Saturday, April 17, 2021

Assam Assembly Election 2021: अब्‍दुर रहीम अजमल के ‘दाढी, टोपी, लुंगीवालों की सरकार आएगी’… बयान पर वीएचपी बोली- यह है जिहादी मानसिकता

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • असम में कांग्रेस की सहयोगी पार्टी एआईयूडीएफ के अब्‍दुर रहीम अजमल ने एक विवादास्‍पद बयान दिया है
  • अब्‍दुर रहीम अजमल ने कहा कि अगली सरकार चलाने वाले दाढ़ी, टोपी और लुंगी पहनने वाले होंगे
  • उनके इस बयान की विश्‍व हिंदू परिषद ने जमकर आलोचना करते हुए इसे जिहादी मानसिकता कहा है

गुवाहाटी
असम में कांग्रेस की सहयोगी पार्टी एआईयूडीएफ के प्रमुख बदरुद्दीन अजमल के अजीबोगरीब बयान के बाद अब उनके बेटे अब्‍दुर रहीम अजमल ने भी विवादास्‍पद बयान दिया है। अब्‍दुर रहीम अजमल ने अपने उम्‍मीदवार का प्रचार करते हुए कहा कि अगली सरकार चलाने वाले दाढ़ी, टोपी और लुंगी पहनने वाले होंगे। इसकी विश्‍व हिंदू परिषद ने जमकर आलोचना करते हुए इसे जिहादी मानसिकता कहा।

शुक्रवार को भवानीपुर के बजाली जिले में अब्‍दुर रहीम अजमल ने कहा, ‘हम दाढ़ी, टोपी, लुंगी पहनने वाले लोग सरकार बनाएंगे। हमारी मां बहनों के दुपट्टे की इज्‍जत करनी होगी। हमारी मांओं और बहनों के बुर्के की इज्‍जत करनी होगी।’ राजनीतिक विश्‍लेषकों का कहना है कि अब्‍दुर रहीम अजमल ने जो वेशभूषा बताई है वह असम में बंगाली बोलने वाले प्रवासी मुसलमानों की है। असम में ये प्रवासी बड़ा मुद्दा बने हुए हैं।

जनसंख्या विस्फोट पर AIUDF चीफ बदरुद्दीन अजमल का बेतुका बयान, बोले- गरीब रात को उठेगा तो बच्चे ही पैदा करेगा

वीएचपी प्रवक्‍ता बोले- असम नहीं बनेगा जिहादी स्‍टेट
इस मुद्दे पर विश्‍व हिंदू पर‍िषद के प्रवक्‍ता विनोद बंसल ने कहा, ‘यह कह कर अब्‍दुर रहमान अजमल ने अपनी जिहादी मानसिकता को उजागर किया है। अजमल ने यह कह कर तय कर दिया कि असम में केवल मुसलमान ही मुख्‍यमंत्री बनेगा। असम की जनता अच्‍छी तरह जानती है कि आप बुर्के से मुक्ति की बात नहीं करते। जब तक उन बहनों को बुर्के से, तीन तलाक से, हलाला से, खतने से मुक्ति दिलाने की बात नहीं करेंगे तब तक महिलाओं के लिए आपका बात करना शोभा नहीं देता। असम की बेटियां भी आपकी मानसिकता समझती हैं और असम के शेष मतदाता भी जानते हैं। असम को जिहादी स्‍टेट नहीं बनने दिया जाएगा।’

नड्डा ने भी राहुल से किया सवाल
बीजेपी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने भी परोक्ष रूप से बदरुद्दीन अजमल और उनके बेटे पर हमला करते हुए राहुल से पूछा, ‘बदरुद्दीन अजमल ने गमोसा (असम का पारंपरिक अंगोछा जैसा कपड़ा) फेंक दिया। अब क्‍या बदरुद्दीन अजमल असम की पहचान बन गए हैं? अवसरवाद की राजनीति करने वाले लोग बदरुद्दीन अजमल का हाथ पकड़ रहे हैं।’

पिता बदरुद्दीन ने भी दिया अजीब बयान
इससे पहले यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (AIUDF) के अध्यक्ष बदरुद्दीन अजमल ने जनंसख्या वृद्धि पर अजीबोगरीब बयान देते हुए कहा कि मन बहलाने का कोई साधन नहीं होने के कारण लोग ज्यादा बच्चे पैदा कर रहे हैं। अजमल ने यह बात विशेषकर मुस्लिम परिवारों के संदर्भ में कही। अब्‍दुर रहीम अजमल इन्‍हीं के बेटे हैं।

अपने पिता बदरुद्दीन अजमल के साथ अब्‍दुर रहीम अजमल (फाइल फोटो)



Source link

इसे भी पढ़ें

Dostana 2: कार्तिक आर्यन के सपॉर्ट में कंगना रनौत, कहा- सुशांत की तरह लटकने पर मजबूर मत करो

बॉलिवुड ऐक्टर कार्तिक आर्यन (Kartik Aaryan) इस समय सुर्खियों में हैं। दरअसल, वह धर्मा प्रॉडक्शन की फिल्म 'दोस्ताना 2' (Dostana 2) से बाहर...

SA vs PAK 4th T20I: फखर जमां की तूफानी फिफ्टी, पाकिस्तान ने साउथ अफ्रीका को 3 विकेट से हराया

सेंचुरियनपाकिस्तान ने साउथ अफ्रीका को चौथे टी-20 इंटरनैशनल मुकाबले में 3 विकेट से हरा दिया। इसके साथ ही उसने 4 मैचों की सीरीज...

कुलभूषण जाधव का पक्ष रखने के लिए भारत वकील नियुक्त करे: पाकिस्तान

इस्लामाबादपाकिस्तान ने मौत की सजा का सामना कर रहे कुलभूषण जाधव का पक्ष रखने के लिए शुक्रवार को भारत से एक बार फिर...
- Advertisement -

Latest Articles

Dostana 2: कार्तिक आर्यन के सपॉर्ट में कंगना रनौत, कहा- सुशांत की तरह लटकने पर मजबूर मत करो

बॉलिवुड ऐक्टर कार्तिक आर्यन (Kartik Aaryan) इस समय सुर्खियों में हैं। दरअसल, वह धर्मा प्रॉडक्शन की फिल्म 'दोस्ताना 2' (Dostana 2) से बाहर...

SA vs PAK 4th T20I: फखर जमां की तूफानी फिफ्टी, पाकिस्तान ने साउथ अफ्रीका को 3 विकेट से हराया

सेंचुरियनपाकिस्तान ने साउथ अफ्रीका को चौथे टी-20 इंटरनैशनल मुकाबले में 3 विकेट से हरा दिया। इसके साथ ही उसने 4 मैचों की सीरीज...

कुलभूषण जाधव का पक्ष रखने के लिए भारत वकील नियुक्त करे: पाकिस्तान

इस्लामाबादपाकिस्तान ने मौत की सजा का सामना कर रहे कुलभूषण जाधव का पक्ष रखने के लिए शुक्रवार को भारत से एक बार फिर...