Saturday, November 28, 2020

आयुर्वेद के डॉक्टरों को सर्जरी का अधिकार मिलने से भड़का IMA, कहा- मेडिकल संस्थानों में प्रवेश के लिए खुल रहा चोर दरवाजा

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • आयुर्वेदिक डॉक्टरों को सर्जरी का अधिकार देने से आगबबूला हुआ IMA
  • संस्था ने कहा कि लक्ष्मणरेखा पार करने का परिणाम काफी घातक साबित होगा
  • IMA ने भारतीय चिकित्सा केंद्रीय परिषद का नोटिफिकेशन वापस लेने की मांग की

नई दिल्ली
भारतीय चिकित्सा केंद्रीय परिषद (Central Council Of Indian Medicine) ने नोटिफिकेशन जारी कर कहा है कि आयुर्वेद के डॉक्टर भी कुल 58 तरह की सर्जरी करेंगे। उन्हें जनरल सर्जरी (सामान्य चीर-फाड़), ईएनटी (नाक, कान, गला), ऑप्थेलमॉलजी (आंख), ऑर्थो (हड्डी) और डेंटल (दांत) से संबंधी बीमारियों के इलाज के लिए जरूरी सर्जरी कर पाएंगे। भारतीय चिकित्सा संघ (IMA) ने आयुर्वेद डॉक्टरों को दिए गए इस अधिकार का पुरजोर विरोध किया है। उसने इसे फैसले को मेडिकल संस्थानों में चोर दरवाजे से एंट्री का प्रयास बताते हुए कहा कि ऐसे में NEET जैसी परीक्षा का कोई महत्व नहीं रह जाएगा। इसके साथ ही, संस्था ने इस नोटिफिकेशन को वापस लेने की मांग की।

लक्ष्मणरेखा लांघने का परिणाम होगा घातक: IMA

इंडियन मेडिकल असोसिएशन ने सीसीआईएम के इस फैसले को एकतरफा और उद्दंडतापूर्ण बताया है। उसने आयुर्वेदिक डॉक्टरों को सर्जरी के अयोग्य बताते हुए सीसीआईएम की कड़ी आलोचना की है। संस्था की तरफ से जारी बयान में कहा गया है, ‘आईएमए ने लक्ष्मण रेखा खींच रखी है जिसे लांघने पर घातक परिणाम सामने आएंगे।’ उसने आगे कहा, ‘आईएमए, काउंसिल को सलाह देता है कि वो प्राचीन ज्ञान के आधार पर सर्जरी का अपना तरीका इजाद करे और उसमें आधुनिक चिकित्सा शास्त्र पर आधारित प्रक्रिया से बिल्कुल दूर रहे।’

IMA का बड़ा सवाल- NEET का क्या महत्व रह जाएगा
इसके साथ ही, आईएमए ने सरकार से मांग की कि वो ऐसे आधुनिक चिकित्सा शास्त्र के डॉक्टरों की पोस्टिंग भारतीय चिकित्सा के कॉलेजों में नहीं करे। उसने सवाल किया कि अगर इस तरह के शॉर्टकट्स को मान्या दी जाएगी तो फिर NEET का महत्व क्या रह जाएगा? आईएमए ने सरकार से अपील करने के साथ-साथ अपने सदस्यों और बिरादरी के लोगों को भी चेतावनी दी कि वो किसी दूसरी चिकित्सा पद्धति के विद्यार्थियों को आधुनिक चिकित्सा पद्धति की शिक्षा नहीं दें। आईएमए ने कहा, ‘वो विभिन्न पद्धतियों के घालमेल को रोकने का हरसभव प्रयास करेगा।’ उसने कहा, ‘हरेक सिस्टम को अपने दम पर बढ़ने दिया जाए।’
CCIM का दावा- 25 सालों से सर्जरी कर रहे हैं आयुर्वेदिक डॉक्टर
उधर, भारतीय चिकित्सा केंद्रीय परिषद का कहना है कि उसके डॉक्टर पिछले 25 सालों से आयुर्वेद संस्थानों और अस्पतालों में सर्जरी कर रहे हैं। उसने कहा कि यह नोटिफिकेशन सिर्फ इसकी वैधानिकता के सवालों को स्पष्ट करना है। ध्यान रहे कि नोटिफिकेश में कहा गया है कि आयुर्वेद के डॉक्टर भी जनरल और ऑर्थोपेडिक सर्जरी के साथ आंख, कान और गले की सर्जरी कर सकेंगे।

आयुर्वेद के डॉक्टर भी अब कर सकेंगे सर्जरी, केंद्र सरकार से मिली हरी झंडी

क्या कहता है नोटिफिकेशन
भारतीय चिकित्सा केंद्रीय परिषद की ओर से जारी नोटिफिकेशन में कहा गया है कि स्नातकोत्तर (पीजी) के विद्यार्थियों को विभिन्न सर्जरी के बारे में गहन जानकरी दी जाएगी। नोटिफिकेशन के मुताबिक, आयुर्वेद के सर्जरी में पीजी करने वाले छात्रों को आंख, नाक, कान, गले के साथ ही जनरल सर्जरी के लिए विशेष रूप से प्रशिक्षित किया जाएगा। शल्य तंत्र (जनरल सर्जरी) और शालक्य तंत्र (नाक, गाल, गला, सिर और आंख की सर्जरी) के पीजी स्कॉलरों को पढ़ाई के दौरान स्वतंत्र रूप से विभिन्न तरह की चीर-फाड़ की प्रक्रिया का व्यावहारिक ज्ञान दिया जाएगा। इन छात्रों को स्तन की गांठों, अल्सर, मूत्रमार्ग के रोगों, पेट से बाहरी तत्वों की निकासी, ग्लुकोमा, मोतियाबिंद हटाने और कई सर्जरी करने का अधिकार होगा।



Source link

इसे भी पढ़ें

हिंद महासागर में बड़ी भूमिका को तैयार भारत, NSA डोभाल ने श्रीलंकाई राष्ट्रपति से की मुलाकात

कोलंबोभारत ने हिंद महासागर में चीन की बढ़ती गतिविधियों को रोकने के लिए अपने पड़ोसियों को साधने की कोशिशों को तेज कर दिया...

Women Big Bash League: सिडनी थंडर दूसरी बार बनी चैंपियन, फाइनल में दी मेलबर्न स्टार्स को शिकस्त

सिडनीसिडनी थंडर ने दमदार प्रदर्शन करते हुए शनिवार को महिला बिग बैश लीग का खिताब दूसरी बार जीत लिया। नॉर्थ सिडनी ओवल में...

गिलगित-बाल्टिस्तान में चुनाव करवा कर फंसे इमरान, बहुमत तो दूर- राज्य का भी नहीं मिलेगा दर्जा

इस्लामाबादपाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बाल्टिस्तान प्रांत में जबरदस्ती चुनाव करवाने का फैसला प्रधानमंत्री इमरान खान को उल्टा पड़ता दिखाई दे रहा है। सरकारी...
- Advertisement -

Latest Articles

हिंद महासागर में बड़ी भूमिका को तैयार भारत, NSA डोभाल ने श्रीलंकाई राष्ट्रपति से की मुलाकात

कोलंबोभारत ने हिंद महासागर में चीन की बढ़ती गतिविधियों को रोकने के लिए अपने पड़ोसियों को साधने की कोशिशों को तेज कर दिया...

Women Big Bash League: सिडनी थंडर दूसरी बार बनी चैंपियन, फाइनल में दी मेलबर्न स्टार्स को शिकस्त

सिडनीसिडनी थंडर ने दमदार प्रदर्शन करते हुए शनिवार को महिला बिग बैश लीग का खिताब दूसरी बार जीत लिया। नॉर्थ सिडनी ओवल में...

गिलगित-बाल्टिस्तान में चुनाव करवा कर फंसे इमरान, बहुमत तो दूर- राज्य का भी नहीं मिलेगा दर्जा

इस्लामाबादपाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बाल्टिस्तान प्रांत में जबरदस्ती चुनाव करवाने का फैसला प्रधानमंत्री इमरान खान को उल्टा पड़ता दिखाई दे रहा है। सरकारी...

दशक में दुनिया के सबसे बिजी क्रिकेटर विराट कोहली, 668 दिन खेले इंटरनैशनल क्रिकेट

नई दिल्लीटीम इंडिया के कैप्टन विराट कोहली पिछले एक दशक में दुनिया के सबसे बिजी क्रिकेटर रहे हैं। दिग्गज बल्लेबाजों में शुमार विराट...

हरियाणा में किसानों से ऐसे व्यवहार के बाद अब खट्टर से बात करने की गुंजाइश नहीं: अमरिंदर

चंडीगढ़किसानों के प्रदर्शन के मुद्दे पर हरियाणा और पंजाब की राज्य सरकारों के बीच मतभेद की स्थितियां बन गई हैं। पंजाब सरकार ने...