Wednesday, January 27, 2021

सैनिक स्कूल के इस छात्र की बहादुरी को सलाम, जान देकर बचाई 3 बच्चों की जिंदगी, सेना ने भी किया सैल्यूट

- Advertisement -


प्रणय राज, नालंदा
बिहार के नालंदा (Nalanda) में एक सैनिक स्कूल छात्र (Army School) ने अपनी जान देकर अपनी तीन बच्चों की जान बचा ली। मामला पिछले महीने दिसंबर का है, जब रहुई थाने के पेसौर गांव का था जब खाना बनाने के दौरान एक घर में आग लग गई। इसमें दो लड़कियों समेत तीन बच्चे फंस गए। जानकारी के मुताबिक, उन्हें बचाने के लिए 15 वर्षीय अमित राज (Army School Student Amit Raj) ने तुरंत छलांग लगा दी। अपनी जान पर खेलकर अमित ने दो लड़कियों समेत तीन बच्चों को बचा लिया। हालांकि, इस दौरान अमित बुरी तरह झुलस गया।

नालंदा के रहने वाले थे 15 वर्षीय अमित
परिजनों के मुताबिक, अमित को तुरंत ही बिहारशरीफ रेफर किया गया। जहां स्थिति की गंभीरता को देखते हुए बेहतर इलाज के लिए पटना भेज दिया गया। सैनिक स्कूल के सहयोग से एयर एंबुलेंस के जरिए दिल्ली सफदरगंज अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालांकि, बाद में अमित अपनी जिंदगी की जंग हार गया। भले ही 15 वर्षीय अमित अब इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन अपनी जान देकर भी उन्होंने तीन जिंदगियां बचा लीं। उनकी बहादुरी की चर्चा हर ओर है।

इसे भी पढ़ें:- एक दिन में 30 लोगों को काटने वाले बंदर को वन विभाग ने कैसे पकड़ा, देखिए LIVE VIDEO

भारतीय सेना ने भी ट्वीट कर बहादुरी को किया सैल्यूट
भारतीय सेना ने भी ट्वीट करके अमित की बहादुरी को सैल्यूट किया है। ट्वीट में लिखा, ’15 वर्षीय कैडेट अमित राज ने 3 बच्चों की जिंदगी बचाने के लिए अपना जीवन बलिदान कर दिया। उनका ये बलिदान आने वाली पीढ़ियों को प्रेरित करता रहेगा, भारतीय सेना इस बहादुर के बलिदान को सैल्यूट करता है।’ वहीं अमित के बहादुरी की चर्चा सोशल मीडिया पर भी लगातार जारी है।

Samastipur News: कम समय में रुपये दोगुने करने का दिया लालच, कृषि फाइनेंस कंपनी लाखों की चपत लगा हुई फरार

पुरुलिया बंगाल के छात्र थे अमित राज, परिजनों ने की ये मांग
अमित राज सैनिक स्कूल पुरुलिया बंगाल के छात्र थे। जिस समय ये घटनाक्रम हुआ वह सुबह में टहलने जा रहे थे। अमित राज के माता पिता जहां बेटे के मौत से दुखी हैं, वहीं दूसरी ओर उन्हें इस बात का गर्व भी हैं कि हमारा बेटा सैनिक का स्कूल का छात्र था। उसने एक सैनिक की तरह वीरता का परिचय देते हुए अपनी जान पर खेलकर बच्चियों की जिंदगी को बचाया है। उन्होंने कहा कि हमारे बेटे को भी सरकार वीरता पुरस्कार से नवाजे।

घर की माली हालत को देखकर यह सहज अंदाजा लगाया जा सकता है कि अमित राज के माता-पिता निहायत ही गरीब हैं। अमित की बहन राखी कुमारी ने कहा के हम सबको अपने भाई पर नाज है जिसने अपनी जान की बाजी लगाकर जिंदगियां बचाई है। हमारे भाई के प्रति अगर कोई मदद ही करना चाहें तो उसे शौर्य का पुरस्कार दिया जाए। हमें किसी प्रकार के आर्थिक मदद की आवश्यकता नहीं है।

744



Source link

इसे भी पढ़ें

पॉल स्टर्लिंग के शतक पर भारी राशिद खान, अफगानिस्तान ने आयरलैंड को हरा जीती वनडे सीरीज

अबु धाबीपॉल स्टर्लिंग (118) के धांसू शतक पर करिश्माई स्पिनर राशिद खान (48 रन और 29/4) की घातक बोलिंग भारी पड़ गई। अफगानिस्तान...

किसान प्रदर्शन के बीच लाल किले की घटना से सनी देओल दुखी , कहा- दीप सिद्धू से कोई संबंध नहीं है

गणतंत्र दिवस परेड के बीच राजधानी दिल्‍ली में अलग-अलग जगहों पर प्रदर्शनकारी किसानों और पुलिस के बीच झड़प हो गई। भारी संख्या में...
- Advertisement -

Latest Articles

पॉल स्टर्लिंग के शतक पर भारी राशिद खान, अफगानिस्तान ने आयरलैंड को हरा जीती वनडे सीरीज

अबु धाबीपॉल स्टर्लिंग (118) के धांसू शतक पर करिश्माई स्पिनर राशिद खान (48 रन और 29/4) की घातक बोलिंग भारी पड़ गई। अफगानिस्तान...

किसान प्रदर्शन के बीच लाल किले की घटना से सनी देओल दुखी , कहा- दीप सिद्धू से कोई संबंध नहीं है

गणतंत्र दिवस परेड के बीच राजधानी दिल्‍ली में अलग-अलग जगहों पर प्रदर्शनकारी किसानों और पुलिस के बीच झड़प हो गई। भारी संख्या में...

Imran Butt Catch: पाकिस्तानी डेब्यू स्टार इमरान बट्ट का ऐसा कैच, बल्लेबाज ही नहीं दर्शक भी हैरान

कराचीपाकिस्तान क्रिकेट टीम ने पहले टेस्ट के पहले दिन मंगलवार को दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी 220 रनों पर समेट दी लेकिन जवाब...