Friday, February 26, 2021

बांग्‍लादेश के भाषा आंदोलन का इतिहास पाकिस्तान की खुफिया रिपोर्टों में दर्ज है: शेख हसीना

- Advertisement -


ढाका
बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा है कि कोई भी व्यक्ति 1948 से 1971 तक की पाकिस्तान की खुफिया ब्रांच की रिपोर्टों को पढ़कर देश के भाषा आंदोलन का असल इतिहास आसानी से जान सकता है। रविवार को हसीना ने कहा, ‘हम 21 फरवरी, 1952 को बंगाली भाषा के लिए अपना बलिदान देने वाले शहीदों को याद करते हैं और इसे शहीद दिवस के तौर पर मनाते हैं।’

शेख हसीना ने कहा कि देश को स्वतंत्रता, भाषा आंदोलन के जरिए मिली थी और इसका नेतृत्व राष्ट्रपिता बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान ने किया था। यहां तक कि जब उन्होंने यह आंदोलन शुरू किया था तो जानकार और बुद्धिजीवियों ने इसका विरोध किया था। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि कई लोगों ने उनकी यह कहने पर आलोचना भी की है कि पाकिस्तान की खुफिया ब्रांच की रिपोर्ट के आधार पर भाषा आंदोलन की शुरूआत बंगबंधू ने की थी।

मातृभाषा की शिक्षा की अहमियत बताते हुए हसीना ने कहा, ‘भाषा किसी भी राष्ट्र के लिए बहुत अहम होती है लेकिन दुर्भाग्य से कई भाषाएं धीरे-धीरे लुप्त होती जा रही हैं। दुनिया भर की इन भाषाओं की विविधता को संरक्षित करने, उनका इस्तेमाल करने और उन्हें विकसित करने की बहुत ज्यादा जरूरत है।’ प्रधानमंत्री ने शहीद दिवस और अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस के मौके पर 4 दिवसीय कार्यक्रम का उद्घाटन अपने अधिकारिक निवास गोनो भवन से वर्चुअल तौर पर किया। इस कार्यक्रम का आयोजन इंटरनेशनल मदर लैंग्वेज इंस्टीट्यूट (आईएमएलआई) में हुआ था। इस मौके पर हसीना ने अपनी सरकार द्वारा मातृभाषा को बढ़ावा देने वाली तमाम योजनाओं के बारे में भी बताया।



Source link

इसे भी पढ़ें

किसान आंदोलन पर भारत ने UNHRC को इशारों में सुनाया, कहा- आपके बयान में निष्पक्षता की कमी

हाइलाइट्स:भारत ने यूएनएचआरसी प्रमुख के किसान आंदोलन पर की गई टिप्पणियों की आलोचना कीभारतीय प्रतिनिधि ने कहा- हाई कमिश्नर ने बयानों में निष्पक्षता...

Vijay Hazare Trophy 2021 : क्रुणाल पंड्या के नाबाद शतक से बड़ौदा ने छत्तीसगढ़ को हराया, यूपी ने रेलवे को रौंदा

सूरत/अलुरकप्तान क्रुणाल पांड्या (नाबाद 133) के शानदार शतक से बड़ौदा ने सूरत में शुक्रवार को खेले गए विजय हजारे ट्रोफी (Vijay Hazare Trophy...

मणिपुर: घुटने पर बैठे बच्चों ने किया मुख्यमंत्री का स्वागत! लोगों ने पूछा- मुगल बादशाह हैं क्या?

मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह एक तस्वीर को लेकर विवादों में घिर गए हैं। मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने गुरुवार को अपने...
- Advertisement -

Latest Articles

किसान आंदोलन पर भारत ने UNHRC को इशारों में सुनाया, कहा- आपके बयान में निष्पक्षता की कमी

हाइलाइट्स:भारत ने यूएनएचआरसी प्रमुख के किसान आंदोलन पर की गई टिप्पणियों की आलोचना कीभारतीय प्रतिनिधि ने कहा- हाई कमिश्नर ने बयानों में निष्पक्षता...

Vijay Hazare Trophy 2021 : क्रुणाल पंड्या के नाबाद शतक से बड़ौदा ने छत्तीसगढ़ को हराया, यूपी ने रेलवे को रौंदा

सूरत/अलुरकप्तान क्रुणाल पांड्या (नाबाद 133) के शानदार शतक से बड़ौदा ने सूरत में शुक्रवार को खेले गए विजय हजारे ट्रोफी (Vijay Hazare Trophy...

मणिपुर: घुटने पर बैठे बच्चों ने किया मुख्यमंत्री का स्वागत! लोगों ने पूछा- मुगल बादशाह हैं क्या?

मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह एक तस्वीर को लेकर विवादों में घिर गए हैं। मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने गुरुवार को अपने...

West Bengal Elections: बंगाल फतह करने को बीजेपी की तैयारी, मैदान में उतारेगी सीनियर नेताओं की फौज

हाइलाइट्स: पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में चुनाव का बीजेपी ने किया स्वागतसोनार बांग्ला के नारे के साथ मैदान में उतरेगी पार्टीबीजेपी ने...