Thursday, June 17, 2021

योग गुरू रामदेव ने माना- इमरजेंसी में एलोपैथी है बेहतर, बोले- डॉक्टरों के खिलाफ नहीं, ड्रग माफियाओं से लड़ते रहेंगे

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • बाबा रामदेव ने माना, इमरजेंसी में एलोपैथी बेहतर इलाज है
  • बाबा ने कहा, मेरी लड़ाई डॉक्टरोंसे नहीं, ड्रग माफिया से है
  • रामदेव बोले, सभी डॉक्टर धरती पर भगवान के भेजे दूत हैं

देवेश सागर, हरिद्वार
योग गुरु रामदेव ने बुधवार को यह माना है कि इमरजेंसी उपचार में एलोपैथिक ज्यादा बेहतर है। उन्होंने इस दौरान ड्रग माफियाओं पर एक बार फिर हमला बोला और कहा कि उनकी लड़ाई देश के डॉक्टरों के खिलाफ नहीं है बल्कि ड्रग माफियाओं के खिलाफ है और यह निरंतर जारी रहेगी। आईएमए पर भी निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि उनका तो इलाज हो गया। हमारी लड़ाई देश के डॉक्टरों से नहीं है। जो भी डॉक्टर हमारा विरोध कर रहे हैं, वह किसी संस्था के माध्यम से विरोध नहीं कर रहे हैं।

आयुर्वेद और एलोपैथिक विवाद के बाद रामदेव ने एक बार फिर से ड्रग माफियाओं के खिलाफ मोर्चा खोला है। रामदेव का कहना है कि ड्रग माफियाओं पर कार्रवाई होनी चाहिए। आईएमए का भी इलाज हो गया, यह बहुत ही अच्छी बात है। उन्होंने कहा कि ड्रग माफियाओं के खिलाफ हमारी मुहिम शुरू हो गई है। हमारी दुश्मनी किसी भी संगठन से नहीं है। देश के जितने भी डॉक्टर हैं वह धरती पर भगवान के भेजे हुए देवदूत हैं।

जल्दी ही कोरोना वैक्सीन लगवाऊंगाः रामदेव
रामदेव ने कहा कि प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र इसीलिए खोले गए हैं कि ड्रग माफिया भारी दामों पर अपनी दवाइयां न भेज सकें। उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की है कि 21 जून से सबको वैक्सीन लगेगी। सभी वैक्सीन लगवाएं और साथ ही योग और आयुर्वेद के माध्यम से सुरक्षा कवच तैयार करें। इससे एक भी कोरोना से मौत नहीं होगी। रामदेव ने कहा, ‘मैं भी जल्दी कोरोना की वैक्सीन लगवाऊंगा।’

उन्होंने कहा कि कोरोना कर्फ्यू में राज्य सरकार की ओर से कुछ छूट दी गई है लेकिन अभी चार धाम यात्रा की शुरूआत नहीं हो सकी है। सरकार को अब कोरोना के नियमों का पालन करते हुए चार धाम यात्रा शुरू करनी चाहिए। कोरोना महामारी की चुनौती में व्यापार पर असर नहीं पड़ना चाहिए।

योगगुरु रामदेव



Source link

इसे भी पढ़ें

- Advertisement -

Latest Articles