Monday, March 1, 2021

चीनी ऐप बैन की इनसाइड स्‍टोरी: पीएम मोदी के इशारे पर पूरी रात चला था पेपरवर्क

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • 15 जून 2020 को गलवान घाटी में भिड़ गए थे चीन और भारत के सैनिक
  • चीन की इस हरकत का जवाब देना था जरूरी, भारत ने कदम से चौंकाया
  • रातोंरात IT मिनिस्‍ट्री में तैयार की गई थी बैन होने वाली चीनी ऐप्‍स की लिस्‍ट
  • तीसरे दौर की बातचीत से ठीक पहले भारत ने कर दिया था ऐलान

नई दिल्‍ली
TikTok और WeChat जैसी चीनी ऐप्‍स को बैन करने के लिए सूचना एवं प्रौद्योगिकी (IT) मंत्रालय को पूरी रात काम करना पड़ा था। अगले दिन भारत और चीन के सैन्‍य कमांडरों के बीच तीसरे दौर की बातचीत होनी थी। उससे पहले मंत्रालय ने इस अभूतपूर्व कदम के लिए रातभर में पेपरवर्क पूरा कर लिया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ब्रीफिंग बड़ी साफ थी और उसपर ऐक्शन लेने में मंत्रालय के टॉप अधिकारी जुटे हुए थे। पीएम मोदी ने दो टूक कहा था, बातचीत शुरू होने से पहले बैन की घोषणा हो जानी चाहिए। कानूनी अधिकारियों के साथ IT मंत्रालय के अधिकारियों ने वक्‍त रहते ही पेपरवर्क पूरा कर लिया था। IT मंत्री रविशंकर प्रसाद के ऑफिस में पर्दे खींच दिए गए थे ताकि किसी को पता न चले कि हो क्‍या रहा है।

भारत के कदम से चीन का बैलेंस बिगड़ा
लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (LAC) पर चीनी सेनाओं के पास ऐडवांटेज था। ऐसे वक्‍त में, संवेदनशील सैन्‍य बातचीत से पहले संभलकर कदम उठाना ही ठीक होता। लेकिन अगस्‍त के आखिरी दिनों में भारत ने अपने कदम से बैलेंस को मोड़ दिया। पीएम के निर्देश साफ थे कि चीन को गलवान में हुई झड़प के बाद संदेश जरूर जाना चाहिए। पैंगोंग झील के दोनों तरफ जिस डिसइंगेजमेंट की घोषणा हुई है, सैन्‍य और कूटनीतिक स्‍तर की बातचीत का सबसे मुश्किल पहलू वही था। एक हेलीपैड बनाए जाने की रिपोर्ट्स के बीच, रिजेस पर चीनी मौजूद थे।


दम दिखाया तो हड़बड़ा गया ड्रैगन
सरकार का अप्रोच था कि चीन को राजनीतिक, आर्थिक और कूटनीतिक स्‍तर पर काउंटर किया जाए। चीन के लिए यह बिल्‍कुल नया अनुभव था। भारत की तरफ से बार-बार इशारा किया गया कि वह आर्थिक और सैन्‍य रूप से मजबूत दुश्‍मन के आगे नहीं झुकेगा, इससे गतिरोध बरकरार रहा। पैंगोंग के दक्षिण में जब भारत ऊंचाइयों पर काबिज हो गया तो चीन के हड़बड़ाहट भरे रिएक्‍शन ने साफ बता दिया कि उनकी योजनाएं विफल रही हैं। इसके बाद चीन की तरफ से घुसपैठ की कई नाकाम कोशिशें हुईं। नए एग्रीमेंट से LAC पर शांति तो थी मगर दोनेां देशों के सैनिक एक-दूसरे के बेहद करीब थे।

पैंगोंग झील में डिसइंगेजमेंट को लेकर फैलाए जा रहे ये झूठ, रक्षा मंत्रालय ने बताया क्‍या है सच

अब सामने हैं नई चुनौतियां
इन सब चीजों से चीन के नेताओं को यह सबक भी मिला कि अपने हिसाब से LAC से छेड़छाड़ करने की उनकी योजना सफल नहीं होने जा रही। फिंगर 4 से 8 पर कब्‍जा इस योजना का अहम हिस्‍सा था। अभी के लिए, भारत इस इलाके में मौजूद नहीं होगा, मगर चीनी भी नहीं होंगे। गोगरा-हॉट स्प्रिंग्‍स, पैट्रोल पॉइंट 17 और देपसांग की चुनौती सामने है और इसमें और धैर्य की जरूरत पड़ेगी। लेकिन स्‍टैंडऑफ के खात्‍मे की घोषणा पर न सिर्फ दक्षिण एशिया और इंडो-पैसिफिक की नजरें थीं, बल्कि चीन के भीतर भी उसका इंतजार था।



Source link

इसे भी पढ़ें

UK Meteor Video: ब्रिटेन में आकाश से गिरा आग का विशाल गोला, दहशत में आए लोग

हाइलाइट्स:ब्रिटेन में रविवार की रात को एक विशाल उल्‍कापिंड आकाश से गिरते देखा गयाउल्‍कापिंड के गिरने से लोग दहशत में आ गए और...

Prepaid Data Vouchers: 100GB तक डाटा वाले इन प्रीपेड प्लान्स की कीमत 11 रुपये से शुरू

हाइलाइट्स: 17 डाटा वाउचर्स की जानकारीयूजर के बजट के हिसाब से प्लान मौजूदReliance Jio, Airtel और Vodafone Idea (Vi) कई ऐसे प्लान्स उपलब्ध...
- Advertisement -

Latest Articles

UK Meteor Video: ब्रिटेन में आकाश से गिरा आग का विशाल गोला, दहशत में आए लोग

हाइलाइट्स:ब्रिटेन में रविवार की रात को एक विशाल उल्‍कापिंड आकाश से गिरते देखा गयाउल्‍कापिंड के गिरने से लोग दहशत में आ गए और...

Prepaid Data Vouchers: 100GB तक डाटा वाले इन प्रीपेड प्लान्स की कीमत 11 रुपये से शुरू

हाइलाइट्स: 17 डाटा वाउचर्स की जानकारीयूजर के बजट के हिसाब से प्लान मौजूदReliance Jio, Airtel और Vodafone Idea (Vi) कई ऐसे प्लान्स उपलब्ध...

लक्ष्य से न भटकने वाला ‘आज का अर्जुन’

महाभारत काल के दौरान अर्जुन के बारे में एक बात प्रचलित है कि उन्होंने छत से टंगी गोल-गोल घूम रही मछली की आंख...