Sunday, April 11, 2021

चीन हम पर साइबर हमले करने में सक्षम, साइबर डिफेंस सिस्टम को पुख्ता बनाने की हो रही गंभीर कोशिश: CDS रावत

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • सीडीएस जनरल बिपिन रावत ने बुधवार को कहा कि साइबर डोमेन में चीन हमसे काफी आगे
  • रावत ने कहा कि चीन हम पर साइबर अटैक करने और हमारे साइबर सिस्टम्स में उथल-पुथल मचाने में सक्षम
  • जनरल रावत ने कहा कि भारत इस गैप को पाटने के लिए गंभीर कोशिश कर रहा है
  • उन्होंने कहा कि भारत यह सुनिश्चित करने की कोशिश कर रहा है कि साइबर अटैक का असर लंबे वक्त तक न हो

नई दिल्ली
चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत ने बुधवार को कहा कि टेक्नॉलजी के क्षेत्र में चीन भारत से आगे है और उसके पास साइबर हमले की क्षमता है। उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच सबसे ज्यादा गैप साइबर क्षेत्र में ही है और इसे पाटने की गंभीर कोशिश की जा रही है। विवेकानंदर इंटरनेशनल फांउडेशन के एक कार्यक्रम में एक सवाल के जवाब के दौरान उन्होंने यह बात कही।

सीडीएस रावत विवेकानंद इंटरनेशनल फाउंडेशन के कार्यक्रम में ‘मौजूदा और भविष्य की चुनौतियों से निपटने के लिए सशस्त्र बलों को आकार देने’ से जुड़े विषय पर बोल रहे थे। स्पीच खत्म होने के बाद एक सवाल के जवाब में रावत ने कहा, ‘हम जानते हैं कि चीन हम पर साइबर हमले करने में सक्षम है। वह हमारे सिस्टम्स को बड़े पैमाने पर नुकसान पहुंचा सकता है, उथल-पुथल मचा सकता है।’ उन्होंने कहा कि भारत इस तरह के हमलों से निपटने के लिए साइबर डिफेंस सिस्टम बनाने की कोशिश कर रहा है। जनरल रावत ने कहा कि मिलिट्री की साइबर एजेंसियां यह सुनिश्चित करने की कोशिश कर रही हैं कि ऐसे हमलों की सूरत में ‘डाउनटाइम और साइबर अटैक का असर’ लंबा न हो।

एकाग्रता वाले काम महिलाएं ज्यादा अच्छे से कर सकती हैं: सीडीएस जनरल रावत
इससे पहले अपने संबोधन में सीडीएस जनरल बिपिन रावत ने कहा कि भारत के नेतृत्व ने देश की सुरक्षा और गरिमा पर ‘अकारण हमले’ के मद्देनजर महत्वपूर्ण राष्ट्रीय हितों को बरकरार रखने में राजनीतिक इच्छाशक्ति एवं दृढ़ निश्चय का प्रदर्शन किया है। उनकी इस टिप्पणी को पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ सीमा गतिरोध से जोड़कर देखा जा रहा है। उन्होंने कहा कि देश परोक्ष युद्ध से लेकर ‘हाइब्रिड’ और गैर-संपर्क पारंपरिक युद्ध तक अलग-अलग सुरक्षा खतरों और चुनौतियों का सामना कर रहा है।

जनरल रावत ने कहा कि भारत को अपने मित्रों में किसी तरह की असुरक्षा पैदा किए बिना इस तरह की चुनौतियों से सख्ती और ताकत से निपटने की क्षमताएं विकसित करनी होंगी। उन्होंने अपने संबोधन में भारत की सेना के विकास का जिक्र किया और कहा कि देश को सुरक्षा समाधानों के लिए पश्चिमी जगत की तरफ देखने से बचना चाहिए और इसकी जगह विश्व को बताना चाहिए कि वह आए और विविध चुनौतियों से निपटने में भारत के व्यापक अनुभव से सीखे।

जनरल रावत ने कहा कि भारत के बाहरी खतरों से प्रभावी कूटनीति और पर्याप्त रक्षा क्षमता से निपटा जा सकता है, लेकिन साथ ही उल्लेख किया कि मजबूत राजनीतिक संस्थान, आर्थिक वृद्धि, सामाजिक सौहार्द, प्रभावी कानून व्यवस्था तंत्र, त्वरित न्यायिक राहत एवं सुशासन ‘आंतरिक स्थिरता के लिए पहली आवश्यकता’ हैं। उन्होंने कहा, ‘हमारे नेतृत्व ने देश की सुरक्षा, मूल्यों और गरिमा पर ‘अकारण हमले’ के मद्देनजर महत्वपूर्ण राष्ट्रीय हितों को बरकरार रखने में राजनीतिक इच्छाशक्ति एवं दृढ़ निश्चय का प्रदर्शन किया है।’
(एजेंसियों से इनपुट के साथ)



Source link

इसे भी पढ़ें

BAFTA में कहर ढाने को तैयार प्रियंका चोपड़ा, कातिल अदाओं पर हार जाएंगे दिल

बॉलिवुड से लेकर हॉलिवुड तक अपने टैलेंट का परचम लहराने वाली प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) अक्सर अपने अदाओं से फैंस को दीवाना बनाती...

बस थोड़ा और इंतजार, Google Pixel 5A 5G लॉन्च होने के लिए तैयार, देखें खूबियां

हाइलाइट्स:गूगल के इस अपकमिंग स्मार्टफोन का बेसब्री से इंतजारबजट फ्लैगशिप सेगमेंट का यह फोन शानदार फीचर्स के साथगूगल ने अपने इस फोन लॉन्च...
- Advertisement -

Latest Articles

BAFTA में कहर ढाने को तैयार प्रियंका चोपड़ा, कातिल अदाओं पर हार जाएंगे दिल

बॉलिवुड से लेकर हॉलिवुड तक अपने टैलेंट का परचम लहराने वाली प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) अक्सर अपने अदाओं से फैंस को दीवाना बनाती...

बस थोड़ा और इंतजार, Google Pixel 5A 5G लॉन्च होने के लिए तैयार, देखें खूबियां

हाइलाइट्स:गूगल के इस अपकमिंग स्मार्टफोन का बेसब्री से इंतजारबजट फ्लैगशिप सेगमेंट का यह फोन शानदार फीचर्स के साथगूगल ने अपने इस फोन लॉन्च...

ससुराल में फसल काटती दिखीं रंगोली चंदेल, कंगना रनौत ने शेयर की बहन की तस्वीर

बॉलिवुड ऐक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) सोशल मीडिया पर काफी ऐक्टिव रहती हैं और अपने से जुड़े अपडेट्स शेयर करती रहती हैं। कंगना...