Thursday, February 25, 2021

Coronavirus in Wuhan Lab: वुहान लैब ने कोरोना वायरस फैलने के 11 महीने पहले लिया था चमगादड़ के पिंजड़ों का पेटेंट, खड़े हुए सवाल

- Advertisement -


वुहान
चीन के वुहान की वायरॉलजी लैब से कोरोना फैला या नहीं, इस बात की साफ-साफ पुष्टि तो विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) भी नहीं कर सका है लेकिन इस विवादास्पद लैब से जुड़ी एक और रोचक जानकारी सामने आई है। एक रिपोर्ट के मुताबिक लैब ने वायरस के फैलने से कुछ महीने पहले जिंदा चमगादड़ों को रखने के लिए बनाए पिंजड़ों का पेटेंट हासिल किया था।

जनवरी में पेटेंग, दिसंबर में पहला केस
डेलीमेल ऑनलाइन ने ‘द मेल’ के हवाले से दावा किया है कि वुहान इंस्टिट्यूट ऑफ वायरॉलजी ने जून 2018 में चमगादड़ रखने के लिए पिंजड़ों के पेटेंट का आवेदन दिया था। इन पिंजड़ों में चमगादड़ों को पालने और आर्टिफिशल कंडीशन में ब्रीडिंग करने की बात कही गई थी। यह पेटेंट जनवरी 2019 में दे दिया गया था और करीब 11 महीने बाद देश में पहला कोरोना वायरस का केस हुबेई में पाया गया था। हालांकि, यह साफ नहीं है कि इन पेटेंट के आधार पर वाकई कितना काम किया गया लेकिन लैब के बारे में एक ऑनलाइन बायॉग्रफी में कहा गया है कि रिसर्चर्स के पास 12 पिंजड़े रखने की क्षमता है।


चोट का इलाज करने वाली डिवाइस का पेटेंट
दिलचस्प बात यह है कि नवंबर, 2019 में वुहान लैब ने एक और पेटेंट फाइल किया था। यह एक डिवाइस के लिए था जो बायोसेफ्टी लैब में खतरनाक वायरस के साथ काम करते हुए लगीं चोटों को ठीक करने के लिए विकसित की गई थी। एक ओपन सोर्स इंटेलिजेंस कंसल्टेंट चार्ल्स स्मॉल के मुताबिक वुहान लैब गुफाओं से चमगादड़ों को पकड़कर पेटेंट किए हुए पिंजड़ों में ब्रीड करने का काम करती है। वे चमगादड़ में वायरस आर्टिफिशली इन्फेक्ट करते हैं। चमगादड़ को खाना देते वक्त उससे संपर्क में आना कोरोना वायरस के फैलने की आशंका खड़ी करता है।

कैसे फैला Coronavirus? पता लगाने के लिए चीन के ‘रहस्‍यमय’ चमगादड़ गुफाओं की जांच जरूरी: WHO
चमगादड़ों की ब्रीडिंग
पिछले साल अक्टूबर में एक और पेटेंट फाइल किया गया था जो जंगली चमगादड़ों की आर्टिफिशल ब्रीडिंग से जुड़ा था। यह SARS-CoV के चमगादड़ से इंसानों और दूसरे जानवरों में ट्रांसमिशन से जुड़ा था। इसमें कहा गया था कि जिन चमगादड़ों में वायरस होता है उनमें लक्षण नहीं होते हैं और इसकी प्रक्रिया के बारे में भी जानकारी नहीं है। इसमें यह भी बताया गया है कि चमगादड़ों को एक्सपेरिमेंट्स के लिए ब्रीड किया जाना है।


लैब में नहीं रखे जाते हैं?
WHO की टीम में शामिल जूलॉजिस्ट पीटर दसजाक ने दावा किया था कि रिसर्चर्स स्तनपायी जीवों को टेस्टिंग के लिए नहीं रखते हैं। डॉ. पीटर उस संस्था के साथ काम करते हैं जो 15 साल से वुहान लैब में वायरस वाले चमगादड़ों पर स्टडी कर रही है। पीटर ने पिछले साल ट्वीट करते हुए दावा किया था कि रिसर्चर चमगादड़ नहीं रखते हैं और न उन्हें मारते हैं। उन्होंने कहा था कि सैंपलिंग के बाद चमगादड़ों को उनकी गुफाओं में छोड़ दिया जाता है।

जिस चमगादड़ से कोरोना का शक, उसकी चार नई ‘बहनें’ मिलीं



Source link

इसे भी पढ़ें

Xiaomi ने लॉन्च किए Redmi K40 Series में 3 पावरफुल स्मार्टफोन, देखें कीमत और खास बातें

हाइलाइट्स:Redmi K40 सीरीज में 3 फ्लैगशिप मोबाइल्स हुए लॉन्चपावरफुल Qualcomm Snapdragon 888 प्रोसेसर से लैसरेडमी के40 सीरीज के इन फोन्स में जबरदस्त कैमरा...

जीत के बाद भी विराट कोहली इस बात पर खफा, ‘दोनों टीमों ने की बेहद खराब बल्लेबाजी’

अहमदाबादअहमदाबाद में भारत और इंग्लैंड का मैच दूसरे दिन ही समाप्त हो गया। भारत के सामने जीत के लिए चौथी पारी में 49...
- Advertisement -

Latest Articles

Xiaomi ने लॉन्च किए Redmi K40 Series में 3 पावरफुल स्मार्टफोन, देखें कीमत और खास बातें

हाइलाइट्स:Redmi K40 सीरीज में 3 फ्लैगशिप मोबाइल्स हुए लॉन्चपावरफुल Qualcomm Snapdragon 888 प्रोसेसर से लैसरेडमी के40 सीरीज के इन फोन्स में जबरदस्त कैमरा...

जीत के बाद भी विराट कोहली इस बात पर खफा, ‘दोनों टीमों ने की बेहद खराब बल्लेबाजी’

अहमदाबादअहमदाबाद में भारत और इंग्लैंड का मैच दूसरे दिन ही समाप्त हो गया। भारत के सामने जीत के लिए चौथी पारी में 49...

इस महीने नए अवतार में लॉन्च हुईं ये 5 धांसू कारें, जानें आपके लिए कौन है बेस्ट

नई दिल्ली।आज हम आपको उन कारों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनके नए वेरिएंट्स को इस महीने भारतीय बाजार में लॉन्च...

IND vs ENG 3rd Test Match Report: इंग्लैंड दो ही दिन में चित, भारत ने डे-नाइट टेस्ट में दर्ज की 10 विकेट से जीत,...

अहमदाबादभारतीय टीम ने मोटेरा के नवनिर्मित नरेंद्र मोदी स्टेडियम में धमाल करते हुए इंग्लैंड को दूसरे ही दिन हरा दिया। दूसरी पारी के...