Monday, November 30, 2020

कब तक आ रही है देसी कोरोना वैक्सीन, ट्रायल में टीका लगवाने वाले अनिल विज ने बताया

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • भारत बायोटेक ने ICMR-NIV के साथ मिलकर बनाई है कोरोना वायरस की वैक्‍सीन
  • हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज को अंबाला में लगी पहली डोज, अब होगी निगरानी
  • चार हफ्ते बाद लगेगी दूसरी डोज, फिर होगा टेस्‍ट की ऐंटीबॉडीज डिवेलप हुईं या नहीं
  • विज का दावा, जनवरी के पहले हफ्ते तक देश में उपलब्‍ध हो सकती है कोरोना वैक्‍सीन

नई दिल्‍ली/अंबाला
भारत में बने कोविड टीके Covaxin का फेज 3 ट्रायल शुरू हो चुका है। हरियाणा में गृह मंत्री अनिल विज खुद ट्रायल में शामिल हुए हैं। उन्‍हें शुक्रवार को अंबाला में टीका लगाया गया। उन्‍होंने कहा क‍ि ट्रायल जल्‍दी पूरा हो, इसके लिए वह इसका हिस्‍सा बने हैं। विज ने दावा किया कि भारत बायोटेक और इंडियन कांउसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) की बनाई यह वैक्‍सीन जनवरी के पहले सप्‍ताह तक सामने आ सकती है। उन्‍होंने कहा कि वैक्‍सीन ट्रायल का 42 दिन का प्रोसेस है। अगर यह सफल रहती है तो वैक्‍सीन उत्‍पादन की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।

चार हफ्ते बाद दी जाएगी दूसरी डोज: अनिल विज
विज ने कहा, “कोवैक्सीन तीसरे और आखिरी फेज में है। 25 हजार से ज्यादा लोगों पर इसका ट्रायल किया जाना है। वॉलंटियर्स आगे जल्दी आएंगे, तो यह प्रक्रिया जल्दी पूरी हो जाएगी। मैंने इसीलिए खुद को आगे किया। ऐसे बताया जा रहा है कि जनवरी के पहले हफ्ते तक यह वैक्सीन सामने आ सकती है।” विज ने कहा कि कोवैक्सीन के लिए 2 से 8 डिग्री तक टेम्‍प्रेचर मेंटेन करना है इसलिए भारत में इसका वितरण आसान रहेगा। उन्‍होंने अपने ट्रायल शेड्यूल की जानकारी देते हुए कहा, “पीजीआई रोहतक के डॉक्टरों ने बताया वैक्सीन लेने के बाद मुझे निगरानी में रखा जाना है। मुझे चार हफ्ते के बाद दूसरे डोज दी जाएगी। फिर मेरा परीक्षण होगा कि ऐंटीबॉडी डिवेलप हुई या नहीं। इसका 42 दिन का प्रोसेस है। यह सफल रहता है तो फिर वैक्सीन बनाने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।”


किसने बनाई, कैसे काम करती है ये वैक्‍सीन
Covaxin को हैदराबाद की भारत बायोटेक ने इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) और नैशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ वॉयरलॉजी (NIV) के साथ मिलकर तैयार किया है। इसका फेज 1 ट्रायल 15 जुलाई से शुरू हुआ था। Covaxin एक ‘इनऐक्टिवेटेड’ वैक्‍सीन है। यह उन कोरोना वायरस के पार्टिकल्‍स से बनी है जिन्‍हें मार दिया गया था ताकि वे इन्फेक्‍ट न कर पाएं। इसकी डोज से शरीर में वायरस के खिलाफ ऐंटीबॉडीज बनती हैं। ये ऐंटीबॉडीज शरीर को कोरोना इन्‍फेक्‍शन से बचाती हैं। भारत बायोटेक के एमडी डॉ कृष्‍णा एल्‍ला ने कहा था कि वैक्‍सीन की कीमत एक पानी की बोतल के दाम से भी कम होगी। यानी इसका मतलब है कि वैक्‍सीन की एक डोज 20 रुपये से ज्‍यादा की नहीं होनी चाहिए।

कब-कब लेनी है डोज, Covin ऐप आपको देगा पूरी जानकारी

भारत में कोविड की कई वैक्‍सीन का चल रहा ट्रायल
देश में Covaxin के अलावा कई और कोविड वैक्‍सीन्‍स का ट्रायल चल रहा है। सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया जहां ऑक्‍सफर्ड-एस्‍ट्राजेनेका की वैक्‍सीन ‘कोविशील्‍ड’ का फेज 3 ट्रायल कर रही है। वहीं, जायडस कैडिला भी अपनी वैक्‍सीन ZyCov-D का ह्यूमन ट्रायल कर रही है। इसके अलावा डॉ रेड्डीज लैबोरेटरी को रूसी कोविड वैक्‍सीन Sputnik V के ट्रायल की इजाजत मिली है। सीरम इंस्टिट्यूट ने नोवावैक्‍स के साथ मिलकर एक और वैक्‍सीन भी डिवेलप की है।



Source link

इसे भी पढ़ें

Team India Captaincy: सिडनी में दोहरी हार के बाद टीम इंडिया में फिर उठे कप्तानी को लेकर सवाल

नितिन नाइक, मुंबईसिडनी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में लगातार दो मैच हारने के बाद एक बार फिर अलग-अलग फॉर्मेट में अलग...
- Advertisement -

Latest Articles

Team India Captaincy: सिडनी में दोहरी हार के बाद टीम इंडिया में फिर उठे कप्तानी को लेकर सवाल

नितिन नाइक, मुंबईसिडनी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में लगातार दो मैच हारने के बाद एक बार फिर अलग-अलग फॉर्मेट में अलग...

दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में लाहौर शीर्ष पर, दूसरे स्थान पर है अपनी दिल्ली

इस्लामाबाददुनिया के सबसे ज्यादा प्रदूषित शहरों की सूची में पाकिस्तान के लाहौर को पहला स्थान मिला है। वहीं, इस लिस्ट में नई दिल्ली...

नितिन गडकरी बोले- भारत को जल्द से जल्द मिलेगी कोविड-19 वैक्सीन, कोरोना को हराएगा देश

नई दिल्लीकेंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग तथा एमएसएमई मंत्री नितिन गडकरी को भरोसा है कि भारत को कोविड-19 का टीका 'जितना जल्दी संभव...