश लीग का खिताब दूसरी बार जीत लिया। नॉर्थ सिडनी ओवल में...

गिलगित-बाल्टिस्तान में चुनाव करवा कर फंसे इमरान, बहुमत तो दूर- राज्य का भी नहीं मिलेगा दर्जा

इस्लामाबादपाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बाल्टिस्तान प्रांत में जबरदस्ती चुनाव करवाने का फैसला प्रधानमंत्री इमरान खान को उल्टा पड़ता दिखाई दे रहा है। सरकारी...