Monday, January 25, 2021

67 साल बाद अमेरिका में किसी महिला कैदी को दी गई मौत, जुर्म जानकर रह जाएंगे दंग

- Advertisement -


वॉशिंगटन
अमेरिका में इंसानियत को शर्मसार करने वाले अपराध की दोषी महिला कैदी को मत्युदंड दे दिया गया है। अमेरिका के इतिहास में 67 साल बाद यह पहला मौका है जब किसी महिला कैदी को मौत की सजा दी गई है। इस महिला को जो बाइडन के राष्ट्रपति बनने के आठ दिन पहले ही मृत्युदंड दिया गया है। बता दें कि बाइडन शुरू से ही मौत की सजा के खिलाफ रहे हैं।

जहर का इंजेक्शन लगाकर दी गई मौत की सजा
52 साल की लीसा मोंटगोमेरी को इंडियाना प्रांत के टेरे हौटे के संघीय जेल परिसर में जहरीला इंजेक्शन लगाए जाने के बाद रात 1:31 बजे मृत घोषत कर दिया गया। मौत की सजा पर तामील होने की प्रक्रिया के दौरान मोंटगोमेरी के के पास खड़ी महिला ने झुक कर उसके चेहरे से मास्क हटाया और पूछा कि क्या उसे अंतिम बार कुछ कहना है। इस पर दोषी महिला ने कहा, ‘नहीं।’ जिसके बाद उस महिला को जहर वाला इंजेक्शन लगा दिया गया। महिला के वकील केली हेनरे ने कहा कि लीसा को मौत की सजा देने की प्रक्रिया में शामिल लोगों को शर्म आनी चाहिए।

कोर्ट ने सुनाई थी मौत की सजा
अमेरिकी राज्य कैंसास की रहने वाली लीजा मोंटगोमेरी महिला ने एक गर्भवती महिला की हत्या कर उसके गर्भ से बच्ची को निकालकर फरार हो गई थी। पकड़े जाने के बाद लंबी चली सुनवाई के बाद कोर्ट ने उसे दोषी करार दिया था। कोर्ट ने महिला के अपराध को जघन्य बताते हुए मौत की सजा सुनाई थी। इस महिला को मोंटगोमेरी को इंडियाना के तेर्रे हाउते में एक केन्द्रीय कारागार में मृत्युदंड दिया गया।

यह था पूरा मामला
यह मामला 16 साल पुराना है। 16 दिसंबर 2004 को मोंटगोमेरी एक कुत्ते को गोद लेने के लिये कैनसास के मेलवर्न में स्थित अपने घर से लगभग 170 किलोमीटर दूर उत्तर-पश्चिमी मिसूर कस्बे के स्किडमोर में 23 वर्षीय कुत्ता विक्रेता बॉबी जो स्टिनेट के घर गई। जहां उसने रस्सी से गला दबाकर कुत्ता विक्रेता जो स्टिनेट की हत्या कर दी।

पहले गला घोंटा, फिर पेट चीरकर चुराया बच्चा, 16 साल बाद महिला कैदी को ‘मौत’ देगा अमेरिका
अब 16 साल की हो चुकी है पेट चीरकर चुराई गई बच्ची
इस महिला के अंदर हैवानियत का इतना भूत सवार था कि इसने मर चुकी स्टिनेट का पेट चीरकर उससे बच्ची को निकाला और वहां फरार हो गई। पुलिस ने अगले दिन उसे गिरफ्तार कर नवजात बच्ची को छुड़ा लिया गया। उस बच्ची का नाम विक्टोरिया जो है, जो अब 16 साल की हो चुकी है।



Source link

इसे भी पढ़ें

बीजेपी सांंसद विनय सहस्त्रबुद्धे बोले- स्कूली किताबों में आर्यन आक्रमण की जगह पढ़ाई जाए सरस्वती सभ्यता

नई दिल्लीबीजेपी सांसद और संसद में मिनिस्ट्री ऑफ एजुकेशन कमिटी के चेयरमैन विनय सहस्त्रबुद्धे ने भारतीय स्कूलों के किताबों में बदलाव की बात...
- Advertisement -

Latest Articles

बीजेपी सांंसद विनय सहस्त्रबुद्धे बोले- स्कूली किताबों में आर्यन आक्रमण की जगह पढ़ाई जाए सरस्वती सभ्यता

नई दिल्लीबीजेपी सांसद और संसद में मिनिस्ट्री ऑफ एजुकेशन कमिटी के चेयरमैन विनय सहस्त्रबुद्धे ने भारतीय स्कूलों के किताबों में बदलाव की बात...

रहमत के शतक के दम पर अफगानिस्तान ने आयरलैंड को हराया, वनडे सीरीज पर किया कब्जा

अबु धाबीअफगानिस्तान ने रविवार को शेख जायेद स्टेडियम में खेले गए दूसरे वनडे मुकाबले में आयरलैंड को सात विकेट से हराकर तीन मैचों...