Wednesday, August 4, 2021

कोरोना वैक्सीन लगवाई तब ही डेटिंग… महामारी ने बदल दिया भारतीयों के प्यार की तलाश का तरीका

- Advertisement -


हाइलाइट्स

  • कोरोना महामारी में बदल गया लोगों के डेटिंग का तरीका
  • अब सोशल डिस्टेंसिंग, कोरोना वैक्सीन आदि पर ध्यान दे रहे लोग
  • ऑनलाइन डेटिंग को अच्छा मानते हैं ज्यादातर लोग

मुंबई
कोरोना महामारी ने दुनियाभर में लोगों के काम करने और जीने का तरीका बदलकर रख दिया है। लोगों को ऑफिस से लेकर घर तक में कई बड़े बदलाव करने पड़े हैं। इतना ही नहीं, लोगों ने प्यार की तलाश में डेटिंग का तरीका भी बदला है। भारत में लोग डेटिंग के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग, कोरोना वैक्सीनेशन आदि पर भी काफी जोर दे रहे हैं। वीमेन-फर्स्ट डेटिंग ऐप एवं सोशल नेटवर्किंग प्लैटफॉर्म, बंबल के सर्वे में कई दिलचस्प बातें सामने आई हैं। खासकर दूसरी लहर ने सिंगल भारतीयों के डेटिंग के तरीके में बदलाव ला दिया है।

डेटिंग को लेकर पहले से ज्यादा स्पष्ट नजरिया
लॉकडाउन में बिताए गए समय ने लोगों को इस बात पर केंद्रित होने में मदद की कि डेटिंग के लिए वो क्या तलाश रहे हैं, और उन्हें नए लोगों से मिलते हुए अपनी डेटिंग लाइफ को अपने नियंत्रण में लेने के लिए स्पष्टता व आत्मविश्वास की नई भावना प्रदान की। हाल में की गई एक शोध द्वारा बंबल ने पाया कि लोग कोविड-19 के पहले के समय के मुकाबले अब ज्यादा स्वेच्छा से डेटिंग कर रहे हैं – वो इस बारे में ज्यादा ईमानदार हैं कि वो कैजुअल संबंध तलाश रहे हैं या गंभीर। वास्तव में, सर्वे में शामिल 74 प्रतिशत सिंगल भारतीय महसूस करते हैं कि डेटिंग में नकारात्मक व्यवहार, जैसे घोस्टिंग, ब्रेडक्रंबिंग, कैटफिशिंग आदि में कमी आई है। भारत में युवाओं के बीच विस्तृत रूप से वैक्सीनेशन शुरू होने के साथ, तीन में एक से ज्यादा डेटर्स (33 प्रतिशत) 2021 में डेटिंग के लिए आशान्वित महसूस कर रहे हैं।

बंबल के देशभर में किए सर्वे के अनुसार, भारत में चार में से एक (25 प्रतिशत) डेटर्स ने बताया कि वो संभावित संबंध से जो चाहते हैं, या जो उनकी जरूरत है, वो उस मामले में समझौता करने के कम इच्छुक हैं:

  • लगभग 54 प्रतिशत सिंगल भारतीयों ने बताया कि कोविड-19 के दौरान डेटिंग के वक्त डेटिंग के इरादों व अपेक्षाओं के बारे में स्पष्ट बातचीत बढ़ी।
  • 48 प्रतिशत सिंगल भारतीयों का दावा है कि कोविड-19 के दौरान डेटिंग के वक्त व्यक्ति के लुक्स के मुकाबले उसके व्यक्तित्व पर ज्यादा केंद्रण रहा।
  • कोविड-19 के दौरान डेटिंग के वक्त तीन में से एक व्यक्ति ने कम दबाव महसूस किया।
  • सर्वे में शामिल 37 प्रतिशत सिंगल भारतीयों ने दावा किया कि कोविड-19 के दौरान डेटिंग के वक्त उन्होंने कैटफिशिंग में कमी देखी।
  • सर्वे में शामिल 34 प्रतिशत सिंगल भारतीयों ने दावा किया कि कोविड-19 के दौरान डेटिंग के वक्त उन्होंने घोस्टिंग में कमी देखी।

ऑनलाइन डेटिंग को प्राथमिकता दे रहे लोग
बंबल ने देखा कि एक साल तक सोशल डिस्टैंसिंग का पालन करने के बाद लोगों द्वारा ऑनलाइन डेटिंग को लेकर दृष्टिकोण में सकारात्मक परिवर्तन आया है। इस बात में कोई आश्चर्य नहीं कि लोग कोविड-19 के दौरान सार्थक संपर्क तलाशने के लिए डेटिंग के नए तरीकों के अभ्यस्त हो चुके हैं।

  • सर्वे में शामिल 72 प्रतिशत सिंगल भारतीय सोचते हैं कि ऑनलाइन किसी ऐसे व्यक्ति के प्यार में पड़ना संभव है, जिससे वो व्यक्तिगत रूप से कभी न मिले हों।
  • सर्वे में शामिल 45 प्रतिशत सिंगल भारतीय मानते हैं कि वर्चुअल या ऑनलाइन डेटिंग भारत में डेटिंग का सामान्य तरीका है।
  • लोग किसी से व्यक्तिगत रूप से मिलने से पहले वर्चुअल डेट्स को उसके साथ संलग्न होने का सुरक्षित तरीका मान रहे हैं।
  • 2021 में 39 प्रतिशत ने वीडियो डेट को अपनी पहली डेट के रूप में आजमाया।
  • वास्तव में, सर्वे में शामिल सिंगल भारतीयों को वर्चुअल डेटिंग में मजा क्यों आया, इसका सबसे लोकप्रिय कारण (48 प्रतिशत) यह है कि पहली बार किसी से व्यक्तिगत रूप से मिलने से पहले उससे वर्चुअल मुलाकात करना ज्यादा सुरक्षित महसूस होता है।
  • 45 प्रतिशत वर्चुअल डेट्स इसलिए पसंद करते हैं क्योंकि इससे समय और पैसा बचता है।
  • तीन में एक से ज्यादा (31 प्रतिशत) लोग यह पसंद करते हैं कि उन्हें वीडियो डेट पर जाने के लिए केवल आंशिक रूप से तैयार (हाफ-ग्लैम) होना पड़ेगा।

डेटिंग के लिए वैक्सीनेशन पर जोर दे रहे लोग
भारत में हाल ही में आई कोविड-19 की दूसरी लहर के बाद, सुरक्षा अभी भी सर्वोपरि है। लोग पहली बार किसी से व्यक्तिगत रूप से मिलने से पहले सावधानियों एवं कोविड वैक्सीन के स्टेटस पर बातचीत को प्राथमिकता दे रहे हैंः

  • सर्वे में शामिल 35 प्रतिशत लोगों ने बताया कि वो पिछले साल के मुकाबले दूसरी लहर के बाद सुरक्षा को लेकर ज्यादा सावधान हैं।
  • वैक्सीनेशन का स्टेटस आवश्यक है और सर्वे में शामिल 38 प्रतिशत डेटर्स ने बताया कि वो ऐसे व्यक्ति के साथ डेट पर जाना या सैक्स करना पसंद नहीं करेंगे, जिसने कोविड वैक्सीन नहीं लगवाई है।

बंबल इंडिया की कम्युनिकेशंस डायरेक्टर, समर्पिता समद्दर ने कहा, ‘कोविड-19 ने हमारे डेटिंग के विकल्पों और व्यवहारों में सार्थक परिवर्तन ला दिए हैं और सिंगल भारतीय डेटिंग की इस नई दुनिया में नैविगेट कर रहे हैं। पिछला साल लोगों ने लॉकडाउन में बिताया, जिससे उन्हें इस बात पर ध्यान केंद्रित करने का अवसर मिला कि वो डेटिंग के दौरान क्या चाहते हैं।’

उन्होंने आगे कहा, ‘अपनी डेटिंग की जिंदगी को नियंत्रण में लेने के लिए उनमें स्पष्टता और आत्मविश्वास की नई भावना आई। साथ ही लोगों ने वर्चुअल और व्यक्तिगत रूप से डेटिंग करने के नए नियमों पर गौर किया। हमारी नई शोध प्रदर्शित करती है, भारत में सिंगल लोग अपने डेटिंग निर्णय के प्रति पहले से ज्यादा इरादतन हैं और भारत में वैक्सीनेशन बढ़ने के साथ सुरक्षा व तालमेल को प्राथमिकता दे रहे हैं।’

पिछले एक साल में, बंबल ने अपने प्लेटफॉर्म पर अनेक अपडेट किए हैं, जिनमें डेटिंग प्रोफाईल में 150 नए रुचि के बैज प्रस्तुत करना एवं इसका नाईट-इन फीचर लॉन्च करना शामिल है, जिसमें वीडियो चैट के दौरान दो लोग एक इंटरैक्टिव गेम में हिस्सा ले सकते हैं। कंपनी ने हाल ही में बंबल वीडियो कॉल्स में स्नैप का एआर लैंस लॉन्च किया है और वीडियो नोट प्रस्तुत किए हैं, जो स्नैपचैट की टेक्नॉलॉजी का इस्तेमाल करते हैं।

सांकेतिक तस्वीर



Source link

इसे भी पढ़ें

- Advertisement -

Latest Articles