Monday, June 21, 2021

Eye of Sahara: धरती पर रेगिस्तान के बीच पहेली, अंतरिक्ष से एकदम साफ दिखती है यह विशाल ‘आंख’

- Advertisement -


सहारा रेगिस्तान के बीच उत्तरपश्चिमी मॉरीशियाना एक ऐसी गोलाकार आकृति है जिसे देखना बेहद रोचक होता है। यह इतना विशाल है कि इसे अंतरिक्ष से भी देखा जा सकता है। दुनियाभर के अजूबे नजारों में से एक यह आकृति फटॉग्रफर्स से लेकर वैज्ञानिकों तक के लिए आकर्षण का केंद्र रही है। ऐसे में यह जानना दिलचस्प हो जाता है कि यह आकृति कैसे बनी और क्यों इसकी इतनी अहमियत है?

जमीन से नहीं दिखती

रेगिस्तान के बीच यह आकृति लंबे वक्त तक अदृश्य रही। इसे जमीनी स्तर से देखा जाना मुश्किल था। दिलचस्प बात यह है कि यह स्पेस से बेहद साफ और किसी विशाल आंख जैसी दिखती है। इसीलिए इसे यह नाम दिया गया है। इसे नैविगेशन लैंडमार्क के तौर पर भी इस्तेमाल किया गया और ऐस्ट्रोनॉट्स ने खूब तस्वीरें भी लीं। इसके आकार और बनावट की वजह से काफी वक्त तक यह माना जाता रहा कि किसी उल्कापिंड की टक्कर के कारण यह बनी है।

अलग-अलग क्यों हैं रंग?

अब जियॉलजिस्ट्स का मानना है कि यह काफी सिमेट्रिकल है। इसे ऐसा जियॉलजिकल गुंबद माना जाता है जिसकी ऊपरी परतें हवा और पानी के संपर्क में आने से नष्ट हो गई हैं। इसमें कुछ बेहतरीन सिलिका से भरे हाइड्रोथर्मल फीचर भी हैं। इस कारण इसे सुरक्षित रखकर इसकी उत्पत्ति के बारे में और ज्यादा स्टडी की जरूरत समझी गई। रिपोर्ट्स के मुताबिक यह गुंबद अलग-अलग तरह की चट्टानों से बना है और हर चट्टान पर हवा और पानी के अलग असर के कारण ऐसी आकृति उभरकर आई है। जहां ज्यादा असर नहीं हुआ, वे नीले और बैंगनी रंग के हिस्से ऊपर की ओर हैं और जहां erosion ज्यादा है, वहां पीले रंग की गहराई बन गई।

अलग-अलग हैं चट्टानें

आसपास का अंधेरा इलाका सेडिमेंटरी चट्टानों की पठारी का है जो रेगिस्तान की रेत से 200 मीटर ऊपर है। बाहरी हिस्सा समुद्रतल से 485 मीटर ऊपर है। तमाम स्टडी के बाद जियॉलजिस्ट्स ने पाया है कि इसके केंद्र में जो चट्टानें वे बाहरी चट्टानों से ज्यााद पुरानी हैं। अंदर की ओर रियोलिटिक वॉल्कैनिक चट्टानें, गैबरोस, कार्बनेटाइट्स और किंबरलाइट्स हैं। बाहरी हिस्सा इग्नेशियस और सेडिमेंटरी चट्टानों से बना है। बाहरी हिस्से में कुछ दरारे भी हैं।



Source link

इसे भी पढ़ें

महंगी स्मार्टवॉच अब सस्ते में! Mi Watch Revolve की कीमत में हुई बड़ी कटौती, अब इतने में खरीद पाएंगे

हाइलाइट्स:Mi Watch Revolve की कीमत में कटौती2000 रुपये कम हुई कीमतसस्ते में मिलेगा स्मार्टवॉचनई दिल्ली। Xiaomi जल्द ही अपनी एक नई स्मार्टवॉच लॉन्च...

कश्‍मीर मुद्दा सुलझ जाए, पाकिस्‍तान को परमाणु बम की जरूरत नहीं रहेगी: इमरान खान

इस्‍लामाबादभारत को अक्‍सर परमाणु बम की धमकी देने वाले पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने दावा किया है कि अगर कश्‍मीर का मुद्दा...

दूसरी बार शरद पवार से मिले प्रशांत किशोर, कल तीसरा मोर्चा के नेताओं की दिल्ली में बैठक

नई दिल्लीमोदी सरकार के खिलाफ विपक्षी दलों की एकजुट होने की कवायद एक बार फिर शुरू हो गई है। विपक्षी दलों के नेताओं...
- Advertisement -

Latest Articles

महंगी स्मार्टवॉच अब सस्ते में! Mi Watch Revolve की कीमत में हुई बड़ी कटौती, अब इतने में खरीद पाएंगे

हाइलाइट्स:Mi Watch Revolve की कीमत में कटौती2000 रुपये कम हुई कीमतसस्ते में मिलेगा स्मार्टवॉचनई दिल्ली। Xiaomi जल्द ही अपनी एक नई स्मार्टवॉच लॉन्च...

कश्‍मीर मुद्दा सुलझ जाए, पाकिस्‍तान को परमाणु बम की जरूरत नहीं रहेगी: इमरान खान

इस्‍लामाबादभारत को अक्‍सर परमाणु बम की धमकी देने वाले पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने दावा किया है कि अगर कश्‍मीर का मुद्दा...

दूसरी बार शरद पवार से मिले प्रशांत किशोर, कल तीसरा मोर्चा के नेताओं की दिल्ली में बैठक

नई दिल्लीमोदी सरकार के खिलाफ विपक्षी दलों की एकजुट होने की कवायद एक बार फिर शुरू हो गई है। विपक्षी दलों के नेताओं...

अक्षय कुमार के साथ अहान शेट्टी, मतलब अब ‘राजू’ संग नजर आएगा ‘श्याम’ का बेटा!

प्रड्यूसर साजिद नाडियाडवाला एक नई फिल्म पर काम कर रहे हैं। इस फिल्म में वह अक्षय कुमार के साथ सुनील शेट्टी के बेटे...