Wednesday, April 14, 2021

यूक्रेन को लेकर यूरोप में मंडराया जंग का खतरा, रूसी युद्धपोतों का जवाब देंगे अमेरिकी जंगी जहाज

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • यूक्रेन की पूर्वी सीमा पर रूस के टैंक तैनात करने के बाद यूरोप में जंग का खतरा मंडराने लगा है
  • इस बीच रूसी चुनौती का करारा जवाब देने के लिए अब अमेरिका भी कमर कस चुका है
  • यूक्रेन के साथ समर्थन दिखाने के लिए अमेरिका अपने युद्धपोत काला सागर में तैनात करने जा रहा है

वॉशिंगटन
यूक्रेन की पूर्वी सीमा पर रूस के बड़े पैमाने पर टैंक और युद्धपोत तैनात करने के बाद अब यूरोप में जंग का खतरा मंडराने लगा है। इस बीच रूसी चुनौती का जवाब देने के लिए अब अमेरिका भी कमर कस चुका है। बताया जा रहा है कि यूक्रेन के साथ पूरा समर्थन दिखाने के लिए अमेरिका अगले कुछ सप्‍ताह में अपने युद्धपोत काला सागर में तैनात करने पर विचार कर रहा है।

सीएनएन ने अमेरिकी अधिकारियों के हवाले से कहा कि अमेरिकी नौसेना समय-समय पर काला सागर में गश्‍त लगाती रहती है लेकिन युद्धपोतों की वहां पर तैनाती से बाइडेन रूसी राष्‍ट्रपति पुतिन को सीधा संदेश देंगे। बाइडेन यह जताने का प्रयास करेंगे कि अमेरिका सीधी नजर इस पूरे मामले पर है। काला सागर में घुसने के लिए अमेरिकी नौसेना को 14 दिन पहले नोटिस देना होगा।
यूक्रेन की तरफ बढ़ते रूसी सेना के टैंकों का वीडियो देख सहमी दुनिया, युद्ध का खतरा मंडराया
US नौसेना काला सागर पर लगातार निगरानी उड़ान भर रही
साल 1936 में हुई एक संधि के मुताबिक काला सागर में घुसने के समुद्री रास्‍ते पर तुर्की का नियंत्रण है। यह अभी तक स्‍पष्‍ट नहीं है कि अमेरिकी नौसेना ने तुर्की को नोटिस दिया है या नहीं। अमेरिकी रक्षा अधिकारियों ने कहा है कि नौसेना काला सागर में अंतरराष्‍ट्रीय इलाके पर लगातार निगरानी उड़ान भर रही है ताकि रूसी नौसैनिक गतिविधियों और क्रीमिया में सेना की किसी गतिविधि पर नजर रखी जा सके।

इससे पहले बुधवार को अमेरिकी नौसेना के दो बॉम्‍बर ने एइगेआन समुद्र के ऊपर से उड़ान भरी थी। हालांकि अमेरिका अभी भी रूसी हथियारों की तैनाती को अभी भी आक्रामक नहीं मानता है। रक्षा अधिकारी ने कहा, ‘अगर कुछ बदलता है तो हम जवाबी कार्रवाई के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।’ बता दें कि रूसी सेना की बख्तरबंद गाड़ियों, टैंकों और भारी संख्या में सैन्य साजो सामान से लगी गाड़ियों के यूक्रेन की सीमा की ओर बढ़ते वीडियो को देख पूरी दुनिया सहमी हुई है।
फ्रांसीसी राफेल और मिराज 2000 लड़ाकू विमानों ने दागीं परमाणु मिसाइलें, क्या जंग की ओर बढ़ रहा यूरोप?
अमेरिका से सैन्य हथियारों से लदा एक कार्गो शिप यूक्रेन पहुंचा
इस बार यह तादाद इतनी ज्यादा है कि फसलों की कटाई का मौसम होने के बावजूद किसानों के ट्रैक्टर और अन्य कृषि उपकरणों को ढोने वाली ट्रेनों को भी मिलिट्री ने अपने काम में लगाया गया है। रूस के सैन्य साजो सामान को ले जाने वाली ट्रेनों और ट्रकों के कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। हाल में ही अमेरिका से सैन्य हथियारों से लदा एक कार्गो शिप यूक्रेन पहुंचा था। जिसमें कई तरह की गाड़ियां और अन्य साजोसामान भरे हुए थे। रूस पहले से भी यूक्रेन और अमेरिका में बढ़ती हुई नजदीकी से चिढ़ा हुआ है।



Source link

इसे भी पढ़ें

प्रियंका चोपड़ा फ्लाइट में हो गई थीं ‘टल्ली’, अटेंडेंट ने शेयर किया मजेदार किस्सा

प्रियंका चोपड़ा हमेशा किसी न किसी कारण चर्चा में बनी रहती हैं। अब एक फ्लाइट अटेंडेंट ने एक पुराना किस्सा शेयर किया है...
- Advertisement -

Latest Articles

Hero Destini को अब स्मार्टफोन से कनेक्ट कर सकेंगे ग्राहक, शामिल हुआ Hero Connect फीचर

नई दिल्ली।हीरो मोटोकॉर्प (Hero MotoCorp) ने अपने Hero Destini में Hero Connect फीचर शामिल कर दिया है। ऐसे में जो ग्राहक इस सर्विस...

प्रियंका चोपड़ा फ्लाइट में हो गई थीं ‘टल्ली’, अटेंडेंट ने शेयर किया मजेदार किस्सा

प्रियंका चोपड़ा हमेशा किसी न किसी कारण चर्चा में बनी रहती हैं। अब एक फ्लाइट अटेंडेंट ने एक पुराना किस्सा शेयर किया है...

S-400 Missile System India: भारत को नवंबर से शुरू होगी S-400 मिसाइल सिस्टम की डिलिवरी, अमेरिकी प्रतिबंधों का असर नहीं

हाइलाइट्स:भारत को इस साल नवंबर से मिलने लगेगा रूसी एस-400 मिसाइल सिस्टमरूस के साथ हथियारों की डील पर अमेरिकी प्रतिबंधों की चेतावनी का...