Sunday, January 24, 2021

किसान प्रदर्शन: बार काउंसिल ने लोगों से न्यायापालिका के सम्मान का अनुरोध किया

- Advertisement -


डिसक्लेमर:यह आर्टिकल एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड हुआ है। इसे नवभारतटाइम्स.कॉम की टीम ने एडिट नहीं किया है।

| Updated: 13 Jan 2021, 10:36:00 PM

नयी दिल्ली, 13 जनवरी (भाषा) तीन विवादास्पद कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसानों के प्रदर्शन के बीच भारतीय बार काउंसिल आफ इंडिया (बीसीआई) ने बुधवार को उनसे अनुरोध किया कि न्यायपालिका का सम्मान करें। बार काउंसिल ने उच्चतम न्यायालय के आदेश को देश की आखिरी उम्मीद बताते हुए किसानों से प्रदर्शन स्थगित करने को कहा। उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को एक ‘असाधारण’ अंतरिम आदेश में तीन नए कृषि कानूनों के अमल पर रोक लगाने के साथ ही प्रदर्शनकारी किसानों की शिकायतों को सुनने और गतिरोध को दूर करने के लिये सिफारिश करने के लिये चार सदस्यीय समिति का भी गठन

 

नयी दिल्ली, 13 जनवरी (भाषा) तीन विवादास्पद कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसानों के प्रदर्शन के बीच भारतीय बार काउंसिल आफ इंडिया (बीसीआई) ने बुधवार को उनसे अनुरोध किया कि न्यायपालिका का सम्मान करें। बार काउंसिल ने उच्चतम न्यायालय के आदेश को देश की आखिरी उम्मीद बताते हुए किसानों से प्रदर्शन स्थगित करने को कहा। उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को एक ‘असाधारण’ अंतरिम आदेश में तीन नए कृषि कानूनों के अमल पर रोक लगाने के साथ ही प्रदर्शनकारी किसानों की शिकायतों को सुनने और गतिरोध को दूर करने के लिये सिफारिश करने के लिये चार सदस्यीय समिति का भी गठन किया। किसान संगठनों ने हालांकि स्पष्ट किया था कि वे प्रदर्शन वापस नहीं लेंगे। देश के शीर्ष विधिज्ञ निकाय बीसीआई ने किसानों से प्रदर्शन स्थगित करने का अनुरोध किया क्योंकि उच्चतम न्यायालय ने तीनों कानूनों के अमल पर रोक लगा दी है। बीसीआई के अध्यक्ष मनन कुमार मिश्रा ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा, “देश के बुद्धिमान नागरिकों को किसान आंदोलन के संदर्भ में उच्चतम न्यायालय के आदेश की सराहना करनी चाहिए। हमारे उच्चतम न्यायालय द्वारा उठाया गया कदम ऐतिहासिक और देशहित में है।” उन्होंने कहा, “उच्चतम न्यायालय के आदेश का पहला लक्ष्य प्रदर्शनकारी किसानों, बुजुर्ग लोगों, महिलाओं और बच्चों की जिंदगी मुश्किल मौसम और कोविड से बचाना है।” विज्ञप्ति में कहा गया, “किसानों द्वारा जिन तीन कानूनों का विरोध किया जा रहा है उच्चतम न्यायालय ने उनके अमल और संचालन पर रोक लगा दी है और अब किसानों को भी अपना प्रदर्शन स्थगित करना चाहिए।” इसमें कहा गया, “कुछ राजनेताओं द्वारा उच्चतम न्यायालय के खिलाफ की गई गैर जिम्मेदाराना टिप्पणी बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है, किसी भी संवेदनशील राजनेता से ऐसी निराधार टिप्पणियों की उम्मीद नहीं की जाती है।”

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुक पेज लाइक करें



Source link

इसे भी पढ़ें

रहमत के शतक के दम पर अफगानिस्तान ने आयरलैंड को हराया, वनडे सीरीज पर किया कब्जा

अबु धाबीअफगानिस्तान ने रविवार को शेख जायेद स्टेडियम में खेले गए दूसरे वनडे मुकाबले में आयरलैंड को सात विकेट से हराकर तीन मैचों...

पाकिस्तान के लिए एडा क्लास के 4 युद्धपोत बना रहा तुर्की, जानें भारत के लिए कितना खतरनाक

हाइलाइट्स:पाकिस्तान के लिए एडा क्लास के चार कॉर्वेट बना रहा है तुर्कीएर्दोगन ने शनिवार को तीसरे कॉर्वेट के निर्माण की रखी आधारशिला2018 में...

इरफान पठान ने बताया क्यों राहुल द्रविड़ को मिल रहा टीम इंडिया की सफलता का क्रेडिट

नई दिल्लीभारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया को उसकी के मैदान में धूल चटाकर 2-1 से बॉर्डर गावसकर ट्रोफी अपने नाम की थी। इस जीत...
- Advertisement -

Latest Articles

रहमत के शतक के दम पर अफगानिस्तान ने आयरलैंड को हराया, वनडे सीरीज पर किया कब्जा

अबु धाबीअफगानिस्तान ने रविवार को शेख जायेद स्टेडियम में खेले गए दूसरे वनडे मुकाबले में आयरलैंड को सात विकेट से हराकर तीन मैचों...

पाकिस्तान के लिए एडा क्लास के 4 युद्धपोत बना रहा तुर्की, जानें भारत के लिए कितना खतरनाक

हाइलाइट्स:पाकिस्तान के लिए एडा क्लास के चार कॉर्वेट बना रहा है तुर्कीएर्दोगन ने शनिवार को तीसरे कॉर्वेट के निर्माण की रखी आधारशिला2018 में...

इरफान पठान ने बताया क्यों राहुल द्रविड़ को मिल रहा टीम इंडिया की सफलता का क्रेडिट

नई दिल्लीभारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया को उसकी के मैदान में धूल चटाकर 2-1 से बॉर्डर गावसकर ट्रोफी अपने नाम की थी। इस जीत...