Tuesday, November 24, 2020

मल्लिकार्जुन खड़गे ने सहयोगियों पर ही लगाया कांग्रेस को ‘तबाह’ करने का आरोप, बोले- बहुत दुखी हूं

- Advertisement -


नई दिल्ली
कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व में इन दिनों लगातार उठापटक चल रही है। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने बिहार चुनाव के नतीजों के बाद पार्टी को आत्मविश्लेषण की सलाह दी तो बंगाल कांग्रेस के अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि उन्हें पार्टी छोड़ देनी चाहिए। अब मल्लिकार्जुन खड़गे ने गुरुवार को अपने ही साथियों (कांग्रेस नेताओं) को जमकर लताड़ लगाई है। मल्लिकार्जुन खड़गे ने पार्टी को कमजोर करने के लिए कांग्रेस नेताओं को ही जिम्मेदार ठहराया और बतौर पार्टी के नेता होने की विश्वसनीयता पर भी सवाल खड़ा किया।

पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के जन्मदिन के मौके पर खड़गे ने कहा, ‘मैं कुछ वरिष्ठ नेताओं (कांग्रेस पार्टी के नेता) की ओर से पार्टी (कांग्रेस) और हमारे नेताओं को लेकर दिए गए बयानों की वजह से आहत हूं।’ उन्होंने कहा, ‘एक तरफ हमारे सामने बीजेपी-आरएसएस की चुनौती है और दूसरी तरफ हमारी पार्टी की आंतरिक कलह। जब तक हमें हमारे ही लोग कमजोर करते रहेंगे तबतक हम आगे नहीं बढ़ सकते हैं। यदि हमारी विचारधारा कमजोर होती ह तो हम खत्म हो जाएंगे।’

पढ़ें: बिहार चुनाव में कांग्रेस की दुर्गति पर पार्टी में बढ़ी कलह

गहलोत ने सिब्बल की आलोचना
‘आत्मविश्लेषण’ की सलाह पर राजस्थान के मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता अशोक गहलोत ने सिलसिलेवार ट्वीट कर सिब्बल की आलोचना की है। उन्हें नसीहत दी है कि वह पार्टी के आंतरिक मसलों की सार्वजनिक रूप से चर्चा न करें, नेतृत्व में विश्वास रखें। अतीत के उदाहरणों का जिक्र करते हुए गहलोत ने ट्वीट किया है कि जब-जब संकट आया है, कांग्रेस पहले से भी मजबूत होकर उभरी है। इस क्रम में उन्होंने एक तरह से कबूल भी कर लिया है कि पार्टी संकट के दौर से गुजर रही है।

पढ़ें: बिहार चुनाव पर कपिल सिब्बल की ‘सलाह’, अधीर रंजन चौधरी बोले…

कपिल सिब्बल को हमारे आंतरिक मसलों की मीडिया में चर्चा की कोई जरूरत नहीं थी। इसने देशभर में पार्टी कार्यकर्ताओं की भावनाओं को आहत किया है।

अशोक गहलोत, मुख्यमंत्री, राजस्थान सरकार

‘…तो पार्टी छोड़ दें कपिल सिब्बल’
उधर, पश्चिम बंगाल के कांग्रेस अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने कहा, ‘सावर्जनिक तौर पर पार्टी की फजीहत कराने के बजाए सिब्बल पार्टी के भीतर मुद्दा उठा सकते थे। वह वरिष्ठ नेता हैं और पार्टी के शीर्ष नेताओं तक उनकी पहुंच है।’ चौधरी ने कहा, ‘पार्टी के कामकाज से जो लोग खुश नहीं हैं और अगर उन्हें लगता है कि कांग्रेस उनके लिए उपयुक्त स्थान नहीं है तो वो अपनी नई पार्टी बना सकते हैं या अपनी मर्जी से किसी भी पार्टी में शामिल हो सकते हैं।’



Source link

इसे भी पढ़ें

Aus vs Ind: सीरीज से पहले बोले शुभमन गिल, ऑस्ट्रेलिया दौरे की कड़ी चुनौती के लिए तैयार हूं

सिडनी युवा क्रिकेटर शुभमन गिल ऑस्ट्रेलिया की कड़ी चुनौती से निपटने के लिये तैयार हैं लेकिन उन्होंने आगामी दौरे के लिये कोई व्यक्तिगत लक्ष्य...

ISL 2020-21: हैदराबाद की विजयी शुरुआत, ओडिशा को 1-0 से हराया

बेम्बोलिम पदार्पण कर रहे एड्रियाने संताना के पेनल्टी स्पॉट पर किये गये गोल से हैदराबाद एफसी ने सोमवार को यहां इंडियन सुपर लीग (आईएसएल)...

भ्रष्ट अफसर को CM योगी ने दी ‘सजा’, SDM से डिमोट कर तहसीलदार बनाया, अभी कई और पर गिरेगी गाज

लखनऊमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चारागाह की जमीन निजी बिल्डर को सौंपने वाले एसडीएम के खिलाफ कड़ा ऐक्शन लिया है। मुख्यमंत्री ने भ्रष्टाचार के...
- Advertisement -

Latest Articles

Aus vs Ind: सीरीज से पहले बोले शुभमन गिल, ऑस्ट्रेलिया दौरे की कड़ी चुनौती के लिए तैयार हूं

सिडनी युवा क्रिकेटर शुभमन गिल ऑस्ट्रेलिया की कड़ी चुनौती से निपटने के लिये तैयार हैं लेकिन उन्होंने आगामी दौरे के लिये कोई व्यक्तिगत लक्ष्य...

ISL 2020-21: हैदराबाद की विजयी शुरुआत, ओडिशा को 1-0 से हराया

बेम्बोलिम पदार्पण कर रहे एड्रियाने संताना के पेनल्टी स्पॉट पर किये गये गोल से हैदराबाद एफसी ने सोमवार को यहां इंडियन सुपर लीग (आईएसएल)...

भ्रष्ट अफसर को CM योगी ने दी ‘सजा’, SDM से डिमोट कर तहसीलदार बनाया, अभी कई और पर गिरेगी गाज

लखनऊमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चारागाह की जमीन निजी बिल्डर को सौंपने वाले एसडीएम के खिलाफ कड़ा ऐक्शन लिया है। मुख्यमंत्री ने भ्रष्टाचार के...