Wednesday, January 27, 2021

गिलगित-बाल्टिस्तान में चुनाव करवा कर फंसे इमरान, बहुमत तो दूर- राज्य का भी नहीं मिलेगा दर्जा

- Advertisement -


इस्लामाबाद
पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बाल्टिस्तान प्रांत में जबरदस्ती चुनाव करवाने का फैसला प्रधानमंत्री इमरान खान को उल्टा पड़ता दिखाई दे रहा है। सरकारी मशीनरी के भरपूर दुरुपयोग के बाद भी उनकी पार्टी पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ और उसकी सहयोगी मजलिस-ए-वाहदत-ए-मुस्लीमीन को यहां की 24 सदस्यी विधानसभा में केवल 10 सीटें ही मिल सकी हैं। हालांकि, इमरान की पार्टी 6 निर्दलीय विधायकों को खरीदकर सरकार बनाने की तैयारी कर रही है। ये सभी निर्दलीय पहले पीटीआई के ही सदस्य रहे हैं।

इस कारण पूर्ण राज्य नहीं बन सकता गिलगित बाल्टिस्तान
वहीं, पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के गिलतित-बाल्टिस्तान के प्रवक्ता शहजाद इल्हामी ने आरोप लगाया है कि इमरान सरकार ने इस क्षेत्र को देश का पांचवा राज्य बनाने का केवल चुनावी वादा किया था। उन्होंने कहा कि इमरान खान की पार्टी के पास देश की संसद में बहुमत नहीं है। ऐसे में वे संवैधानिक सुधारों को मंजूरी नहीं दिलवा सकते हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि इमरान खान का यह वादा केवल चुनावी स्टंट ही था।

पहली बार सत्तारूढ़ दल को नहीं मिला बहुमत
2009 में गिलगित-बाल्टिस्तान की विधान सभा स्थापित होने के बाद पहली बार ऐसा हुआ है जब इस्लामाबाद में सत्ता पर काबिज पार्टी क्षेत्र के चुनावों में स्पष्ट बहुमत हासिल करने में विफल रही है। मंगलवार को जारी आधिकारिक परिणामों के अनुसार इमरान खान की पीटीआई को 10, निर्दलीयों को 6 और पीपीपी को एक सीट पर जीत मिली है। इस क्षेत्र में 15 नवंबर को मतदान हुआ था, जिसमें विपक्षी पार्टियों ने धांधली का आरोप लगाया था।

चुनाव में धांधली के आरोपों को पीटीआई ने किया खारिज
गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र के आनुपातिक प्रतिनिधित्व की प्रणाली के तहत महिलाओं, टेक्नोक्रेट्स और पेशेवरों के लिए आरक्षित नौ सीटों पर छह और पीटीआई उम्मीदवार चुने गए हैं। वहीं, सरकार बनाने की कोशिश में जुटी पीटीआई के गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र के वित्तीय सचिव प्रोफेसर अजमल हुसैन ने चुनाव में धांधली के आरोपों को खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत, अमेरिका और अन्य के दबाव के बावजूद एक साहसिक निर्णय लिया।

Gilgit Baltistan History: गिलगित बाल्टिस्तान कैसे और कब गया पाकिस्तान के कब्जे में

गिलगित-बाल्टिस्तान में चीन भी सक्रिय
1963 में गिलगित-बाल्टिस्तान में अपनी साझा सीमा की स्थापना के बाद से चीन और पाकिस्तान करीबी सहयोगी रहे हैं। 60 बिलियन अमेरिकी डॉलर के चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (CPEC) के शुरुआत भी इसी क्षेत्र से हुई है। जो अरब सागर के ग्वादर तक फैला हुआ है। इस क्षेत्र में चीन की कई कंपनियां इंफ्रास्टक्चर को विकसित कर रही हैं। इनमें से कई परियोजनाएं ऐसी भी हैं जिनका उपयोग सैन्य गतिविधि के लिए किया जा सकता है।

गिलगित-बाल्टिस्तान पर क्या है चीन का आधिकारिक रुख, जानें इमरान के फैसले पर क्या बोला

पाकिस्तान की योजना का भारत ने विरोध किया
गिलगित-बाल्टिस्तान में चुनाव कराने की पाकिस्तान की योजना का भारत ने शुरू से ही विरोध किया था। भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने सितंबर में एक डिजिटल प्रेस ब्रीफिंग में कहा था, ‘सैन्य कब्जे वाले तथाकथित गिलगित-बाल्टिस्तान में स्थिति को बदलने के लिये पाकिस्तान द्वारा की गई किसी भी कार्रवाई का कोई कानूनी आधार नहीं है और यह शुरू से ही अमान्य है।’ श्रीवास्तव ने कहा था, ‘हमारी स्थिति स्पष्ट व सतत है। जम्मू कश्मीर और लद्दाख केंद्र शासित प्रदेश के तहत आने वाला समस्त क्षेत्र भारत का अभिन्न अंग रहा है और है तथा आगे भी रहेगा।’



Source link

इसे भी पढ़ें

पॉल स्टर्लिंग के शतक पर भारी राशिद खान, अफगानिस्तान ने आयरलैंड को हरा जीती वनडे सीरीज

अबु धाबीपॉल स्टर्लिंग (118) के धांसू शतक पर करिश्माई स्पिनर राशिद खान (48 रन और 29/4) की घातक बोलिंग भारी पड़ गई। अफगानिस्तान...

किसान प्रदर्शन के बीच लाल किले की घटना से सनी देओल दुखी , कहा- दीप सिद्धू से कोई संबंध नहीं है

गणतंत्र दिवस परेड के बीच राजधानी दिल्‍ली में अलग-अलग जगहों पर प्रदर्शनकारी किसानों और पुलिस के बीच झड़प हो गई। भारी संख्या में...
- Advertisement -

Latest Articles

पॉल स्टर्लिंग के शतक पर भारी राशिद खान, अफगानिस्तान ने आयरलैंड को हरा जीती वनडे सीरीज

अबु धाबीपॉल स्टर्लिंग (118) के धांसू शतक पर करिश्माई स्पिनर राशिद खान (48 रन और 29/4) की घातक बोलिंग भारी पड़ गई। अफगानिस्तान...

किसान प्रदर्शन के बीच लाल किले की घटना से सनी देओल दुखी , कहा- दीप सिद्धू से कोई संबंध नहीं है

गणतंत्र दिवस परेड के बीच राजधानी दिल्‍ली में अलग-अलग जगहों पर प्रदर्शनकारी किसानों और पुलिस के बीच झड़प हो गई। भारी संख्या में...

Imran Butt Catch: पाकिस्तानी डेब्यू स्टार इमरान बट्ट का ऐसा कैच, बल्लेबाज ही नहीं दर्शक भी हैरान

कराचीपाकिस्तान क्रिकेट टीम ने पहले टेस्ट के पहले दिन मंगलवार को दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी 220 रनों पर समेट दी लेकिन जवाब...