Tuesday, December 1, 2020

ब्रह्मांड में पृथ्वी से भी बेहतर ग्रह मौजूद हैं

- Advertisement -


लेखकः मुकुल व्यास
जीवन की दृष्टि से पृथ्वी को सबसे अच्छा ग्रह माना जाता है, पर खगोल वैज्ञानिकों का कहना है कि ब्रह्मांड में ऐसे कई ग्रह मौजूद हैं जहां परिस्थितियां पृथ्वी की तुलना में जीवन के लिए ज्यादा अनुकूल हैं। उन्होंने हमारे सौरमंडल से बाहर ऐसे करीब 24 ग्रहों की पहचान की है। इनमें से कुछ ग्रह ऐसे तारों की परिक्रमा कर रहे हैं जो हमारे सूरज से बेहतर हैं। वॉशिंगटन स्टेट यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक डक शुल्ज-मेकच के नेतृत्व में इन ग्रहों के बारे में अध्ययन किया गया है जिसका ब्यौरा ‘एस्ट्रो बायॉलजी’ पत्रिका में प्रकाशित हुआ है। इसमें जीवन अनुकूल ग्रहों की विशेषताओं के बारे में बताया गया है। ये ग्रह पृथ्वी से ज्यादा पुराने और आकार में बड़े हैं। ये पृथ्वी से कुछ ज्यादा गर्म हैं और यहां पानी भी कुछ ज्यादा मात्रा में है।

वैज्ञानिकों का कहना है कि उन ग्रहों पर जीवन के पनपने की संभावना अधिक होती है जो ऐसे तारों की परिक्रमा करते हैं जिनका जीवन काल हमारे सूरज से अधिक है और जिनमें परिवर्तन धीमी गति से होते हैं। खगोल वैज्ञानिकों ने पृथ्वी से उत्तम जिन 24 आवास योग्य ग्रहों की पहचान की है वे करीब 100 प्रकाश वर्ष दूर हैं। शुल्ज-मेकच ने कहा कि उनके इस अध्ययन से बाहरी ग्रहों के पर्यवेक्षण के लिए भावी मिशनों पर ध्यान केंद्रित करने में मदद मिलेगी। इनमें नासा का जेम्स वेब स्पेस टेलिस्कोप और यूरोपियन स्पेस एजेंसी का प्लाटो स्पेस टेलिस्कोप शामिल है। शुल्ज-मेकच ने कहा कि नई अंतरिक्ष दूरबीनों की तैनाती के बाद हमें नई-नई जानकारियां मिलेंगी। अतः हमें ऐसे ग्रहों पर ध्यान केंद्रित करना होगा जहां की परिस्थितियां जीवन के जटिल रूपों के लिए ज्यादा अनुकूल दिखाई देती हैं।

शुल्ज-मेकच और उनके सहयोगियों ने उत्तम आवास योग्यता वाले ग्रहों की विशेषताओं की पहचान करने के लिए 4500 बाहरी ग्रहों के आंकड़ों का अध्ययन किया। आवास योग्यता का मतलब जीवन की मौजूदगी नहीं है। इसका अभिप्राय उन परिस्थितियों से है जो जीवन के लिए अनुकूल हैं। उन्होंने बाहरी ग्रहों के रिकॉर्ड से ऐसे ग्रहों को चुना जो अपने तारों से आवास योग्य दूरी पर स्थित हैं। हालांकि सूर्य हमारे सौरमंडल का मुख्य केंद्र है, उसका जीवनकाल करीब दस अरब वर्ष है जो तुलनात्मक दृष्टि से कुछ कम है। हमारी पृथ्वी पर जीवन के जटिल रूपों के प्रकट होने में चार अरब वर्ष लग गए थे। ब्रह्मांड में सूरज जैसे कई तारों का ईंधन उनके ग्रहों पर जटिल जीवन के प्रकट होने से पहले ही खत्म हो सकता है। इस तरह के तारे जी-टाइप में आते हैं। रिसर्चरों ने जी-टाइप के तारों वाले सौरमंडलों पर गौर करने के साथ-साथ के-टाइप के तारों वाले सिस्टमों का भी अध्ययन किया। के-टाइप के तारे हमारे सूरज से अपेक्षाकृत ठंडे हैं, उनका द्रव्यमान कम है। वे कम चमकीले हैं। इसके अलावा उनका जीवन काल 20 अरब से लेकर 70 अरब वर्ष के बीच होता है। इससे उनके ग्रहों पर जटिल जीवन के विकसित होने के लिए पर्याप्त समय मिल सकता है। बहरहाल आवास योग्य होने के साथ ग्रह इतने ज्यादा उम्रदराज भी नहीं हो जाएं कि उनकी भू-तापीय ऊर्जा ही समाप्त हो जाए और वे सुरक्षात्मक भू-चुंबकीय क्षेत्रों से वंचित हो जाएं। हमारी पृथ्वी की आयु 4.5 अरब वर्ष है लेकिन रिसर्चरों का कहना है कि किसी ग्रह पर जीवन के विकसित होने के लिए उत्तम समय 5 अरब से लेकर 8 अरब वर्ष है।

आकार और द्रव्यमान से भी बड़ा फर्क पड़ता है। जो ग्रह पृथ्वी से 10 प्रतिशत बड़ा है उसके पास आवास योग्य जमीन भी अधिक होगी। जिसका द्रव्यमान पृथ्वी से 1.5 गुणा अधिक है उसमें रेडियोएक्टिव क्षय के जरिए आंतरिक उष्मा लंबे समय तक रहेगी। उसके पास अधिक सुदृढ़ गुरुत्वाकर्षण होगा। शक्तिशाली गुरुत्वाकर्षण की वजह से वह अपने वायुमंडल को लंबे समय तक बनाए रख सकता है। पानी जीवन के लिए अनिवार्य है और नए अध्ययन के लेखकों का तर्क है कि नमी और बादलों के रूप में अधिक पानी ज्यादा फायदेमंद होगा। ग्रह की सतह का तापमान पृथ्वी से 5 सेल्सियस अधिक है तो उसका भी बड़ा फायदा है। अतिरिक्त नमी के साथ यह बढ़ा हुआ तापमान जीवन के लिए बेहतर होगा।

डिसक्लेमर : ऊपर व्यक्त विचार लेखक के अपने हैं





Source link

इसे भी पढ़ें

Coronavirus Crisis: श्रीलंका में कैदियों और जेल अधिकारियों के बीच झड़प में 8 की मौत, 50 के करीब घायल

हाइलाइट्स:कोलंबो से करीब 15 किमी दूर स्थित महारा जेल में कैदियों और जेल अधिकारियों में झड़प8 कैदियों की मौत, करीब 50 अन्य के...

डिक्शनरी डॉट कॉम ने ‘पेंडेमिक’ वर्ड को साल 2020 का शब्द घोषित किया

न्यूयॉर्कदुनिया में कोविड-19 के कहर के बीच डिक्शनरी डॉट कॉम ने सोमवार को 'पेंडेमिक' (Pandemic) शब्द को वर्ष 2020 का शब्द घोषित किया।...
- Advertisement -

Latest Articles

Coronavirus Crisis: श्रीलंका में कैदियों और जेल अधिकारियों के बीच झड़प में 8 की मौत, 50 के करीब घायल

हाइलाइट्स:कोलंबो से करीब 15 किमी दूर स्थित महारा जेल में कैदियों और जेल अधिकारियों में झड़प8 कैदियों की मौत, करीब 50 अन्य के...

डिक्शनरी डॉट कॉम ने ‘पेंडेमिक’ वर्ड को साल 2020 का शब्द घोषित किया

न्यूयॉर्कदुनिया में कोविड-19 के कहर के बीच डिक्शनरी डॉट कॉम ने सोमवार को 'पेंडेमिक' (Pandemic) शब्द को वर्ष 2020 का शब्द घोषित किया।...

SCO की बैठक में पाकिस्तान का दिखावा, आतंकवाद की सार्वजनिक निंदा की

इस्लामाबादपाकिस्तान ने भारत की मेजबानी में सोमवार को आयोजित शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) डिजिटल बैठक के दौरान आतंकवाद के सभी रूपों की निंदा...

पुलिस ने माराडोना के निजी डॉक्टर के घर और क्लीनिक की तलाशी ली

ब्यूनस आयर्सअर्जेंटीना पुलिस ने फुटबॉल स्टार डिएगो माराडोना के निधन की जांच में उनके निजी डॉक्टर के घर और क्लीनिक की तलाशी ली।...