Tuesday, March 2, 2021

El Chapo: ड्रग्‍स का धंधा, लड़कियों का नशा, सुरंगें…जानें दुनिया के सबसे शक्तिशाली माफिया अल चापो की कहानी

- Advertisement -


अमेरिका की जेल में सड़ रहा दुनिया का सबसे शक्तिशाली ड्रग्‍स तस्‍कर अल चापो एक बार फिर से चर्चा में है। एल चापो की 31 साल की पत्‍नी और पूर्व ब्‍यूटी क्‍वीन एम्‍मा कोरोनेल ऐइसपुरो को अमेरिका में अरेस्‍ट कर लिया गया है। एम्‍मा पर कई संगीन आरोप लगाए गए हैं। ड्रग्‍स की तस्‍करी के बेताज बादशाह एल चापो का जन्‍म उत्‍तरी-पश्चिमी मैक्सिको के सिनालोआ प्रांत में बेहद गरीब परिवार में हुआ था। अल चापो का संगठित अपराध कारोबार एक समय में इतना आगे बढ़ गया था कि वर्ष 2009 में फोर्ब्‍स पत्रिका ने उसे दुनिया का 701वां सबसे अमीर शख्‍स करार दिया था। फोर्ब्‍स के मुताबिक अल चापो के पास कुल करीब 1 अरब डॉलर की संपत्ति थी। अल चापो को महिलाओं का नशा था और वह बच्चियों के रेप को अपने लिए विटामिन बताता था। आइए जानते हैं अल चापो के क्रूरता की पूरी कहानी…

​5 फुट 6 इंच का अल चापो बना सिनालोआ कार्टेल का मुखिया

सिनालोआ में गरीबी में बचपन गुजारने वाले अल चापो को अपने पिता के हाथों शारीरिक प्रताड़ता झेलनी पड़ी थी और पिता की वजह से ही अल चापो ड्रग्‍स की तस्‍करी के धंधे में आया था। मात्र 5 फुट 6 इंच लंबा होने की वजह से ही उसे अल चापो कहा जाने लगा। उसका पूरा नाम जोकिन अल चापो गजमन है। उसका जन्‍म वर्ष 1957 में हुआ था। बचपन में अल चापो गांजा उगाने में अपने पिता की मदद करने लगा। इसके बाद अल चापो ने मैक्सिको के उभरते ड्रग लॉर्ड हेक्‍टर लुइस पाल्‍मा सालाजार के साथ काम करना शुरू किया और यहीं से उसकी किस्‍मत बदल गई। उसने सिनालोवा से ड्रग्‍स को अमेरिका भेजने के लिए रास्‍ते बनाने में सालाजार की मदद की। वर्ष 1988 में अल चापो ने अपना खुद का कार्टेल बनाया और फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा। बाद में वह सिनालोआ कार्टेल का चीफ बना जिसके बारे में कहा जाता है कि यह संगठन अमेरिका में सबसे ज्‍यादा मादक पदार्थों जैसे कोकिन, गांजा, हेरोइन आदि की तस्‍करी करता है। इसका नेटवर्क यूरोप तक फैला हुआ है। ये दोनों ही देश मादक पदार्थों के सबसे बड़े उपभोक्‍ता हैं। अल चापो वर्ष 2017 से अमेरिका की जेल में बंद है।

​सुरंगों का बेताज बादशाह है मैक्सिकन ड्रग लॉर्ड ‘अल चापो’

दुनिया का मोस्‍ट वॉन्‍टेड ड्रग लॉर्ड ‘अल चापो’ यानी जोक्विन गुजमान ने सुरंगों का ऐसा जाल बिछाया कि अमेरिका देखता रह गया। 5 फुट 6 इंच का यह आदमी दुनिया के सबसे ताकतवर ड्रग लॉर्ड्स में से गिना जाता है। यह उस सिनालोआ कार्टेल का सरगना है जो अमेरिका में सबसे ज्‍यादा ड्रग्‍स सप्‍लाई करता है। चापो की एक खासियत है- सुरंगों का इस्‍तेमाल। चार दशक से भी लंबे वक्‍त तक उसने बॉर्डर पर सुरंगों के जरिए ड्रग्‍स इधर-उधर करवाई। जब भी पकड़ा गया तो सुरंग के रास्‍ते भागा। 2001 में चापो ने 78 लोगों को पैसे खिलाए और जेल में सुरंग बनाकर भाग गया। दोबारा पकड़े जाने पर जुलाई 2015 में चापो ने अपनी सेल के शॉवर से एक मील लंबी सुरंग खुदवाई और उसी से एक दिन फरार हो गया। अल चापो को एक विशेष रूप से बनाई गई मोटरसाइकिल के जरिए सुरंग से बाहर निकाला गया। अगर ये कहा गया जाए कि इतिहास में सुरंगों से सबसे ज्‍यादा फायदा किसी ने कमाया है तो जरूर चापो का नाम उस लिस्‍ट में सबसे ऊपर होगा।

​अल चापो के 23 बच्‍चे, महिलाओं का नशा, बीबी ब्‍यूटी क्‍वीन

-23-

ड्रग लॉर्ड अल चापो को महिलाओं का नशा था और खुद उसने एक इंटरव्‍यू में इसे स्‍वीकार किया था। जब अल चापो से पूछा गया कि आपको सबसे ज्‍यादा क्‍या पसंद है..आपको किस चीज की लत है..इस पर अल चापो ने जवाब दिया था, ‘कुछ नहीं….मुझे सिर्फ महिलाओं की आदत है।’ अल चापो के बारे में कहा जाता है कि उसने 4 शादियां की हैं। उसकी सबसे पहली शादी वर्ष 1977 में हुई थी। साल 2017 में उसने ब्‍यूटी क्‍वीन एम्‍मा कोरोनेल से शादी की। 31 साल की एम्‍मा कोरोनेल ऐइसपुरो को अमेरिका के वॉशिंगटन डीसी के बाहर डलेस एयरपोर्ट से अरेस्‍ट किया गया है। एल चापो की पत्‍नी पर कोकिन, हेरोइन समेत कई मादक पदार्थो के वितरण की साजिश रचने का आरोप लगाया गया है। कोरोनेल पर मादक पदार्थों की तस्‍करी के आरोपों के अलावा अपने पति को वर्ष 2015 में जेल से छुड़ाने में मदद करने का भी आरोप लगाया गया है। एल चापो को मैक्सिको की सबसे ज्‍यादा सुरक्षा वाली जेल में रखा गया था।

​नाबालिग लड़कियों को ‘विटमिन’ बता रेप करता था अल चापो

ड्रग्स माफिया जोकिन एल चापो गजमन की कुछ काली करतूतों में नाबालिग लड़कियों के साथ रेप शामिल है। लंबे वक्त तक एल चापो से जुड़े रहे उसके साथी ऐलेक्स सिफयुएंटिस के मुताबिक, छिपे रहने के दौरान भी उसने कई नाबालिग लड़कियों का रेप किया था और वह उन्हें अपना ‘विटमिन’ बताता था जो उसे जिंदगी देती हैं। ऐलेक्स के मुताबिक, ‘कॉमरेड मारिया’ नाम की एक महिला नियमित तौर पर एल चापो के संपर्क में रहती थी। वह नाबालिग लड़कियों की फोटोग्राफ ड्रग माफिया को भेजकर उनमें से किसी को भी चुनने को कहती थी। उन लड़कियों को पहाड़ियों पर मौजूद अपने सीक्रेट ठिकाने तक पहुंचाने के लिए अल चापो करीब 3 लाख रुपये (प्रति लड़की) तक चुकाता था। सिफयुएंटिस के मुताबिक, गजमन उन नाबालिग लड़कियों को अपना ‘विटमिन’ बताता था और कहता था कि उनका रेप करने से ही उसे जिंदगी मिलती है। गवाह ने यह भी कबूला है कि कई बार उसने भी नाबालिग लड़कियों से शारीरिक रिश्ते बनाए थे।

​अल चापो की मां से मिलने पहुंचे थे मेक्सिको के राष्ट्रपति

अल चापो की ताकत का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि कोरोना वायरस महामारी के प्रतिबंधों के बाद भी मैक्सिको के राष्‍ट्रपति एड्रेज मैनुएल लोपेज ऑबरेडर ड्रग्‍स तस्‍कर के मां से मिलने पहुंचे थे। वह भी तब जब मैक्सिको के हेल्थ मिनिस्टर ने देश के 13 करोड़ नागरिकों से घर में रहने को कहा था ताकि कोरोना वायरस न फैले। इस आदेश के 24 घंटे पूरे होने से पहले ही राष्ट्रपति ऑबरेडर ने सुझाव की अनदेखी कर बादिरागुआतो का दौरा किया जो कि गैंगस्टर अल चापो का गृह शहर है। विवाद तब और बढ़ गया जब एक विडियो सामने आया जिसमें राष्ट्रपति अल चापो की मां मारिया से हाथ मिलाते नजर आए। वह कार में बैठी हुई थीं। राष्ट्रपति यह कहते हुए सुने गए कि आप अंदर ही रहिए मैं आपसे बाद में मिलूंगा। इस विडियो में अल चापो के परिवार के प्रतिनिधि जोस लुइस राष्ट्रपति के कंधे पर हाथ रखे हुए भी दिखे।



Source link

इसे भी पढ़ें

Yesterday and Tomorrow Islands: 3 मील दूर दो टापू, फिर भी वक्त में 21 घंटे का अंतर कैसे?

मॉस्को/वॉशिंगटनबिग डायोमीड और लिटिल डायोमीड नाम के दो टापू एक-दूसरे से सिर्फ तीन मील दूर हैं लेकिन इनके बीच आती है प्रशांत महासागर...

Cheteshwar Pujara vs off Spin: ऑफ स्पिन का तोड़ नहीं निकाल पा रहे चेतेश्वर पुजारा, जानिए कितना लंबा है संघर्ष

हाइलाइट्स:मिडल ऑर्डर के दिग्गज बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ऑफ स्पिन के आगे संघर्ष करते दिख रहे हैंदेखा जाए तो उनकी यह कमी रणजी ट्रोफी...
- Advertisement -

Latest Articles

Yesterday and Tomorrow Islands: 3 मील दूर दो टापू, फिर भी वक्त में 21 घंटे का अंतर कैसे?

मॉस्को/वॉशिंगटनबिग डायोमीड और लिटिल डायोमीड नाम के दो टापू एक-दूसरे से सिर्फ तीन मील दूर हैं लेकिन इनके बीच आती है प्रशांत महासागर...

Cheteshwar Pujara vs off Spin: ऑफ स्पिन का तोड़ नहीं निकाल पा रहे चेतेश्वर पुजारा, जानिए कितना लंबा है संघर्ष

हाइलाइट्स:मिडल ऑर्डर के दिग्गज बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ऑफ स्पिन के आगे संघर्ष करते दिख रहे हैंदेखा जाए तो उनकी यह कमी रणजी ट्रोफी...

Tandav Controversy: ऐमजॉन प्राइम वीडियो ने मांगी माफी, कहा- भावनाओं को ठेस पहुंचाने का नहीं था इरादा

ओटीटी प्लेटफॉर्म ऐमजॉन प्राइम वीडियो ने अपनी विवादित वेब सीरीज 'तांडव' को लेकर माफीनामा जारी किया है। माफीनामे में कहा गया है कि...

सीरिया को सुरक्षित बताकर शरणार्थी लौटा रहा डेनमार्क, यूरोप में सबसे पहले उठाया कदम

कॉपेनहेगनडेनमार्क ने युद्धग्रस्त सीरिया से आए शरणार्थियों को वापस भेजना शुरू कर दिया है। सरकार का कहना है कि अब उनके लौटने के...