Friday, May 14, 2021

कोरोना से लड़ाई में पटना के हनुमान मंदिर ने खोला खजाना, अकूत संपत्ति वाले मंदिर क्या देंगे आर्थिक मदद

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • तिरुपति मंदिर यहां हर साल 600 करोड़ रुपये से ज्यादा का चढ़ावा चढ़ता है
  • सिद्धिविनायक मंदिर ट्रस्ट की ओर से कोरोना के लिए दस करोड़ रुपये की मदद
  • कोरोना मरीजों की मदद के लिए आगे आया पटना का हनुमान मंदिर प्रशासन

नई दिल्ली
कोरोना मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या से देश में लगातार हालात बिगड़ते ही जा रहे हैं। जरूरी दवाई, ऑक्सिजन और बेड की कमी ने मरीजों की मुश्किलें और भी बढ़ा दी हैं। इस मुश्किल घड़ी में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मदद के लिए अब हर तरफ से हाथ उठने शुरू हो गए हैं। विदेशों से भी भारत को मदद पहुंचाई जा रही है। कुछ जगहों पर अब इस लड़ाई में मंदिर प्रशासन की ओर से भी मदद की पेशकश की गई है। बिहार के पटना जंक्शन स्थित हनुमान मंदिर प्रशासन भी कोरोना के खिलाफ लोगों की मदद के लिए आगे आया है। ऐसे मुश्किल वक्त में दूसरे मंदिर प्रशासन से भी लोग उम्मीद लगाए बैठे हैं।

तिरुपति मंदिर, पिछले साल मजदूरों के लिए हुई थी व्यवस्था
इस मंदिर की गिनती देश ही नहीं दुनिया के सबसे अमीर मंदिरों में होती है। इसे वेंकटेश्वर मंदिर और तिरुमाला तिरुपति के नाम से भी जाना जाता है। तिरुपति मंदिर आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले में स्थित है। यहां हर साल 600 करोड़ रुपये से ज्यादा मूल्य का चढ़ावा चढ़ता है। तिरुपति मंदिर में हर साल 83 करोड़ रुपये से ज्यादा के तो लड्डू बिकते हैं।

तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम (टीटीडी) की ओर से पिछले साल कोरोना संकट के समय बेघर और प्रवासी मजदूरों को ठहराने की व्यवस्था की गई थी। दो लॉज में लॉकडाउन के समय फंसे लोगों को ठहराया गया था। इन दो लॉज के अलावा तिरुपति रेलवे स्टेशन के पास लॉज में भी लोगों के ठहराने की व्यवस्था की गई थी। हालांकि कोरोना महामारी इस बार कोई टीटीडी की ओर से कोई बड़ी घोषणा नहीं की गई है।

कोरोना काल में बिहार के लोगों की मदद के लिए आगे आया हनुमान मंदिर, फ्री में देगा ऑक्सिजन और एंबुलेंस
शिरडी का साईं बाबा मंदिर
महाराष्ट्र के इस मंदिर में देश के कोने- कोने से लोग यहां दर्शन के लिए आते हैं। हर साल लाखों की संख्या में साईं बाबा के दर्शन के लिए आते हैं। एक अनुमान के मुताबिक शिरडी साईं मंदिर में सालाना 360 करोड़ रुपये से ज्यादा मूल्य का चढ़ावा चढ़ता है।

साईं मंदिर

पिछले साल कोरोना के वक्त लड़ाई में शिरडी के श्रीसाईंबाबा संस्थान ट्रस्ट ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए राज्य सरकार को आर्थिक मदद का ऐलान किया था। ट्रस्ट ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 51 करोड़ रुपये देने का निर्णय लिया था। हालांकि इस बार प्रशासन की ओर से कोई बड़ी घोषणा नहीं की गई है।

सिद्धिविनायक मंदिर की ओर से दी गई मदद
मुंबई के सिद्धिविनायक मंदिर बेहद लोकप्रिय है। यहां आम लोगों के साथ सेलेब्रिटी भी काफी संख्या में दर्शन के लिए आते हैं। सिद्धिविनायक मंदिर की गिनती भी देश के अमीर मंदिरों में होती है। भगवान गणेश के इस मंदिर में हर साल 150 करोड़ के आस पास का चढ़ावा चढ़ता है।

सिद्धिविनायक मंदिर ट्रस्ट ने कोरोना संकट के समय पिछले साल महाराष्ट्र सरकार को दस करोड़ रुपये की मदद की थी। इसमें 5 करोड़ कोरोना के लिए और 5 करोड़ शिव भोजन के लिए किया गया था।

पंजाबी संस्था ने अनूठी पहल की शुरुआत की, जरूरतमंदों के लिए ऑक्सिजन लंगर लगाया
पद्मनाभस्वामी मंदिर
पद्मनाभस्वामी केरल राज्य में भगवान विष्णु का प्रसिद्ध मंदिर है। यहां भक्तों की काफी भीड़ होती है। देश के सभी राज्यों से लोग यहां दर्शन के लिए आते हैं। पद्मनाभस्वामी देश का सबसे अमीर मंदिर है। माना जाता है कि इस मंदिर के पास 2 लाख करोड़ से भी ज्यादा की संपत्ति है। यहां सालाना 500 करोड़ का चढ़ावा आता है। इसे पूरी दुनिया का सबसे कीमती हिन्दू मंदिर माना जाता है।

माता वैष्णो देवी मंदिर
जम्मू-कश्मीर के रियासी जिले में कटरा के पास स्थित माता वैष्णो देवी मंदिर में हर साल 500 करोड़ रुपये का चढ़ावा चढ़ता है। यहां हर साल लाखों श्रद्धालु दर्शन करने आते हैं। मंदिर प्रशासन की ओर से कोरोना के मद्देनजर हाल फिलहाल कोई बड़ी घोषणा नहीं की गई है।

हनुमान मंदिर पटना

कोरोना से कराहते बिहार की मदद कई लोग कर रहे हैं। अब पटना जंक्शन स्थित हनुमान मंदिर भी बिहारवासियों की मदद के लिए आगे आया है। राजधानी पटना में लोग ऑक्सिजन की कमी और एंबुलेंस की कमी से जूझ रहे हैं। इसे देखते हुए महावीर मंदिर प्रबंधन ने बिहार के लोगों के लिए कई घोषणाएं की है। मंदिर प्रबंधन ने यह निर्णय लिया है कि बेगूसराय स्थित महावीर अग्रसेन सेवा सदन को कोविड डेडिकेटेड अस्पताल बनाया जाएगा।

हनुमान मंदिर पटना

महावीर मंदिर न्यास राजधानी पटना में तीन बड़े अस्पतालों का संचालन करती है। इसमें महावीर कैंसर संस्थान, महावीर वात्सल्य और महावीर आरोग्य संस्थान है। इन जगहों पर कोविड मरीजों को परामर्श देने के लिए डॉक्टरों की एक टीम गठित की गई है। परामर्श के बाद कोविड मरीजों को यहां मुफ्त में दवा की किट दी जाएगी। पटना के मैनपुरा स्थित महावीर वात्सल्य में दो ऑक्सिजन प्लांट लगाए जा रहे हैं।

देश के प्रमुख मंदिर



Source link

इसे भी पढ़ें

Eid Mubarak 2021: ईद की मुबारकबाद देकर बोले पीएम मोदी, कोरोना से मुक्ति मिल जाए यही है दुआ

हाइलाइट्स:कोरोना वायरस महामारी के चलते फीकी हुई ईद की रौनकराष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर कहा, 'ईद मुबारक'पीएम मोदी ने भी किया ट्वीट,...
- Advertisement -

Latest Articles

Eid Mubarak 2021: ईद की मुबारकबाद देकर बोले पीएम मोदी, कोरोना से मुक्ति मिल जाए यही है दुआ

हाइलाइट्स:कोरोना वायरस महामारी के चलते फीकी हुई ईद की रौनकराष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर कहा, 'ईद मुबारक'पीएम मोदी ने भी किया ट्वीट,...

इजरायल का चौतरफा हमला, गाजा सीमा पर डटे हजारों सैनिक, लड़ाकू विमानों ने बरपाया कहर

हाइलाइट्स: हमास के खिलाफ इजरायली सेना ने चौतरफा हमले की तैयारी शुरू कर दी हैइजरायल के टैंक और हजारों सैनिक शुक्रवार को गाजा...