Home दुनिया Covishield वैक्सीन के शेल्फ लाइफ में बदलाव से WHO का इनकार, सीरम...

Covishield वैक्सीन के शेल्फ लाइफ में बदलाव से WHO का इनकार, सीरम इंस्टीट्यूट की याचिका खारिज

0


हाइलाइट्स:

  • विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की याचिका खारिज की
  • सीरम इंस्टीट्यूट ने कोविशील्ड वैक्सीन की शेल्फ लाइफ बढ़ाने की अपील की थी
  • डब्लूएचओ ने अपर्याप्त डेटा का दिया है हवाला, भारत के दवा नियंत्रण के करेगा बातचीत

जिनेवा
विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की बनाई हुई कोविशील्ड वैक्सीन की शेल्फ लाइफ को बढ़ाने की याचिका खारिज कर दी है। डब्लूएचओ ने कारण बताते हुए कहा है कि इसके लिए दिया गया डेटा पर्याप्त नहीं है। सीरम इंस्टीट्यूट ने कुछ दिनों पहले डब्लूएचओ से अपील की थी कि उसकी वैक्सीन की शेल्फ लाइफ को 6 महीने से बढ़ाकर 9 महीने तक किया जाए।

क्या होती है शेल्फ लाइफ
किसी भी वैक्सीन की मैन्यूफैक्चरिंग से लेकर उपयोग किए जाने की आखिरी तिथि को शेल्फ लाइफ कहा जाता है। सामान्य शब्दों में इसे वैक्सीन के एक्सपायरी डेट से जोड़कर देखा जाता है। इस अवधि के बाद वैक्सीन का उपयोग करना वर्जित होता है। डब्ल्यूएचओ ने इस मामले पर चर्चा करने के लिए ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) के साथ बैठक की भी मांग की है।

भारत पहले ही शेल्फ लाइफ बढ़ाने को दे चुका है मंजूरी
भारत के ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने पहले ही कोविशील्ड की शेल्फ लाइफ को अपनी निर्माण तिथि से छह से नौ महीने तक बढ़ा दिया है। फरवरी में पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को लिखे एक पत्र में DCGI ने कहा था कि उसे ‘कोविशिल्ड वैक्सीन के शेल्फ लाइफ के 9 मबीने तक विस्तार को लेकर कोई आपत्ति नहीं है। यह शेल्फ लाइफ वैक्सीन के मल्टी-डोज ग्लास शीशी (10 डोज़ -5 मि.ली.) पर लागू होगी।



Source link