Tuesday, December 1, 2020

सैनिटाइजर से ज्यादा सुरक्षित और कारगर है साबुन, डॉक्टरों ने बताई वजह

- Advertisement -


नई दिल्ली
कोरोना को फैलने से रोकने में हाथ को संक्रमण मुक्त रखना अहम है। कुछ अंतराल के बाद साबुन और पानी से हाथ धोना सबसे अहम है। मगर कोरोना संक्रमण के बढ़ने के साथ सैनिटाइजर का प्रयोग काफी बढ़ गया है। हर कोई जेब में सैनिटाइजर लेकर चलता है और घरों से लेकर कारोबारी संस्थानों में सैनिटाइजर का उपयोग बढ़ा है। मगर डॉक्टरों के मुताबिक सैनिटाइजर को तभी प्रयोग करना चाहिए, जब साबुन और पानी उपलब्ध न हो। हमेशा के लिए साबुन और पानी का विकल्प बना कर सैनिटाइजर को प्रयोग नहीं करना चाहिए।

दरअसल सैनिटाइजर का बेसिक कॉन्सेप्ट किसी सतह को स्टेरलाइज्ड करना होता है। सैनिटाइजर किसी भी सतह को वायरस, बैक्टीरिया, फंगस जैसी चीजों से फ्री कर देता। यहां तक डीएन, आरएन जैसी बेहद बारीक चीजें भी साफ हो जाती हैं। राम मनोहर लोहिया (आरएमएल) अस्पताल के त्वचा विशेषज्ञ डॉ कबीर सरदाना के मुताबिक सैनिटाइजर का सीमित इस्तेमाल ही करना चाहिए, क्योंकि ज्यादा इस्तेमाल करने से बॉडी के सेल्स का वाटर कंटेंट मर जाता है। अगर सैनिटाइजर को ओवर यूज करते हैं, तो यह पानी खींच लेता है, इससे स्किन ड्राई हो सकती है। इसलिए अल्कोहल में कभी-कभी ग्लिसरीन मिलाया जाता है, ताकि स्किन सूखे नहीं।

सैनिटाइजर का असर कितनी देर तक रहता है?
सैनिटाइजर को हाथ या सतह में लगाने के साथ ही वहां मौजूद बैक्टीरिया और वायरस मर जाते हैं। लेकिन सैनिटाइजर का असर तीन से चार मिनट तक ही रहता है। इसके बाद इसमें मौजूद अल्कोहल उड़ जाता है।इसलिए सैनिटाइजर के इस्तेमाल के बाद जैसे ही आपने दोबारा किसी सतह को छुआ, तो आप फिर बैक्टीरिया या वायरस के संपर्क में आ सकते हैं।

अधिक प्रयोग करने से हो सकती है कई त्वचा सम्बन्धी समस्याएं
हर चीज का फायदा होता है तो उसके कुछ नुकसान भी होते हैं। सैनिटाइजर के साथ भी ऐसा ही है। यह हाथों को संक्रमण मुक्त बनाने का काम तो करता है, मगर साथ ही त्वचा के लिए अच्छा नहीं होता है। जिनकी त्वचा संवेदनशील होती है, उनको इसके प्रयोग से त्वचा में जलन, खुजली, रैशेस, क्रैक जैसी समस्याएं हो सकती है। कोरोना संक्रमण के खत्म करने के लिए एल्कोहल बेस्ड सैनिटाइजर का प्रयोग बताया जाता है। मगर अल्कोहल काफी मात्र में होने से सैनिटाइजर हाथों को शुष्क कर देता है।

अधिक इस्तेमाल से और स्ट्रांग बैक्टीरिया हो सकते हैं उत्पन्न
रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र के अनुसार, एंटी-बैक्टीरियल तत्व के साथ आने वाले हैंड सैनिटाइजर कई बार एंटीबायोटिक-प्रतिरोधी बैक्टीरिया को विकसित कर सकते हैं। इसलिए इस तरह के बैक्टीरिया न उत्पन्न हो इसके लिए सैनिटाइजर की जगह साबुन और पानी से हाथ धोने को वरीयता दें।

अल्कोहल पोइजनिंग का बढ़ता है खतरा
अगर हैंड सैनिटाइजर गलती से मुंह के अंदर चला जाए तो यह परेशानी का कारण बन सकता है। इस मामले में बच्चे सबसे ज्यादा खतरे में होते हैं। सेंटेड हैंड सैनिटाइजर बच्चों को आकर्षित करते हैं और अट्रैक्टिव पैकेज, ब्राइट कलर होने के कारण बच्चे इसके पास जाते हैं। इसलिए इन्हें बच्चों की पहुंच से दूर रखें।



Source link

इसे भी पढ़ें

SCO की बैठक में पाकिस्तान का दिखावा, आतंकवाद की सार्वजनिक निंदा की

इस्लामाबादपाकिस्तान ने भारत की मेजबानी में सोमवार को आयोजित शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) डिजिटल बैठक के दौरान आतंकवाद के सभी रूपों की निंदा...

पुलिस ने माराडोना के निजी डॉक्टर के घर और क्लीनिक की तलाशी ली

ब्यूनस आयर्सअर्जेंटीना पुलिस ने फुटबॉल स्टार डिएगो माराडोना के निधन की जांच में उनके निजी डॉक्टर के घर और क्लीनिक की तलाशी ली।...

नाराज चैनल 7 ने कहा, बीसीसीआई से डरता है क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया

मेलबर्नक्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और चैनल सेवन के बीच विवाद बढता ही जा रहा है और अब प्रसारक ने दोनों बोर्ड के बीच संवाद की...
- Advertisement -

Latest Articles

SCO की बैठक में पाकिस्तान का दिखावा, आतंकवाद की सार्वजनिक निंदा की

इस्लामाबादपाकिस्तान ने भारत की मेजबानी में सोमवार को आयोजित शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) डिजिटल बैठक के दौरान आतंकवाद के सभी रूपों की निंदा...

पुलिस ने माराडोना के निजी डॉक्टर के घर और क्लीनिक की तलाशी ली

ब्यूनस आयर्सअर्जेंटीना पुलिस ने फुटबॉल स्टार डिएगो माराडोना के निधन की जांच में उनके निजी डॉक्टर के घर और क्लीनिक की तलाशी ली।...

नाराज चैनल 7 ने कहा, बीसीसीआई से डरता है क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया

मेलबर्नक्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और चैनल सेवन के बीच विवाद बढता ही जा रहा है और अब प्रसारक ने दोनों बोर्ड के बीच संवाद की...

इस पाकिस्तानी नेता से शादी करना चाहती है दाऊद की ‘गर्लफ्रेंड’? इंटरव्यू में खोला राज!

अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम की कथित गर्लफ्रेंड महविश हयात इन दिनों शादी को लेकर दिए गए अपने बयान के कारण फिर चर्चा में...