Friday, March 5, 2021

भेदभाव मुक्त समाज की गुरू रविदास की संकल्पना के लिए काम करना सभी का कर्तव्य : राष्ट्रपति कोविंद

- Advertisement -


नई दिल्ली
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने संत गुरू रविदास की समता-मूलक और भेदभाव-मुक्त समाज की संकल्पना को रेखांकित करते हुए रविवार को कहा कि ऐसे समाज एवं राष्ट्र के निर्माण के लिये संकल्पबद्ध होकर काम करना सभी देशवासियों का कर्तव्य है जहां समाज में समता रहे और सभी लोगों की मूलभूत आवश्यकताएं पूरी हों । ‘श्री गुरू रविदास विश्व महापीठ राष्ट्रीय अधिवेशन’ को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने कहा, ‘गुरू रविदास जी ने समता-मूलक और भेदभाव-मुक्त सुखमय समाज की कल्पना की थी । ऐसे में सभी देशवासियों का यह कर्तव्य है कि हम सभी ऐसे ही समाज एवं राष्ट्र के निर्माण के लिये संकल्पबद्ध होकर कार्य करें और संत रविदास के सच्चे साथी कहलाने के योग्य बनें।’

उन्होंने कहा कि अच्छा इंसान वह है जो संवेदनशील है, समाज की मानवोचित मर्यादाओं का सम्मान तथा कायदे-कानून और संविधान का पालन करता है। कोविंद ने कहा कि हमारे संविधान के प्रमुख शिल्पी बाबासाहब डॉक्टर भीमराव आंबेडकर ने संत रविदास की संत-वाणी में व्यक्त अनेक आदर्शों को संवैधानिक स्वरूप प्रदान किया है। राष्ट्रपति ने कहा कि संत रविदास ने अपनी करुणा और प्रेम की परिधि से समाज के किसी भी व्यक्ति या वर्ग को बाहर नहीं रखा था। उन्होंने कहा, ‘यदि ऐसे संत शिरोमणि रविदास को किसी विशेष समुदाय तक बांध कर रखा जाता है तो, मेरे विचार से, ऐसा करना, उनकी सर्व-समावेशी उदारता के अनुसार नहीं है।’

गुरु रविदास के जीवन दर्शन, सामाजिक-सांस्कृतिक मूल्यों को वर्तमान समय में प्रासंगिक बताते हुए राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि संत की न कोई जाति होती है, न संप्रदाय और न ही कोई क्षेत्र बल्कि पूरी मानवता का कल्याण ही उनका कार्य क्षेत्र होता है। इसीलिए संत का आचरण सभी प्रकार के भेद-भाव तथा संकीर्णताओं से परे होता है। उन्होंने कहा, ‘मुझे यह देखकर प्रसन्नता होती है कि सामाजिक न्याय, स्वतन्त्रता, समता तथा बंधुता के हमारे संवैधानिक मूल्य भी उनके आदर्शों के अनुरूप ही हैं।’ उन्होंने कहा कि संत रविदास यह कामना करते थे कि समाज में समता रहे तथा सभी लोगों की मूलभूत आवश्यकताएं पूरी हों। उन्होंने गुरु नानक और संत रविदास के सत्संग के अनेक विवरणों का उल्लेख भी किया।



Source link

इसे भी पढ़ें

Quad: चीन को घेरने की तैयारी पूरी, जो बाइडेन, पीएम मोदी, मॉरिशन और जापानी प्रधानमंत्री पहली बार करेंगे बैठक

हाइलाइट्स:दक्षिण चीन सागर से लेकर पूर्वी लद्दाख तक दादागिरी दिखा रहे चीन को घेरने की तैयारी पूरी ऑस्‍ट्रेलिया के प्रधानमंत्री ने ऐलान किया...

Earth’s Core: धरती की चार नहीं, पांच हैं परतें…4.5 अरब साल पहले की अनजान घटना और छिपी हुई संरचना के संकेत मिले

कैनबेरा अभी तक माना जाता रहा है कि धरती के अंदर चार परतें होती हैं- क्रस्ट, मैंटल, बाहरी कोर और अंदरूनी कोर। हालांकि, ऑस्ट्रेलिया...
- Advertisement -

Latest Articles

Quad: चीन को घेरने की तैयारी पूरी, जो बाइडेन, पीएम मोदी, मॉरिशन और जापानी प्रधानमंत्री पहली बार करेंगे बैठक

हाइलाइट्स:दक्षिण चीन सागर से लेकर पूर्वी लद्दाख तक दादागिरी दिखा रहे चीन को घेरने की तैयारी पूरी ऑस्‍ट्रेलिया के प्रधानमंत्री ने ऐलान किया...

Earth’s Core: धरती की चार नहीं, पांच हैं परतें…4.5 अरब साल पहले की अनजान घटना और छिपी हुई संरचना के संकेत मिले

कैनबेरा अभी तक माना जाता रहा है कि धरती के अंदर चार परतें होती हैं- क्रस्ट, मैंटल, बाहरी कोर और अंदरूनी कोर। हालांकि, ऑस्ट्रेलिया...

डिफेंस लेवल की सिक्यॉरिटी वाला Samsung Galaxy xCover 5 स्मार्टफोन लॉन्च

हाइलाइट्स:गैलेक्सी एक्सकवर 5 एक रग्ड स्मार्टफोन हैयह हैंडसेट IP 68 रेटिंग के साथ आता हैफोन में ग्लोव-टच फीचर भी दिया गया हैनई दिल्लीSamsung...

किराये पर मिल रहा है लेडी गागा का घर, महीने का रेंट जान होश फाख्‍ता हो जाएंगे

सिलेब्रिटीज के आलीशान घर देखकर हम सभी आंहे भरते हैं। लेकिन कैसा हो यदि किसी सिलेब्रिटी के घर में किराये पर रहने का...