Saturday, January 23, 2021

‘हम अपने हाथों पर किसी का खून नहीं चाहते’, सप्रीम कोर्ट ने कृषि कानूनों पर कहीं ये बड़ी बातें

- Advertisement -


नई दिल्ली
सुप्रीम कोर्ट ने कड़ाके की सर्दी में दिल्ली की सीमाओं पर धरना दे रहे किसानों की स्थिति पर चिंता जताते हुए सोमवार को आशंका व्यक्त की कि कृषि कानूनों के खिलाफ यह आन्दोलन अगर ज्यादा लंबा चला तो यह हिंसक हो सकता है और इसमें जान माल का नुकसान हो सकता है। न्यायालय ने कहा, ‘हम नहीं चाहते कि हमारे हाथों पर किसी का खून लगे।’ साथ ही प्रधान न्यायाधीश एस ए बोबडे ने सर्दी और कोविड-19 महामारी के मद्देनजर कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलनरत वृद्ध किसानों, महिलाओं और बच्चों से अपने घरों को लौटने का आग्रह किया।

उन्होंने किसानों को समझाने का आग्रह करते हुए कहा कि लोग सर्दी और महामारी की स्थिति से परेशानी में हैं। किसानों के लिए सर्दी से न सही, लेकिन कोविड-19 का खतरा तो है। प्रधान न्यायाधीश एस ए बोबडे, न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना और न्यायमूर्ति वी रामासुब्रमणियन की पीठ ने कृषि कानूनों के विरोध में किसानों के आन्दोलन से उत्पन्न स्थिति पर चिंता व्यक्त करते हुए सरकार और किसान संगठनों के बीच अब तक वार्ता पर गहरी निराशा व्यक्त की और टिप्पणी की।

किसान आंदोलन: केंद्र को SC की फटकार, कांग्रेस को मिला मौका

सुप्रीम कोर्ट ने अपनी टिप्पणी में कहा, ‘केंद्र ने बगैर पर्याप्त सलाह मशविरे के ही ये कानून बना दिए। पीठ ने कहा कि वह इस मुद्दे पर किसी प्रकार की हिंसा और लोगों की जान जाने की संभावना को लेकर चिंतित है।’ पीठ ने कहा, ‘हम सभी पर इसकी जिम्मेदारी है। एक छोटी सी घटना भी हिंसा भड़का सकती है। अगर कुछ भी गलत हो गया तो हम सभी इसके लिए जिम्मेदार होंगे। हम नहीं चाहते कि हमारे हाथों पर किसी का खून लगा हो।’

साथ ही पीठ ने कहा कि वह कानून तोड़ने वाले किसी का बचाने नहीं जा रही, वह लोगों की जान-माल की हिफाजत चाहती है। वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सुनवाई के दौरान पीठ ने केंद्र से इन कानूनों को बनाने के लिए अपनाई गयी सलाह मशविरे की प्रक्रिया के बारे में जानना चाहा। पीठ ने कहा कि इस गतिरोध को दूर करने के लिए बातचीत की प्रक्रिया से वह बहुत ही निराश है।

किसान आंदोलन पर सोनिया गांधी ने पूरे विपक्ष से की साथ आने की अपील

पीठ ने कहा, ‘आपने पर्याप्त सलाह मशविरे के बगैर ही इन कानूनों को बनाया है। अत: आप ही इस आन्दोलन का हल निकालें। हमें नहीं मालूम कि ये कानून बनाने से पहले आपने विचार-विमर्श का कौन सा तरीका अपनाया। कई राज्य इसके खिलाफ आवाज उठा रहे हैं।’ शीर्ष अदालत ने इस गतिरोध को दूर करने के लिए देश के पूर्व प्रधान न्यायाधीश की अध्यक्षता में एक समिति गठित करने का सुझाव दिया। पीठ ने कहा कि पूर्व प्रधान न्यायाधीश आर एम लोढा से पूछा जा सकता है कि क्या वह इस समिति की अध्यक्षता के लिए तैयार हैं।

पीठ ने कहा कि उसने पूर्व प्रधान न्यायाधीश पी सदाशिवम से बात की थी लेकिन उन्होंने यह कहते हुए इंकार कर दिया कि उन्हें हिन्दी समझने में दिक्कत है। पीठ ने सॉलिसीटर जनरल से कहा कि वह दो तीन पूर्व प्रधान न्यायाधीशों के नाम बताएं जो न्यायालय की ओर से नियुक्त समिति की अध्यक्षता कर सकें। मेहता ने पीठ से कहा कि जब बैठक में शामिल होने के लिए मंत्री बैठते हैं, तो सरकार के साथ बातचीत के लिए आने वाले किसानों के प्रतिनिधियों में से कुछ अपनी कुर्सियां घुमाकर या अपनी आंखों और कानों को ढंक कर बैठ जाते हैं।



Source link

इसे भी पढ़ें

मुश्किल दौर से गुजर रही हैं साइना, वापसी आसान नहीं : कोच विमल कुमार

नई दिल्लीपूर्व राष्ट्रीय चैम्पियन और कोच यू. विमल कुमार ने कहा है कि लंदन ओलिंपिक की कांस्य पदक विजेता साइना नेहवाल अपने करियर...

अलीबाग जाते समय वरुण धवन की कार का हुआ ऐक्सिडेंट

बॉलिवुड ऐक्टर वरुण धवन अपनी गर्लफ्रेंड नताशा दलाल के साथ 24 जनवरी को शादी करने जा रहे हैं। उनकी शादी की रस्में अलीबाग...

Shubman Gill Photo Viral: शुभमन गिल लंबे समय बाद पहुंचे घर, शेयर की फैमिली के साथ स्वीट तस्वीर

नई दिल्लीटीम इंडिया की बैटिंग लाइन अप की नई सनसनी माने जा रहे शुभमन गिल लंबे समय बाद घर पहुंच गए हैं। ऑस्ट्रेलिया...
- Advertisement -

Latest Articles

मुश्किल दौर से गुजर रही हैं साइना, वापसी आसान नहीं : कोच विमल कुमार

नई दिल्लीपूर्व राष्ट्रीय चैम्पियन और कोच यू. विमल कुमार ने कहा है कि लंदन ओलिंपिक की कांस्य पदक विजेता साइना नेहवाल अपने करियर...

अलीबाग जाते समय वरुण धवन की कार का हुआ ऐक्सिडेंट

बॉलिवुड ऐक्टर वरुण धवन अपनी गर्लफ्रेंड नताशा दलाल के साथ 24 जनवरी को शादी करने जा रहे हैं। उनकी शादी की रस्में अलीबाग...

Shubman Gill Photo Viral: शुभमन गिल लंबे समय बाद पहुंचे घर, शेयर की फैमिली के साथ स्वीट तस्वीर

नई दिल्लीटीम इंडिया की बैटिंग लाइन अप की नई सनसनी माने जा रहे शुभमन गिल लंबे समय बाद घर पहुंच गए हैं। ऑस्ट्रेलिया...

चीन ने फिर भेजा H-6K परमाणु बॉम्बर्स का बेड़ा, ऐक्शन में आए ताइवान ने दिखाईं मिसाइलें

ताइपेचीन ने एक बार फिर ताइवान के वायुक्षेत्र में अपने 8 एच-6के परमाणु बॉम्बर्स को उड़ाया है। जिसके बाद ऐक्शन में आए ताइवान...