Wednesday, January 27, 2021

कृषि कानूनों के अमल पर सुप्रीम कोर्ट की रोक का किसानों ने किया स्‍वागत, पर बोले- आंदोलन जारी रहेगा

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • सुप्रीम कोर्ट ने नए बनाए गए कृषि कानूनों के अमल पर अगले आदेश तक रोक लगा दी है
  • सुप्रीम कोर्ट ने इसके साथ ही किसानों व सरकार के बीच इस विवाद के समाधान के लिए एक कमिटी भी बनाई है
  • कोर्ट के इस फैसले का स्‍वागत करते हुए किसान संगठनों ने इसे आंदोलन की नैतिक जीत बताया है

नई दिल्‍ली
सुप्रीम कोर्ट ने नए बनाए गए कृषि कानूनों के अमल पर अगले आदेश तक रोक लगा दी है। साथ ही इस विवाद के समाधान के लिए एक कमिटी भी बनाई है। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का स्‍वागत करते हुए तमाम किसान संगठनों और नेताओं ने इसे आंदोलन की नैतिक जीत बताया है।

भारतीय किसान यूनियन के नेता योगेश प्रताप सिंह ने कोर्ट के आदेश पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट ने कृषि कानूनों के अमल पर जो रोक लगाई है वो किसान आंदोलन की नैतिक जीत है। लेकिन जबतक कानूनों को वापस नहीं लिया जाता आंदोलन और संघर्ष जारी रहेगा।’

किसानों के बीच कुछ खालिस्तानी हैं… कैसे दलीलों में मात खा गई मोदी सरकार

धरना रहेगा जारी
वहीं भारतीय किसान यूनियन, लोकशक्ति के अध्‍यक्ष स्‍वराज सिंह ने धरना जारी रखने की बात कही है। अपने बयान में उन्‍होंने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट ने जो कृषि कानूनों पर रोक लगाई है, वह किसानों के लिए अच्छा है। आगे का फैसला किसान संगठनों का संयुक्त मोर्चा लेगा। उसी का हम पालन करेंगे, फिलहाल धरना जारी है।’ यह किसान संगठन दलित प्रेरणा स्थल पर कृषि कानूनों के विरोध में धरना दे रहा है।

‘कानून रद्द होगा तभी संतोष’
एक अन्‍य किसान नेता जसबीर सिंह ने कहा, ‘हम सुप्रीम कोर्ट के कमिटी बनाए जाने का फैसला तभी स्वागत करेंगे जब कानून रद्द हो जाए। एमएसपी को कानूनी जामा पहनाया जाए। तभी हम अदालत के फैसले से संतुष्ट होंगे। हमारा आंदोलन अभी जारी रहेगा। जब आदेश लिखित तौर पर तभी वो आधिकारिक ऐलान करेंगे।’

कृषि कानून पर सुप्रीम फैसला और वकील एमएल शर्मा ने चीफ जस्टिस को कहा- साक्षात भगवान

सरकार से बातचीत पर जोर
कुछ इसी तरह की बात संयुक्‍त किसान मोर्चा की ओर से की गई है। मोर्चा की ओर से जारी बयान में कहा गया, ‘फिलहाल चल रहा किसान आंदोलन जारी रहेगा। हमें इस बात‍ से कोई लेना देना नहीं है कि सुप्रीम कोर्ट में क्‍या हुआ। हमारी बात सरकार से हो रही है, अगली बातचीत 15 जनवरी को होगी।’

किसान आंदोलन: केंद्र को SC की फटकार, कांग्रेस को मिला मौका



Source link

इसे भी पढ़ें

पिछले साल भारत में Xiaomi स्मार्टफोन्स की बिक्री सबसे ज्यादा, देखें टॉप ब्रैंड्स के हाल

हाइलाइट्स:शाओमी के स्मार्टफोन्स भारत में सबसे ज्यादा बिकते हैंसैमसंग दूसरे और वीवो तीसरे नंबर परभारत में ऐपल और वनप्लस के मोबाइल्स की भी...

डॉन्ट वरी, मैं सबकुछ हेडल कर लूंगा: नवदीप सैनी ने बताया ऋषभ पंत ने विनिंग चौका जड़ने से पहले क्या कहा था

अमित कुमार, नई दिल्लीऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ऐतिहासिक जीत के हीरो रहे युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत। उन्होंने गाबा में नाबाद 89 रनों की...
- Advertisement -

Latest Articles

पिछले साल भारत में Xiaomi स्मार्टफोन्स की बिक्री सबसे ज्यादा, देखें टॉप ब्रैंड्स के हाल

हाइलाइट्स:शाओमी के स्मार्टफोन्स भारत में सबसे ज्यादा बिकते हैंसैमसंग दूसरे और वीवो तीसरे नंबर परभारत में ऐपल और वनप्लस के मोबाइल्स की भी...

डॉन्ट वरी, मैं सबकुछ हेडल कर लूंगा: नवदीप सैनी ने बताया ऋषभ पंत ने विनिंग चौका जड़ने से पहले क्या कहा था

अमित कुमार, नई दिल्लीऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ऐतिहासिक जीत के हीरो रहे युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत। उन्होंने गाबा में नाबाद 89 रनों की...

दुनिया का सबसे घातक जहर ‘नोविचोक’ बनाने वाले बायोकेमिस्ट ने बनाई कोरोना की दवा

मॉस्कोदुनिया की सबसे घातक नर्व एजेंट नोविचोक बनाने में मदद करने वाले रूसी बायोकेमिस्ट ने कोरोना वायरस की नई दवा की खोज की...