Monday, March 1, 2021

ब्रिक्स पर साथ, शी जिनपिंग भी ‘आएंगे’ भारत… अचानक इतना याराना क्यों दिखा रहा चीन?

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • बॉर्डर पर तनाव होने लगा कम तो बदल रहे हैं चीन के सुर
  • इस बार भारत में होनेवाले ब्रिक्‍स सम्‍मेलन को दिया समर्थन
  • हिस्‍सा लेने चीनी राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग भी आ सकते हैं भारत
  • बदल गया मन? अब ‘सहयोग बढ़ाने’ की बातें कर रहा चीन

नई दिल्‍ली
भारत-चीन सीमा पर करीब 11 महीनों तक भारी तनाव रहा। पहले पैंगोंग झील और फिर अन्‍य जगहों से डिसइंगेजमेंट की रिपोर्ट्स के बीच, चीन के तेवर बदल गए हैं। उसकी बातों में अब ‘सहयोग’, ‘मानवता’ जैसे शब्‍द आने लगे हैं। सोमवार को चीन ने यह कहते हुए भारत में होने वाले ब्रिक्‍स सम्‍मेलन का समर्थन किया कि वह भारत और अन्‍य सदस्‍य देशों के साथ मिलकर ‘विभिन्‍न क्षेत्रों में सहयोग मजबूत करना’ चाहता है।

अगर अगले कुछ महीनों में कोविड महामारी से उपजीं परिस्थितियां काबू में आ गईं तो चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग भी भारत आ सकते हैं। अगर वह आते हैं तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनकी मुलाकात भी संभव है। चीनी विदेश मंत्रालय ने सोमवार को एक बयान में कहा कि चीन ब्रिक्‍स को बेहद महत्‍व देता है और इसके जरिए रणनीतिक साझेदारी को बढ़ाने का पक्षधर है। चीन ने कहा कि वह ब्रिक्‍स देशों के बीच एकजुटता और सहयोग को मजबूत करना चाहता है।

‘संवाद और सहयोग बढ़ाना चाहता है चीन’
सीमा पर जो हालात हैं, उसका सम्‍मेलन पर असर पड़ेगा या नहीं? इस सवाल के जवाब में चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता वांग वेनबिन ने कहा, “भारत के इस साल ब्रिक्‍स सम्‍मेलन का आयोजन का चीन समर्थन करता है। (चीन) भारत व अन्‍य ब्रिक्‍स देशों के साथ विभिन्‍न क्षेत्रों में संवाद और सहयोग बढ़ाना चाहता है। अर्थव्‍यवस्‍था, राजनीति और मानवता के ‘तीन पहियों वाली पहल’ को भी मजबूत करना चाहता है।”

गलवान घाटी झड़प का एक और वीडियो वायरल

वांग ने कहा कि ‘ब्रिक्स वैश्विक प्रभाव वाले नए बाजार देशों और विकासशील देशों का सहयोग तंत्र है। इधर के कुछ सालों में ब्रिक्स देशों की एकजुटता बढ़ रही है, व्यवहारिक सहयोग गहरा हो रहा है और प्रभाव निरंतर बढ़ रहा है, अब यह अंतरराष्ट्रीय मामले में एक सकारात्मक, स्थिर और रचनात्मक शक्ति बन गया है।’

समझौते के तहत चीन को कोई जमीन नहीं दी: केंद्र सरकार

भारत को इसी साल 2021 के लिए ब्रिक्‍स की अध्‍यक्षता मिली है और वह सम्‍मेलन अयोजित करेगा। 19 फरवरी को विदेश मंत्री एस जयशंकर ने नई दिल्‍ली स्थित सुषमा स्‍वराज भवन में BRICS 2021 की वेबसाइट लॉन्‍च की थी।

रिश्‍तों पर जमी बर्फ पिघलनी शुरू?
चीन ने ब्रिक्‍स देशों का सम्‍मेलन ऐसे वक्‍त में किया है जब सीमा पर उसकी सेना कदम पीछे खींच रही है। दोनों देशों के सैन्‍य कमांडर्स के बीच हुए समझौते के अनुसार, बॉर्डर पर तनाव से पहले वाली स्थिति बहाल करने की कोशिशें हो रही हैं। हालांकि चीन के हर कदम को भारत बेहद सावधानी से देख रहा है। सामरिक क्षेत्र का असर व्‍यापारिक व राजनीतिक क्षेत्रों पर भी पड़ा है। चीन से आए विदेशी प्रत्‍यक्ष निवेश (FDI) के बड़े प्रस्‍तावों की बारीकी से जांच परख होगी। इसके लिए एक कोऑर्डिनेशन कमिटी भी बनाई गई है।



Source link

इसे भी पढ़ें

बजरंग पूनिया ने कहा, ओलिंपिक तक सभी सोशल मीडिया हैंडल बंद कर रहा हूं

नई दिल्लीओलिंपिक की तैयारियों में लगे पहलवान बजरंग पूनिया ने सोमवार को घोषणा की कि वह जुलाई अगस्त में तोक्यो में होने वाले...

PHOTOS: ब्लैक स्विमसूट में मौनी रॉय ने उड़ाई फैन्स की नींद, इंटरनेट पर छाया बोल्ड अंदाज

मौनी रॉय फिल्म और टीवी इंडस्ट्री की उन बोल्ड ऐक्ट्रेसेस में से एक हैं, जिन्होंने अपनी ऐक्टिंग के दम पर लोगों के साथ-साथ...
- Advertisement -

Latest Articles

बजरंग पूनिया ने कहा, ओलिंपिक तक सभी सोशल मीडिया हैंडल बंद कर रहा हूं

नई दिल्लीओलिंपिक की तैयारियों में लगे पहलवान बजरंग पूनिया ने सोमवार को घोषणा की कि वह जुलाई अगस्त में तोक्यो में होने वाले...

PHOTOS: ब्लैक स्विमसूट में मौनी रॉय ने उड़ाई फैन्स की नींद, इंटरनेट पर छाया बोल्ड अंदाज

मौनी रॉय फिल्म और टीवी इंडस्ट्री की उन बोल्ड ऐक्ट्रेसेस में से एक हैं, जिन्होंने अपनी ऐक्टिंग के दम पर लोगों के साथ-साथ...

वैक्सीन लगाने के 4 दिन बाद किसी की मौत होती है तो टीका जिम्मेदार नहीं, जानें क्या बोले स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन

हाइलाइट्स:स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- वैक्सीनेशन के कुछ दिन बाद होने वाली मौत की होगी साइंटिफिक जांचहाई पावर्ड कमेटी ने माना- कोरोना वैक्सीन से...

कंगना रनौत ने याद किया अपना बचपन तो लोग बोले- तंग आ गए नई कहानियों से

बॉलिवुड ऐक्ट्रेस कंगना रनौत आजकल सोशल मीडिया पर काफी ऐक्टिव रहती हैं। यूं तो कंगना की पोस्ट्स को उनके फैन्स काफी पसंद करते...