Wednesday, April 14, 2021

भारत के साथ तनाव खत्‍म करने को तड़प रहे पाकिस्‍तानी सेना प्रमुख बाजवा, जल्‍द मिल सकते हैं पीएम मोदी और इमरान खान: र‍िपोर्ट

- Advertisement -


इस्‍लामाबाद
भारत और पाकिस्‍तान के बीच रिश्‍तों में जमी बर्फ अब पिघलने लगी है और जल्‍द ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्‍तानी पीएम इमरान खान मुलाकात कर सकते हैं। पाकिस्‍तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने भारत के साथ बातचीत शुरू की है ताकि दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों के बीच मुलाकात का रास्‍ता साफ हो सके। ब्रिट‍िश अखबार फाइनेंशिअल टाइम्‍स ने इस पूरी बातचीत से सीधे तौर पर जुड़े तीन सूत्रों के हवाले से यह बड़ा दावा किया है।

अखबार ने कहा कि भारत और पाकिस्‍तान के बीच इस शांति बातचीत में संयुक्‍त अरब अमीरात मदद कर रहा है। सूत्रों ने कहा कि जनरल बाजवा ने भारत के राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल से कहा है कि वह कश्‍मीर में लड़ाई रोकने का ऐलान करें। अखबार ने कहा कि यह बातचीत ऐसे समय पर हो रही है जब दोनों ही देशों को कोरोना वायरस के खतरे के बीच अपने देश की अर्थव्‍यवस्‍था को फिर से मजबूत करना है।

‘दोनों देशों के प्रधानमंत्री अगले 12 महीने में मुलाकात कर सकते हैं’
अखबार ने कहा कि भारत और पाकिस्‍तान के बीच यह बातचीत कथित रूप से यूएई के शासक मोहम्‍मद बिन जायद अल नहयान की ओर से कराई जा रही है। इनके प्रयास के बाद 25 फरवरी को दोनों देशों के बीच सीजफायर को कारगर तरीके से लागू करने पर सहमति हुई है। अगले कदम के तहत बॉर्डर पर व्‍यापार और कोरोना से बचाव के लिए साथ काम कर सकते हैं। अगर यह सबकुछ सफल रहा तो दोनों देशों के प्रधानमंत्री अगले 12 महीने में मुलाकात कर सकते हैं।

पर्दे के पीछे से चल रही इस बातचीत से जुड़े एक सूत्र ने कहा, ‘मोदी और प्रधानमंत्री इमरान खान के बीच मुलाकात की तैयारी के लिए वरिष्‍ठ स्‍तर पर बातचीत चल रही है। अखबार ने कहा कि भारत के जम्‍मू-कश्‍मीर का विशेष राज्‍य का दर्जा खत्‍म करने के बाद से ही जनरल बाजवा भारत के साथ शांति पर जोर दे रहे हैं। पिछले सप्‍ताह पाकिस्‍तान ने भारत से चीन और कपास के आयात का ऐलान किया था लेकिन घरेलू दबाव के आगे झुक गया और इस फैसले को पलट दिया था।

बाजवा बेहद खर्चीले सैन्‍य तनाव को खत्‍म करने के लिए तड़प रहे

पाकिस्‍ता ने ऐलान किया था कि भारत के साथ बातचीत तभी हो सकती है जब भारत कश्‍मीर में ‘यथास्थिति’ को बहाल करेगा। इस बीच पाकिस्‍तानी सेना के प्रवक्‍ता ने कहा है कि जनरल बाजवा के शांति वार्ता कराने की खबर झूठ का पुलिंदा है। इस बीच एक भारतीय अधिकारी ने कहा है कि बातचीत जारी है और इमरान खान सरकार का यह बयान अपने यहां मौजूद कट्टरपंथियों को खुश करने के लिए है। विश्‍लेषकों का कहना है कि जनरल बाजवा भारत के साथ जारी बेहद खर्चीले सैन्‍य तनाव को खत्‍म करने के लिए तड़प रहे हैं। साथ ही वह अमेरिका के साथ अपने रिश्‍तों को भी सुधारना चाहते हैं।

कहा यह भी जा रहा है कि जम्‍मू-कश्‍मीर में घुसपैठ की गतिविधियां अब बहुत कम हो गई हैं। पाकिस्‍तान के अमेरिका में पूर्व राजदूत हुसैन हक्‍कानी ने कहा, ‘पाकिस्‍तान विश्‍वसनीयता के संकट से जूझ रहा है और उसे आगे बढ़ने के लिए इसका समाधान करना होगा।’ दरअसल, पाकिस्‍तान कर्ज के बोझ तले लगातार दबा जा रहा है और इमरान सरकार अपने वादों को पूरा नहीं कर पा रही है। इसी दबाव में अब उसे भारत के साथ शांति वार्ता को बहाल करना पड़ रहा है।



Source link

इसे भी पढ़ें

Xiaomi Mi 11 को मिला MIUI 12.5 अपडेट, जुड़े कई शानदार फीचर

हाइलाइट्स:शाओमी मी 11 को मिला MIUI 12.5 अपडेटनए फीचर्स के साथ कई ऑप्टिमाइजेशन भीदिया जा रहा मार्च 2021 का सिक्यॉरिटी पैचनई दिल्लीXiaomi Mi...
- Advertisement -

Latest Articles

Xiaomi Mi 11 को मिला MIUI 12.5 अपडेट, जुड़े कई शानदार फीचर

हाइलाइट्स:शाओमी मी 11 को मिला MIUI 12.5 अपडेटनए फीचर्स के साथ कई ऑप्टिमाइजेशन भीदिया जा रहा मार्च 2021 का सिक्यॉरिटी पैचनई दिल्लीXiaomi Mi...

Covid-19 By Touching Surface: बेवजह पोछा मत लगाइए, सतह को छूने से कोरोना संक्रमित होने का अबतक नहीं मिला कोई सबूत

हाइलाइट्स:सतह को छूने से नहीं फैलता है कोरोना का संक्रमण, अमेरिकी सीडीसी ने बतायाविशेषज्ञ बोले- सतह से नहीं, बल्कि हवा के जरिए फैलता...