Saturday, June 19, 2021

ड्रग्स तस्करी, हत्या और मनी लॉन्ड्रिंग… मेक्सिकन ड्रग माफिया अल चैपो की पत्नी अमेरिका में दोषी करार

- Advertisement -


मेक्सिको के खूंखार ड्रग माफिया जोआक्विन अल चैपो गुजमैन की पत्नी को आज अमेरिका में कई अपराधों के लिए दोषी करार दिया गया। एम्‍मा कोरोनेल ऐइसपुरो ने कोर्ट में स्वीकार किया कि उसने अपने पति को अरबों डॉलर के आपराधिक साम्राज्य को चलाने में मदद की। दोषी ठहराए जाने के वक्त अल चैपो की पत्नी हरे रंग की जेल की वर्दी पहनकर वॉशिंगटन के फेडरल कोर्ट में पेश हुई। कोर्ट ने अल चैपो की पत्नी को तीन फेडरल अपराधों के लिए दोषी ठहराया। इन आरोपों में जानबूझकर कई वर्षों से हेरोइन, कोकीन, मारिजुआना और मेथामफेटामाइन की अवैध बिक्री करने की साजिश शामिल है। इसके अलावा एम्मा कोरोनेल को मनी लॉन्ड्रिंग की साजिश और एक विदेशी नशीले पदार्थों के तस्कर के साथ लेनदेन में शामिल होने के लिए भी दोषी ठहराया गया।

फरवरी से जेल में बंद है अल चैपो की पत्नी

31 साल की एम्‍मा कोरोनेल ऐइसपुरो को इस साल फरवरी में वर्जीनिया के डलेस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर गिरफ्तार किया गया था। इस गिरफ्तारी के बाद से ही वह जेल में बंद है। कोर्टहाउस के बाहर कोरोनेल ऐसपुरो के वकील जेफरी लिक्टमैन ने कहा कि उसे अपने पति की आजीवन कारावास की सजा होने के बाद खुद के गिरफ्तारी की उम्मीद नहीं थी। यह निश्चित रूप से मेरे क्लाइंट के लिए परेशान करने वाला क्षण है। हम निश्चित ही इस बाधा को पार कर लेंगे। सरकारी वकील ने आरोप लगाया कि कोरोनेल एसपुरो ने सिनालोआ कार्टेल के कमांड-एंड-कंट्रोल स्ट्रक्चर के साथ मिलकर काम किया। इस महिला ने बड़ी मात्रा में ड्रग्स की तस्करी करवाने में मदद की। यह जानती थी कि इन ड्रग्स को अमेरिका लेकर जाया जा रहा है। अभियोजकों का कहना है कि मेक्सिको के सबसे शक्तिशाली ड्रग लॉर्ड के रूप में अल चैपो ने अपने 25 साल के शासनकाल के दौरान अमेरिका में कोकीन और अन्य दवाओं की तस्करी के लिए जिम्मेदार एक कार्टेल चलाया।

अमेरिका में ड्रग्स की तस्करी में अल चैपो की पत्नी का हाथ

कोर्ट में यह भी बताया गया कि एल चैपो की “सिसारियो की सेना” या “हिट मेन” उसके रास्ते में आने वाले किसी भी व्यक्ति का अपहरण, यातना और हत्या करने के आदेश का इंतजार करते रहते थे। प्रासिक्यूटर एंथनी नारदोजी ने कोर्ट से कहा कि अल चैपो की पत्नी ने अमेरिका में ड्रग्स की तस्करी के लिए सिनालोआ कार्टेल के उद्देश्यों को सहायता और प्रोत्साहन दिया। एम्मा कोरोनेल ने इस दौरान 450,000 किलोग्राम से अधिक कोकीन, 90,000 किलोग्राम हेरोइन, 45,000 किलोग्राम मेथामफेटामाइन और लगभग 90,000 किलोग्राम मारिजुआना को अमेरिका तस्करी करवाने में मदद की।

कार्टेल के सदस्यों को मैनेज करती थी अल चैपो की पत्नी

हालांकि अल चैपो के वकील ने इसका विरोध करते हुए कहा कि ड्रग्स के साम्राज्य में उसके क्लाइंट एम्‍मा कोरोनेल ऐइसपुरो की भागीदारी बहुत ही कम थी। वह इस बहुत बड़ी चीज का एक बहुत छोटा हिस्सा थी। इस साल की शुरुआत में जब अल चैपो की पत्नी की गिरफ्तारी हुई तो पूरी दुनिया हैरान रह गई। वह पिछले दो साल से अमेरिका में सार्वजनिक रूप से रह रही थी, लेकिन तब उसकी गिरफ्तारी के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया। 2019 में मुकदमे के दौरान सरकारी अभियोजकों ने कहा था कि इस महिला ने अपने पति को जेल से भागने में मदद की थी। सरकारी वकील ने कहा कि कोरोनेल ऐसपुरो ने अपने पति की गिरफ्तारी के बाद कार्टेल सदस्यों को संदेश देने के लिए बिचौलिए का काम किया। इतना ही नहीं, उसने अल चैपो के बेटों के साथ उनकी जेल से भागने की योजना और समन्वय करने की साजिश रची।

अल चैपो की पत्नी को 10 साल की हो सकती है सजा

-10-

कोर्टरूम के सूत्रों ने बताया कि एम्मा ने अपने ऊपर लगाए गए सभी अपराधों को चुपचाप सुना। उसे डर है कि अगर यह मामला नए मुकदमें तक जाता है तो सरकारी अभियोजक इन आरोपों को साबित कर सकते हैं। जब वकील ने एक अनुवादक के माध्यम से ऐम्मा से पूछा कि क्या वह सरकार द्वारा बताए गए अपराधों में शामिल रही है? इसके जवाब में एम्मा ने केवल ‘हां’ कहा। एम्मा के वकील ने उम्मीद जताई है कि जब उनके क्लाइंट को सितंबर में सजा सुनाई जाएगी तब उसे अपने अपराधों के लिए न्यूनतम 10 साल के कैद की ही सजा होगी।

2007 में की थी मेक्सिकन ड्रग किंग अल चैपो से शादी

2007-

अमेरिका की पूर्व टीनऐज ब्यूटी क्वीन एम्‍मा कोरोनेल ऐइसपुरो ने मैक्सिको के खूंखार ड्रग माफिया जोआक्विन अल चैपो गुजमैन से साल 2007 में 18 साल की होने के बाद शादी की थी। उस समय अल चैपो ने नाम की चर्चा केवल अमेरिका और मैक्सिको ही नहीं बल्कि ब्राजील, पेरू और अर्जेंटीना में भी होती थी। दोनों ने शादी के बाद कुछ ही समय साथ बिताएं। 2012 में एम्‍मा कोरोनेल ने कैलिफोर्निया के एक अस्पताल में अल चैपो को दो जुड़वा बेटियों को जन्म दिया। एम्‍मा ने इन दोनों बेटियों के बर्थ सर्टिफिकेट में पिता के नाम को छिपाए रखा, क्योंकि अमेरिका ने उस समय अल चैपो के सिर पर 36 करोड़ रुपये से ज्यादा का इनाम रखा हुआ था। एम्मा को डर था कि अगर उसने अपने पति के नाम का खुलासा किया तो उसे भी जेल में डाल दिया जाएगा और बच्चियों को किसी केयर सेंटर भेज दिया जाएगा।



Source link

इसे भी पढ़ें

एंड्रॉइड यूजर्स को एक बार फिर डराने आया Joker, इन 8 ऐप्स को तुरंत करें डिलीट नहीं तो हो जाएगा भारी नुकसान

हाइलाइट्स:Joker वायरस ने मचाया हड़कंप8 एंड्रॉइड ऐप्स प्रभाविततुरंत करें अपने फोन से डिलीटनई दिल्ली। एंड्रॉइड स्मार्टफोन्स में वायरस या मालवेयर की परेशानी काफी...

Ebrahim Raisi: ईरान के नए राष्‍ट्रपति बन सकते हैं कट्टरपंथी इब्राहिम रायसी, अमेरिका लगा चुका है बैन

तेहरानईरान में शुक्रवार को लाखों की तादाद में मतदाताओं ने राष्‍ट्रपति पद के चुनाव में हिस्‍सा लिया। इस बीच विश्‍लेषकों का कहना है...
- Advertisement -

Latest Articles

एंड्रॉइड यूजर्स को एक बार फिर डराने आया Joker, इन 8 ऐप्स को तुरंत करें डिलीट नहीं तो हो जाएगा भारी नुकसान

हाइलाइट्स:Joker वायरस ने मचाया हड़कंप8 एंड्रॉइड ऐप्स प्रभाविततुरंत करें अपने फोन से डिलीटनई दिल्ली। एंड्रॉइड स्मार्टफोन्स में वायरस या मालवेयर की परेशानी काफी...

Ebrahim Raisi: ईरान के नए राष्‍ट्रपति बन सकते हैं कट्टरपंथी इब्राहिम रायसी, अमेरिका लगा चुका है बैन

तेहरानईरान में शुक्रवार को लाखों की तादाद में मतदाताओं ने राष्‍ट्रपति पद के चुनाव में हिस्‍सा लिया। इस बीच विश्‍लेषकों का कहना है...