Wednesday, January 20, 2021

9 दिन का बचा कार्यकाल ट्रंप को पड़ेगा भारी? दूसरी बार महाभियोग प्रस्ताव लाने जा रहा विपक्ष

- Advertisement -


वॉशिंगटन
डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति पद के कार्यकाल में अब केवल 9 दिन ही बाकी हैं। 20 जनवरी को जो बाइडन अमेरिका के नए राष्ट्रपति पद की शपछ लेंगे। लेकिन, यूएस कैपिटल (अमेरिकी संसद) पर हुए हमले के बाद डोनाल्ड ट्रंप को यह 9 दिन ही भारी पड़ने वाले हैं। उनके खिलाफ पूरी तरह एकजुट विपक्ष जल्द ही महाभियोग प्रस्ताव को लाने जा रहा है। अगर यह प्रस्ताव पेश किया जाता है तो निश्चित रूप से ट्रंप की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं, क्योंकि उनकी रिपब्लिकन पार्टी के भी कई सांसद इसके पक्ष में हैं।

नैंसी पेलोसी ने ट्रंप के खिलाफ खोला मोर्चा
अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैन्सी पेलोसी ने रविवार को कहा कि सदन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही करेगा। वहीं, उन्होंने उपराष्ट्रपति माइक पेंस और ट्रंप की कैबिनेट से भी आर्टिकल 25 का उपयोग कर ट्रंप को बेदखल करने की मांग की। पेलोसी ने कहा कि ट्रंप लोकतंत्र के लिए खतरा हैं। यह प्रस्ताव पेश होते ही महाभियोग की दो बार कार्यवाही का सामना करने वाले ट्रंप इकलौते राष्ट्रपति बन जाएंगे।

उपराष्ट्रपति ने नहीं की कार्रवाई तो लाया जाएगा महाभियोग प्रस्ताव
पेलोसी ने एक पत्र में अपने सहयोगियों को कहा कि सबसे पहले सदन में मतदान होगा ताकि उपराष्ट्रपति माइक पेंस, ट्रंप को पद से हटाने के लिए 25वें संशोधन के तहत प्राप्त शक्तियों को उपयोग करें। उन्होंने कहा कि अगर ऐसा नहीं होता है तो सदन में 24 घंटे बा महाभियोग के लिए विधेयक लाया जाएगा। हमारे संविधान और हमारे लोकतंत्र की रक्षा के लिए हमें तुरंत कदम उठाना होगा क्योंकि राष्ट्रपति ट्रंप के पद पर बने रहने से लोकतंत्र और संविधान को खतरा है।

अमेरिकी संसद में हंगामा तय
सोमवार को पेलोसी के नेतृत्व वाली टीम 25वां संशोधन लागू करने के लिए पेंस और कैबिनेट के मंत्रियों से एक प्रस्ताव पर वोट करने को कहेगी। चूंकि संसद का सत्र नहीं चल रहा है इसलिए इसके विचार पर आपत्ति आ सकती है। इसके बाद पेलोसी मंगलवार को पूर्ण सदन के सामने प्रस्ताव रखेंगी। अगर इसे पारित करना है तो पेंस और कैबिनेट के पास सदन में महाभियोग की कार्यवाही से पहले 24 घंटे का समय होगा। महाभियोग की प्रक्रिया तेज होने के साथ ट्रंप पर अपने कार्यकाल के पहले ही पद छोड़ने का दबाव बढ़ गया है।

अर्नोल्ड श्वार्जेनेगर ने ट्रंप की निंदा की
कैलिफोर्निया के पूर्व गवर्नर अर्नोल्ड श्वार्जेनेगर ने यूएस कैपिटल में ट्रंप समर्थकों के हंगामे और हिंसा की तुलना नाजियों से की है और ट्रंप को एक नाकाम नेता बताया है जो इतिहास में अब तक के सबसे खराब राष्ट्रपति के तौर पर जाने जाएंगे। रिपब्लिकन नेता ने रविवार को सोशल मीडिया पर एक वीडियो जारी कर कहा कि बुधवार को अमेरिका में जो भी हुआ उसने नाजियों के नाइट ऑफ ब्रोकन ग्लास की याद दिला दी। वर्ष 1938 में नाजियों ने जर्मनी और ऑस्ट्रेलिया में हमले के दौरान यहूदियों के घरों, स्कूलों और कारोबारी संस्थानों पर तोड़फोड़ की थी जिसे ‘क्रिस्टलनाट या नाइट ऑफ ब्रोकन ग्लास’ कहते हैं।

कहीं परमाणु हमला न कर दें ‘सिरफिरे’ ट्रंप, न्यूक्लियर लॉन्च कोड को लेकर अमेरिका में बढ़ी चिंता
अमेरिकी राजनयिकों ने संसद हमले पर तैयार किए दस्तावेज
अप्रत्याशित घटनाक्रम में अमेरिकी राजनयिकों ने दो दस्तावेज तैयार कर कैपिटल बिल्डिंग (संसद भवन) में हमले के लिए ट्रंप द्वारा समर्थकों को उकसाने की निंदा की है और उन्हें पद से हटाने के लिए 25वें संशोधन का समर्थन करने को कहा है। विदेश विभाग के अधिकारियों ने कहा कि पिछले बुधवार को हुई घटना से दुनिया में लोकतांत्रिक मूल्यों को बढ़ावा देने और उसकी हिफाजत करने के लिए अमेरिका की प्रतिष्ठा को बुरी तरह धक्का लगा है।

डोनाल्ड ट्रंप ने फौरन नहीं दिया ‘इस्तीफा’ तो चलेगा महाभियोग: नैंसी पेलोसी
दस्तावेज में ट्रंप को पद से हटाने की मांग
दस्तावेज में कहा गया है कि अगर ट्रंप राष्ट्रपति पद पर बने रहते हैं तो इससे लोकतंत्र को और नुकसान होगा और अपनी विदेश नीति के लक्ष्यों को प्रभावी तरीके से पूरा करने के रास्ते में बाधा आएगी। दस्तावेज में विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ से 25वें संशोधन को लागू करने के लिए उपराष्ट्रपति पेंस और कैबिनेट के दूसरे सदस्यों को कानूनी प्रयासों का समर्थन करने का आह्वान किया गया है।

ट्रंप का ट्विटर अकाउंट बैन होने पर भड़के रिपब्लिकन, कहा- यह चीन नहीं, इससे माओ को गर्व होगा
दिसंबर 2019 में पहली बार लाया गया था महाभियोग का प्रस्ताव
सत्ता के दुरुपयोग के आरोप में ट्रंप के खिलाफ प्रतिनिधि सभा में दिसंबर 2019 में महाभियोग प्रस्ताव पारित हुआ था। ट्रंप के खिलाफ भ्रष्टाचारों के आरोपों की कई हफ्ते तक जांच के बाद डेमोक्रेटिक पार्टी के बहुमत वाली प्रतिनिधि सभा ने राष्ट्रपति पर दिसंबर में पद के दुरुपयोग और कांग्रेस (संसद) की कार्रवाई बाधित करने का अभियोग लगाया था। हालांकि दो सप्ताह तक चली सुनवाई के बाद सीनेट में इन आरोपों को खारिज कर दिया गया।



Source link

इसे भी पढ़ें

अनुष्का शर्मा ने मां बनने के बाद किया पहला पोस्ट, टीम इंडिया की तारीफ में लिखा मेसेज

अनुष्का शर्मा ने गाबा में ऑस्ट्रेलिया पर ऐतिहासिक जीत के लिए इंडियन क्रिकेट टीम को बधाई दी है। मां बनने के बाद अनुष्का...
- Advertisement -

Latest Articles

अनुष्का शर्मा ने मां बनने के बाद किया पहला पोस्ट, टीम इंडिया की तारीफ में लिखा मेसेज

अनुष्का शर्मा ने गाबा में ऑस्ट्रेलिया पर ऐतिहासिक जीत के लिए इंडियन क्रिकेट टीम को बधाई दी है। मां बनने के बाद अनुष्का...

अमेरिका ने चीन को द‍िया बड़ा झटका, उइगर मुस्लिमों के साथ व्‍यवहार को ‘नरसंहार’ घोषित किया

वॉशिंगटन अमेरिका की डोनाल्‍ड ट्रंप सरकार ने जाते-जाते चीन को बड़ा झटका दिया है। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने शिंजियांग प्रांत में...

गोलू ने क्लास से बाहर फेंका बैग

मैडम (बच्चों से) - जो बच्चा मेरे सवाल का जवाब देगा,उसे मैं घर जाने दूंगी...गोलू ने तुरंत अपना बैग खिड़की के बाहर फेंक...