Saturday, January 23, 2021

PLA सैनिक की वापसी की चीनी रक्षा विशेषज्ञों ने की तारीफ, कहा- भारत ने सद्भावना दिखाई

- Advertisement -


पेइचिंग
लद्दाख में पैंगोंग के दक्षिणी किनारे पर पकड़े गए पीएलए सैनिक की रिहाई की चीन के रक्षा विशेषज्ञों ने तारीफ की है। चीनी विशेषज्ञों ने कहा कि कब्जे में आए चीनी सैनिक को वापस सौंपकर भारत ने सीमा तनाव को कम करने में सद्भावना दिखाई है। पूर्वी लद्दाख के पैंगोंग सो के दक्षिणी किनारे पर शुक्रवार की सुबह चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के एक सैनिक को पकड़ा गया था जो वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पार कर भारत की तरफ आ गया था।

सोमवार को चीनी सैनिक को भारत ने छोड़ा
नई दिल्ली में एक सूत्र ने कहा कि पीएलए के सैनिक को सोमवार सुबह 10 बजकर 10 मिनट पर पूर्वी लद्दाख के चुशुल-मोल्डो सीमा बिंदु पर चीन को वापस सौंप दिया गया। शिंघुआ विश्वविद्यालय में चीन के नेशनल स्ट्रेटजी इंस्टीट्यूट के शोध विभाग के निदेशक कियान फेंग ने सरकारी ग्लोबल टाइम्स को बताया कि लापता चीनी सैनिक की वापसी दोनों देशों के बीच सीमा नियमन तंत्र पर बनी सहमति के अनुरूप हुई है।

‘भारत ने सीमा पर तनाव कम करने की सद्भावना दिखाई’
चीनी सैनिक की वापसी पर टिप्पणी करते हुए उन्होंने कहा कि चार दिनों के अंदर चीनी सैनिक को वापस कर भारत ने सीमा पर तनाव कम करने की सद्भावना दिखाई है। चीनी सेना ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर की गई संक्षिप्त टिप्पणी में सोमवार को सैनिक की वापसी की बात कही है। बयान में कहा गया है कि चीन और भारत के बीच हुए समझौते के तहत, अंधेरे और जटिल पहाड़ी भू-भाग की वजह से खो गए एक चीनी सीमा सैनिक को भारतीय पक्ष ने 11 जनवरी 2021 की दोपहर को चीनी सीमा सैनिकों को सौंप दिया।

चीनी सेना ने जवान के भारत में घुसने पर दी थी यह दलील
चीन के सीमा बलों ने शनिवार को कहा था कि अंधेरे और जटिल भूगोल की वजह से एक चीनी सैनिक शुक्रवार सुबह चीन-भारत सीमा पर लापता हो गया था और भारतीय पक्ष से उसे लौटाने को कहा गया था। सीमा पर मई से जारी गतिरोध के बीच यह दूसरा मौका है जब भारत ने अपने कब्जे में आए चीनी सैनिक को लौटाया है।

पहले भी पकड़ा जा चुका है एक चीनी सैनिक
इससे पहले 18 अक्टूबर को चीन-भारत सीमा पर एक चरवाहे की उसकी याक खोजने में मदद करने के दौरान एक सैनिक कथित तौर पर लापता हो गया था। भारत और चीन की सेना के बीच पूर्वी लद्दाख में आठ महीनों से भी ज्यादा समय से गतिरोध बना हुआ है। यह गतिरोध पिछले साल मई में शुरू हुआ था जब पैंगोंग झील इलाके में दोनों पक्षों के बीच झड़प हुई थी।



Source link

इसे भी पढ़ें

हमने सीरीज जीतने के लिए चौथा टेस्ट दांव पर लगा दिया था : भरत अरुण

हाइलाइट्स:भारत ने चार मैचों की टेस्ट सीरीज में आस्ट्रेलिया को 2-1 से हराकर ऐतिहासिक सफलता हासिल की है। भारतीय क्रिकेट टीम के गेंदबाजी...

विजय माल्या ने ब्रिटेन में ही रहने का ‘एक और विकल्प’ आजमाया: वकील

हाइलाइट्स:विजय माल्या ने ब्रिटेन में ही रहने के लिये एक और विकल्प आजमाते हुए गृह मंत्री प्रीति पटेल के समक्ष गुहार लगाई है।...

KBC 12: अमिताभ बच्चन ने की IMF चीफ गीता गोपीनाथ की तारीफ, इकोनॉमिस्ट ने दिया ये रिऐक्शन

बॉलिवुड मेगास्टार अमिताभ बच्चन इन दिनों टीवी के चर्चित शो 'कौन बनेगा करोड़पति' के 12वें सीजन को होस्ट कर रहे हैं। हाल ही...
- Advertisement -

Latest Articles

हमने सीरीज जीतने के लिए चौथा टेस्ट दांव पर लगा दिया था : भरत अरुण

हाइलाइट्स:भारत ने चार मैचों की टेस्ट सीरीज में आस्ट्रेलिया को 2-1 से हराकर ऐतिहासिक सफलता हासिल की है। भारतीय क्रिकेट टीम के गेंदबाजी...

विजय माल्या ने ब्रिटेन में ही रहने का ‘एक और विकल्प’ आजमाया: वकील

हाइलाइट्स:विजय माल्या ने ब्रिटेन में ही रहने के लिये एक और विकल्प आजमाते हुए गृह मंत्री प्रीति पटेल के समक्ष गुहार लगाई है।...

KBC 12: अमिताभ बच्चन ने की IMF चीफ गीता गोपीनाथ की तारीफ, इकोनॉमिस्ट ने दिया ये रिऐक्शन

बॉलिवुड मेगास्टार अमिताभ बच्चन इन दिनों टीवी के चर्चित शो 'कौन बनेगा करोड़पति' के 12वें सीजन को होस्ट कर रहे हैं। हाल ही...

अमेरिका ने भारत को कहा ‘एक सच्चा दोस्त’, वैश्विक समुदाय की मदद के लिए कर रहा दवा क्षेत्र का उपयोग

हाइलाइट्स:अमेरिका के जो बाइडन प्रशासन ने कोविड-19 टीके की आपूर्ति करने के लिए भारत की सराहना की है।अमेरिका ने भारत को ‘‘एक सच्चा...