Sunday, November 29, 2020

CMO ने हॉस्पिटल में मारा छापा, ऑपरेशन टेबल पर मरीज को छोड़कर भागी डॉक्टर, हॉस्पिटल सील

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • यूपी के कानपुर में ऐसे दर्जनों हॉस्पिटल संचालित हैं, जो मानकों के विपरीत चल रहे हैं
  • कई इलाकों में तो इलाज के नाम पर मरीजों की जिंदगी से खिलवाड़ किया जा रहा है
  • कानपुर में तो रेड के दौरान ऑपरेशन टेबल पर मरीज को छोड़ फुर्र डॉक्टर फुर्र हो गई

कानपुर
यूपी के कानपुर में ऐसे दर्जनों हॉस्पिटल संचालित हैं, जो मानकों के विपरीत चल रहे हैं। इलाज के नाम पर मरीजों की जिंदगी से खिलवाड़ किया जा रहा है। ऐसी ही एक दिलचस्प घटना सामने आई है। बीते शनिवार देर शाम सीएमओ डॉ. अनिल मिश्रा ने काशी हॉस्पिटल ऐंड सर्जिकल सेंटर में छापा तो वहां मौजूद पैरामेडिकल स्टाफ भाग निकला।

सबसे ज्यादा हैरान करने वाला वाकया उस वक्त सामने आया जब सीएमओ ओटी कक्ष में पहुंचे। ओटी में ऑपरेशन कर रही डॉक्टर रूचि राठौर को पता चला कि सीएमओ ने छापा मारा है, तो मरीज का अधूरा ऑपरेशन छोड़कर भाग गईं। सीएमओ ने महिला डॉक्टर को फोन कर मुकदमा दर्ज कराने की बात कही, तब जाकर महिला डॉक्टर वापस लौटी।

कल्यानपुर थाना क्षेत्र स्थित पनकी रोड पर काशी हॉस्पिटल एंड सर्जिकल सेंटर नाम हॉस्पिटल संचालित है। सीएमओ डॉ. अनिल मिश्रा को काफी दिनों से अस्पताल की शिकायतें मिल रही थीं। सीएमओ ने अपने स्टॉफ के हॉस्पिटल में छापा मारा तो चारों तरफ अफरातफरी मच गई। हॉस्पिटल मानकों के विपरीत चल रहा था। सीएमओ जैसे हॉस्पिटल में दाखिल हुए तो उन्होने पाया कि बुखार के पेशेंट भर्ती थे, लेकिन किसी की भी डेंगू और कोरोना की जांच नहीं कराई गई थी।

ओटी से डॉक्टर ऑपरेशन छोड़कर भागी
सीएमओ डॉ. अनिल मिश्रा जब ओटी पहुंचे, ऑपरेशन कर रही डॉ. रूचि राठौर महिला मरीज को छोड़कर भाग गई। ओटी में प्रशिक्षित टेक्निशन की जगह पर कक्षा 9 की छात्रा थी। उसने बताया कि महिला मरीज की बच्चेदानी निकालने का ऑपरेशन चल रहा था।

सीएमओ ने डॉक्टर रूचि राठौर को फोन पर जमकर फटकार लगाई और मुकदमा दर्ज कराने को कहा। सीएमओ की फटकार के बाद महिला डॉक्टर वापस लौटी। डॉक्टर रूचि राठौर का लाइसेंस रद्द करने के लिए सीएमओ मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया से सिफारिश करेगें।

महिला को हो रही थी ब्लीडिंग
सीएमओ ने बताया कि ओटी में महिला का ऑपरेशन छोड़कर डॉक्टर भाग गई। इस स्थिति में महिला की जान का खतरा हो सकता था। महिला को ब्लीडिंग हो रही थी। ओटी में प्रशिक्षित टेक्निशन नहीं थी। यह बहुत ही गंभीर विषय है, मरीजों की जिंदगी से खिलवाड़ किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि हॉस्पिटल संचालक उमाशंकर रजिस्ट्रेशन के कागजात नहीं दिखा नही दिखा सके। मरीजों को शिफ्ट करने के बाद हॉस्पिटल को सील कर दिया गया है।



Source link

इसे भी पढ़ें

Drone Taxi EHang 216: लोगों को लेकर उड़ेंगे ड्रोन, दक्षिण कोरिया ने निकाला ट्रैफिक का इलाज

दक्षिण कोरिया ने ट्रैफिक की समस्या का हाई-टेक इलाज निकाल लिया है। कोरिया की सरकार ने जून 2020 में कोरियन अर्बन एयर मोबिलिटी...

AUS vs IND दूसरा वनडे: भारत के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया पहले कर रही बैटिंग, देखें दोनों टीमों की प्लेइंग XI

सिडनीऑस्ट्रेलिया के कप्तान आरोन फिंच ने शनिवार को सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) पर भारत के खिलाफ खेले जा रहे दूसरे वनडे मैच में...
- Advertisement -

Latest Articles

Drone Taxi EHang 216: लोगों को लेकर उड़ेंगे ड्रोन, दक्षिण कोरिया ने निकाला ट्रैफिक का इलाज

दक्षिण कोरिया ने ट्रैफिक की समस्या का हाई-टेक इलाज निकाल लिया है। कोरिया की सरकार ने जून 2020 में कोरियन अर्बन एयर मोबिलिटी...

AUS vs IND दूसरा वनडे: भारत के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया पहले कर रही बैटिंग, देखें दोनों टीमों की प्लेइंग XI

सिडनीऑस्ट्रेलिया के कप्तान आरोन फिंच ने शनिवार को सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) पर भारत के खिलाफ खेले जा रहे दूसरे वनडे मैच में...

Australia0/0 Runs in (0.0 overs) | Australia बनाम India स्कोरकार्ड: लाइव स्कोर ऑस्ट्रेलिया वस भारत का...

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सीरीज का दूसरा वनडे रविवार को खेला जा रहा है। यह मैच विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम...