Sunday, April 11, 2021

Corona Second Wave : 4 दिन में एक लाख को हो गया कोरोना, पर इस बार सबसे बड़ी राहत दे रही यह एक बात

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • महाराष्ट्र, पंजाब, गुजरात समेत 5 राज्यो में नए केस पहली लहर के मुकाबले अधिक
  • देशभर में ओवरऑल मृत्यु दर पहले की तुलना में लगभग एक तिहाई रह गई है
  • कोरोना महामारी से मरने वालों में 55 फीसदी लोग 60 साल से अधिक उम्र वाले

नई दिल्ली
देश में कोरोना की दूसरी लहर पहले के तुलना में अधिक संक्रामक नजर आ रही है। हालांकि, इस बार मृत्यु दर पहले के मुकाबले कम है। गुरुवार को कोरोना संक्रमण के 81, 456 नए मामले सामने आए। यह पिछले साल 1 अक्टूबर के बाद सबसे अधिक मामले हैं। पिछले साल एक अक्टूबर को 84176 नए मामले सामने आए थे। टाइम्स ऑफ इंडिया के एनालिसिस में 23 बड़े राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में फैलने के पहले चरण के साथ दूसरी लहर की तुलना की गई। इसके अंतर्गत नए मामलों में लगातार वृद्धि देखने को मिल रही है।

कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहा भारत, मध्य अप्रैल तक आ सकता है दूसरा पीक : SBI रिपोर्ट
पिछले साल पीक पर था पहला स्टेज
मामलों की वृद्धि दर के आधार पर, महामारी को दो व्यापक स्टेज में बांटा जा सकता है। शुरुआती स्टेज- जो पिछले साल जनवरी में शुरू हुई थी। यह चरण पिछले साल ही सितंबर के आसपास पीक पर था। इस साल फरवरी के बीच तक ठंडा हो गया था। इस साल फरवरी के बाद शुरू हुआ लेटेस्ट स्टेज अधिकांश राज्यों (महाराष्ट्र और पंजाब को छोड़कर) में संक्रमण फिर से बढ़ रहा है। बेशक, वृद्धि घटे हुए कर्ब और बढ़ती हुई शिथिलता के कारण भी हो सकती है। फिर भी, आंकड़े बताते हैं कि पांच राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों – महाराष्ट्र, पंजाब, गुजरात, मध्य प्रदेश और चंडीगढ़ में – दूसरी लहर पूरी तेजी पर है। इसने पहले चरण में आए मामलों को भी पार कर दिया है।

cfr data

केस बढ़े लेकिन मृत्यु दर में कमी
डेली केस में वृद्धि के अलावा, इन सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में महामारी के जारी स्टेज में मृत्यु दर में नाटकीय रूप से कमी देखने को मिल रही है। महाराष्ट्र में केस फैटालिटी रेट (CFR) में 75%, पंजाब में 41%, गुजरात में 83%, मध्य प्रदेश में 72% और चंडीगढ़ के लिए 65% की कमी आई है। दिल्ली के होली फैमिली अस्पताल में क्रिटिकल केयर मेडिसिन के प्रमुख डॉ. सुमित रे ने कहा, “ऐसा लगता है कि वायरस अधिक संक्रामक और कम घातक है, क्योंकि देशभर में ओवरऑल मृत्यु दर पहले की तुलना में लगभग एक तिहाई रह गई है।

corona second wave

कम मृत्यु दर की वजह युवाओं में अधिक संक्रमण
डॉ. सुमित रे के अनुसार मौजूदा लहर में कम मृत्यु दर की वजह युवाओं में संक्रमण का अधिक होना बताया जा रहा है। संभव है कि देश में बड़ी संख्या में बुजुर्गों को कोरोना वैक्सीन लगाई जा चुकी है। वहीं, युवा कोरोना नियमों को अधिक तवज्जों नहीं देते हुए खुलेआम अधिक घूमफिर रहे हैं। ऐसे में उनके कोरोना वायरस से संक्रमित होने की आशंका बढ़ गई है।

Corona In Delhi: दिल्ली में फिर गहरा रहा है कोरोना महामारी का प्रकोप, 12 अस्पतालों में वेंटिलेटर, 3 में कोविड बेड्स फुल
कुल मौतों में 88 फीसदी 45 साल से अधिक वाले
कोरोना की वजह से देश में 60 साल से अधिक उम्र वालों लोगों की मौत का खतरा अभी भी अधिक है। कोरोना से मरने वालों में 55 फीसदी लोग 60 साल से अधिक उम्र के लोग हैं। जबकि इस उम्र के लोगों को कोरोना पॉजिटिव होने की दर 14 फीसदी है। 45 से 60 साल की उम्र के बीच मरने वालों भी करीब 33 फीसदी लोग हैं।

महाराष्ट्र में पिछले 5 महीने में 88 फीसदी केस
महाराष्ट्र की बात करें तो इस राज्य में मार्च महीने में कोविड-19 के 6,51,513 मामले आए। ये पिछले पांच महीने में आए कुल मामलों का 88.23 प्रतिशत हैं। पिछले साल राज्य में 1 अक्टूबर और 28 फरवरी 2021 के बीच कोरोना वायरस के 7,38,377 मामले सामने आए। इससे पता लगता है कि बीते महीनों की तुलना में मार्च 2021 में संक्रमण की रफ्तार बढ़ी है।

15 से 20 अप्रैल तक दूसरी लहर का पीक
कोविड-19 के मैथमैटिकल मॉल पर काम करने वाले साइंटिस्टों का कहना है कि कोरोना की दूसरी लहर का पीएक 15 से 20 अप्रैल से बीच में होने का अनुमान है। कोरोना के इस लहर में पीक में रोजाना 80 से 90 हजार नए मामले सामने आ सकते हैं। देश में एक्टिव केसों की संख्या पिछले साल सितंबर के बराबर हो सकती है। पिछले साल सितंबर में देश में एक्टिव रोगियों की संख्या करीब 10 लाख पहुंच गई थी।

लोग नहीं अपना रहे कोविड प्रोटोकॉल
एक्सपर्ट्स का कहना है कि इसकी मुख्य वजह यह है कि कोविड-19 से बचाव के लिए लोग सही व्यवहार नहीं अपना रहे। कई लोगों ने उचित दूरी के नियमों का पालन नहीं किया और मास्क भी नहीं लगाए, जिससे संक्रमण के मामले बढ़े हैं। स्टेट कोविड-19 टास्कफोर्स के एक मेंबर ने कहा कि हमने देखा है कि लोग एक से तीन सप्ताह तक कोविड-19 के संबंध में उचित व्यवहार अपनाते हैं और इसके बाद ढिलाई बरतने लगते हैं।

नए मामलों में 80 फीसदी केस यूरोप, अमेरिका से
विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कोविड-19 महामारी को लेकर दिए गए अपने साप्ताहिक अपडेट में कहा है कि लगातार 5 हफ्तों से कोविड मामले बढ़ रहे हैं। इसमें पिछले हफ्ते तो संक्रमण के 38 लाख से ज्यादा नए मामले आए। दुनिया के सभी हिस्सों चाहे वह दक्षिण पूर्व एशिया हो, पश्चिमी प्रशांत हो या अफ्रीका हो, नए मामले बढ़े हैं। वहीं 80 प्रतिशत मामले यूरोप और अमेरिका के हैं। डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि नया और अधिक संक्रामक कोविड-19 वेरियंट मामलों में बढ़ोतरी के लिए आंशिक रूप से जिम्मेदार हो सकता है क्योंकि कई देशों में ये वेरियंट मिले हैं।

corona second wave news



Source link

इसे भी पढ़ें

ड्राइवर का जवाब सुन पुलिसवाला भावुक

पुलिसवाले ने पूछा कि क्‍या सबूत है कि तुम कार धीमे चला रहे थे? इस पर ड्राइवर ने कहा कि...नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:Apr 11,...

मां की बात सुन किडनैपर बेहोश

किडनैपर: हमने तुम्‍हारे बेटे को किडनैप कर लिया है। मां: मेरी बात कराओ। किडनैपर: लो। मां: और चला मोबाइल। विशाल, मुंबई window.fbAsyncInit = function() { ...
- Advertisement -

Latest Articles

ड्राइवर का जवाब सुन पुलिसवाला भावुक

पुलिसवाले ने पूछा कि क्‍या सबूत है कि तुम कार धीमे चला रहे थे? इस पर ड्राइवर ने कहा कि...नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:Apr 11,...

मां की बात सुन किडनैपर बेहोश

किडनैपर: हमने तुम्‍हारे बेटे को किडनैप कर लिया है। मां: मेरी बात कराओ। किडनैपर: लो। मां: और चला मोबाइल। विशाल, मुंबई window.fbAsyncInit = function() { ...

CSK v DC : 15 रन से शतक चूकने के बावजूद शिखर ने बनाए कई रेकॉर्ड, विराट कोहली भी छूटे पीछे

मुंबईदिल्ली कैपिटल्स के बाएं हाथ के अनुभवी ओपनर शिखर धवन (Shikhar Dhawan) चेन्नै सुपरकिंग्स (Chennai Super Kings) के खिलाफआईपीएल 2021 (IPL 2021) के...