Wednesday, January 20, 2021

कहीं परमाणु हमला न कर दें ‘सिरफिरे’ ट्रंप, न्यूक्लियर लॉन्च कोड को लेकर अमेरिका में बढ़ी चिंता

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नेंसी पेलोसी ने ट्रंप को बताया सिरफिरा राष्ट्रपति
  • ट्रंप के न्यूक्लियर लॉन्च कोड को लेकर अमेरिकी सेना के टॉप जनरल से की बात
  • ट्रंप के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी में डेमोक्रेटिक सांसद

वॉशिंगटन
अमेरिकी संसद पर बुधवार को हुए हमले के बाद डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी ने मोर्चा खोल दिया है। अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की स्पीकर और ट्रंप की धुर विरोध नेंसी पेलोसी ने न्यूक्लियर कोड की सुरक्षा को लेकर चिंता जताई है। डेमोक्रेटिक सांसदों को लिखी चिट्ठी में पेलोसी ने कहा है कि उन्होंने राष्ट्रपति ट्रंप के परमाणु कोड को लेकर अमेरिकी सेना के प्रमुख से बात की है। बता दें कि इस कोड की मदद से ही अमेरिका का राष्ट्रपति परमाणु हमला करने का आदेश देता है।

न्यूक्लियर लॉन्च कोड तक ट्रंप की पहुंच रोकने की मांग
पेलोसी ने कहा कि आज सुबह मैंने अमेरिकी सेना के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ के चेयरमैन मार्क मिले से बात की। मैंने एक अस्थिर राष्ट्रपति को सैन्य शत्रुता की शुरुआत करने या न्यूक्लियर लॉन्च कोड तक पहुंच से रोकने और परमाणु हमले का आदेश देने को लेकर सावधानियों पर चर्चा की। इस अस्थिर राष्ट्रपति को लेकर इससे खतरनाक स्थिति और कुछ नहीं हो सकती है।

अमेरिका को बचाने के लिए सबकुछ करेंगे
उन्होंने कहा कि हम अपने देश, हमारे लोगों और हमारे लोकतंत्र को किसी भी हमले से बचाने के लिए वह सब कुछ करना चाहिए जो हम कर सकते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि जितनी जल्दी हो सके वह डोनाल्ड ट्रंप को पद से हटाने की कार्यवाही शुरू होने की उम्मीद कर रही हैं।

अमेरिकी संसद में हिंसा पर चीनी मीडिया का तंज, कहा- लोकतंत्र और स्वतंत्रता का बुलबुला फूट गया
न्यूक्लियर लॉन्च कोड को लेकर क्यों डरा अमेरिका
अमेरिका का राष्ट्रपति न्यूक्लियर लॉन्च कोड के जरिए अपनी सेना को जल,थल या नभ से किसी भी देश पर परमाणु हमले का आदेश दे सकता है। एक बार आदेश देने के बाद अमेरिकी सेना चाहकर भी मना नहीं कर सकती है। जब भी अमेरिका में कोई नया राष्ट्रपति चुना जाता है तो उसे ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ की तरफ से न्यूक्लियर लॉन्च कोड सौंपे जाते हैं।

जो बाइडन के शपथग्रहण समारोह में शामिल नहीं होंगे डोनाल्ड ट्रंप, टूटेगी 152 साल पुरानी परंपरा
किन देशों पर हमले का आदेश दे सकते हैं ट्रंप
डेमोक्रेटिक सांसदों को डर है कि अपना कार्यकाल खत्म होते-होते डोनाल्ड ट्रंप कुछ ऐसा कर सकते हैं, जिससे नए राष्ट्रपति जो बाइडन के लिए मुश्किलें बढ़ जाएंगी। माना जा रहा है कि ट्रंप ईरान, चीन या रूस के ऊपर परमाणु हमले का आदेश दे सकते हैं। हालांकि ऐसा होने की उम्मीद बेहद कम है। फिर भी सतर्कता दिखाते हुए अमेरिकी सांसद कोई भी रिस्क लेना नहीं चाहते हैं।



Source link

इसे भी पढ़ें

‘संगीन’ की शूटिंग के लिए लंदन गए नवाजुद्दीन सिद्दीकी, कहा- द शो मस्ट गो ऑन

बॉलिवुड के बेहतरीन ऐक्टर्स में से एक नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने अपनी ऐक्टिंग से लोगों के दिलों में खास जगह बनाई है। उनके फैंस...

सोशल मीडिया पर थाइलैंड के राजा का अपमान, महिला को रिकॉर्ड 43 साल कैद की सजा

बैंकॉकथाइलैंड की अदालत ने एक पूर्व नौकरशाह को यहां की राजशाही का अपमान करने या मानहानि के खिलाफ बने सख्त कानून का उल्लंघन...

भारत की हार का ऐलान करने वाले माइकल वॉन ने की रहाणे की तारीफ, बोले- विराट की जगह बनाओ कप्तान

नई दिल्लीभारतीय टीम को टेस्ट सीरीज से पहले ही अपनी भविष्यवाणी में हारा हुआ बताने वाले इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने...
- Advertisement -

Latest Articles

‘संगीन’ की शूटिंग के लिए लंदन गए नवाजुद्दीन सिद्दीकी, कहा- द शो मस्ट गो ऑन

बॉलिवुड के बेहतरीन ऐक्टर्स में से एक नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने अपनी ऐक्टिंग से लोगों के दिलों में खास जगह बनाई है। उनके फैंस...

सोशल मीडिया पर थाइलैंड के राजा का अपमान, महिला को रिकॉर्ड 43 साल कैद की सजा

बैंकॉकथाइलैंड की अदालत ने एक पूर्व नौकरशाह को यहां की राजशाही का अपमान करने या मानहानि के खिलाफ बने सख्त कानून का उल्लंघन...

भारत की हार का ऐलान करने वाले माइकल वॉन ने की रहाणे की तारीफ, बोले- विराट की जगह बनाओ कप्तान

नई दिल्लीभारतीय टीम को टेस्ट सीरीज से पहले ही अपनी भविष्यवाणी में हारा हुआ बताने वाले इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने...

Corona Vaccination in India: भारत में अब तक कुल 6.31 लाख स्वास्थ्यकर्मियों को कोरोना वैक्सीन लगाई गई: केंद्र सरकार

हाइलाइट्स:देश में अब तक 6.31 लाख हेल्थकेयर वर्कर्स को लगा कोरोना का टीकास्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार देर शाम जारी किए आंकड़े16 जनवरी से...

पाकिस्तान: 12 साल की बच्ची का अपहरण, रेप और जबरन शादी, जानवरों के साथ बेड़ियों में बांधकर रखा

इस्लामाबादपाकिस्तान में 12 साल की एक ईसाई बच्ची को अनगिनत यातनाओं से गुजरने के बाद आखिरकार बचा लिया गया है। इस मासूम का...