Tuesday, March 9, 2021

2017 से चीन ने CPEC की फंडिंग बंद की, इमरान खान सरकार ने पाकिस्तानी संसद में कबूला सच

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • चीन ने 2017 के बाद से सीपीईसी के अंतर्गत बनने वाली किसी भी इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजक्ट की फंडिंग नहीं की
  • सीपीईसी पर बनी पाकिस्तानी संसद की समिति ने इमरान खान सरकार को लगाई लताड़
  • समिति ने ग्वादर में की जा रही तारबंदी पर भी पाकिस्तान सरकार को खूब सुनाई खरी-खोटी

इस्लामाबाद
ग्वादर के रास्ते भारत को घेरने का ख्वाब पाल रहे पाकिस्तान को चीन ने तगड़ा झटका दिया है। पाकिस्तान ने संसद में स्वीकार किया है कि चीन ने बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव के अंतर्गत बनने वाले चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) की फंडिंग को साल 2017 से ही बंद किया हुआ है। सीपीईसी पर बनी सीनेट की विशेष समिति को इमरान खान सरकार ने बताया है कि चीन के सीपीईसी की फंडिंग बंद करने के कारण कई इंफ्रास्ट्रक्टर के प्रोजक्ट लटके पड़े हुए हैं। ग्वादर में स्मार्ट सिटी प्रोजक्ट को लेकर भी इस कमेटी ने सरकार को खूब कोसा।

सीपीईसी के नाम पर हुई बस कागजी कार्रवाई
सीनेटर डॉ सिकंदर मंदरू की अध्यक्षता में कमेटी की इस बैठक में सरकार ने बताया कि CPEC परियोजना में पैसे की कमी के कारण खुजदार-बसिमा परियोजना सहित कई प्रोजक्ट में हम अपनी संघीय विकास निधि के पैसे का प्रयोग कर रहे हैं। समिति के सदस्य सीनेटर कबीर अहमद शाही ने कहा कि CPEC पर केवल कागजी कार्रवाई की गई है। मैं पिछले चार सालों से कह रहा हूं कि हम ईरान से बिजली खरीद रहे हैं , इसलिए हमें अपनी खुद की 300 मेगावॉट की परियोजना शुरू करनी चाहिए।

पाकिस्तानी सीनेटर ने ग्वादर पोर्ट को बताया शर्मनाक
पाकिस्तानी सीनेटर कबीर अहमद शाही ने इस परियोजना पर तंज कसते हुए कहा कि इसकी शुरूआत ऐसे की गई जैसे किसी एक टेंट के बाहर किसी चौकीदार को बैठा दिया गया हो। न्यू ग्वादर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चारों तरफ की गई तारबंदी तो शर्मनाक है। दरअसल इस एयरपोर्ट का काम अबतक शुरू नहीं हो सका है। उन्होंने कहा कि हमे सब्र रखना होगा, हो सकता है कुछ दिनों में यह सब ठीक हो जाए।

ग्वादर परियोजना पर कमेटी ने लगाई लताड़
योजना मंत्रालय के अधिकारियों ने समिति को बताया कि ग्वादर स्मार्ट पोर्ट सिटी मास्टर प्लान को 4 मिलियन डॉलर के अनुदान के साथ पूरा किया जाना था। इस मास्टर प्लान में 359 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र को कवर किया गया था। इसपर सीनेट कमेटी के अध्यक्ष ने नाराजगी जताते हुए पूछा कि मास्टर प्लान कब लागू होगा? मास्टर प्लान में परियोजनाएं अभी तक शुरू नहीं हुई हैं। ग्वादर के स्थानीय लोगों ने कंटीले तारों की घेराबंदी का विरोध किया है। सीनेटर शाही ने कहा कि ग्वादर में कंटीले तारों को मानव अधिकारों का उल्लंघन है।

चीन को पाकिस्तान के कंगाल होने का डर
रिपोर्ट के अनुसार, चीन ने अपनी फंडिंग को काफी सोच समझकर बंद करने का फैसला किया है। चीन ने सीपीईसी में पाकिस्तान की तरफ से कई स्ट्रक्चरल कमजोरियां पाई हैं। इसके अलावा पाकिस्तान में मौजूद अपारदर्शिता और भ्रष्टाचार ने चीन की चिंता को और बढ़ा दिया है। हाल में ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने जी-20 के देशों से कर्ज में रियायत की अपील की थी। इस कारण चीन को अपनी रकम डूबने का डर सताने लगा है।

चीन के गले की फांस बना पाकिस्तान में CPEC प्रोजक्ट, फंसे अरबों डॉलर
7 साल में 122 में से केवल 32 परियोजनाएं ही हुईं पूरी
सात सात पहले 2013 में घोषित हुई चीन पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर की 122 परियोजनाओं में से अभी तक केवल 32 को ही पूरा किया जा सका है। कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि चीन के वैश्विक ऋण देने की रणनीति में बदलाव और पाकिस्तान में विशाल बुनियादी ढांचे को बनाने की पहल से पीछे हटने का प्रमुख कारण अमेरिका के साथ जारी व्यापार युद्ध भी है।

चीन के गले की फांस बना इमरान का ‘कंगाल’ पाकिस्तान, BRI की फंडिंग रोकेगा ड्रैगन!
भ्रष्टाचार बना चीन-पाक के गले की फांस
सीपीईसी में जारी भ्रष्टाचार पाकिस्तान और चीन दोनों के लिए मुसीबत बना हुआ है। पाकिस्तान की एक खोजी वेबसाइट फैक्‍ट फोकस ने रिपोर्ट जारी करते हुए बताया था कि 60 अरब डॉलर के सीपीईसी प्रोजक्ट के चेयरमैन पाक सेना के पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल असीम सलीम बाजवा ने भ्रष्टाचार से 40 मिलियन डॉलर से ज्यादा की संपत्ति बना ली है। वहीं, सीपीईसी के जरिए चीन की कई बिजली कंपनियों ने पाकिस्तान को जमकर चूना लगाया है। कंपनियों ने गुपचुप तरीके से बिजली के दाम बढ़ा दिए और पूरी कमाई को अपने पास रख लिया।



Source link

इसे भी पढ़ें

इमरान खान की बेइज्जती का गाना सोशल मीडिया पर वायरल, महंगाई से परेशान पाकिस्तानियों की क्रिएटिविटी देखें

हाइलाइट्स:पाकिस्तान में इमरान खान के 'घबराना नहीं' तकिया कलाम पर बना गाना खूब हो रहा वायरलपाकिस्तान में बढ़ती महंगाई से अवाम हलकान, खाने...

रणबीर कपूर के बाद आलिया भट्ट ने भी करवाया COVID-19 टेस्ट, रिपोर्ट नेगेटिव लेकिन खुद को रखा है आइसोलेट

'गंगूबाई काठियावाड़ी' डायरेक्टर संजय लीला भंसाली और रणबीर कपूर के कोरोना संक्रमित होने के बाद आलिया भट्ट ने भी COVID-19 का टेस्ट करवाया।...
- Advertisement -

Latest Articles

इमरान खान की बेइज्जती का गाना सोशल मीडिया पर वायरल, महंगाई से परेशान पाकिस्तानियों की क्रिएटिविटी देखें

हाइलाइट्स:पाकिस्तान में इमरान खान के 'घबराना नहीं' तकिया कलाम पर बना गाना खूब हो रहा वायरलपाकिस्तान में बढ़ती महंगाई से अवाम हलकान, खाने...

रणबीर कपूर के बाद आलिया भट्ट ने भी करवाया COVID-19 टेस्ट, रिपोर्ट नेगेटिव लेकिन खुद को रखा है आइसोलेट

'गंगूबाई काठियावाड़ी' डायरेक्टर संजय लीला भंसाली और रणबीर कपूर के कोरोना संक्रमित होने के बाद आलिया भट्ट ने भी COVID-19 का टेस्ट करवाया।...

92 साल के डायरेक्टर: निफ्टी-50 कंपनियों में उम्रदराज इंडिपेंडेंट डायरेक्टर्स, केवल 5% की उम्र 50 साल से कम

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐपमुंबई7 मिनट पहलेकॉपी लिंकसेबी के पूर्व चेयरमैन एम. दामोदरन कहते...