Saturday, January 23, 2021

Coronavirus vaccine India: खुश खबरी! वैक्सीन की पहली खेप पुणे सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया से हुई रवाना

- Advertisement -


पुणे
महामारी कोरोना वायरस पर जीत की तैयारियों में लगे भारत के लिए के लिए खुश खबरी है। 16 जनवरी से प्रस्तावित वैक्सीनेशन के लिए कोविशील्ड की पहली खेप पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया से रवाना हो चुकी है। इसकी जानकारी पुणे की डीसीपी नम्रता पाटील ने दी।

उन्होंने एएनआई से कहा, ‘वैक्सीन की पहली खेप यहां सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया से भेजी गई है। हमने सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए हैं।’ कोविशील्ड वैक्सीन ले जाने वाले तीन ट्रक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया से मंगलवार सुबह तड़के पुणे के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचे। एयरपोर्ट से पैक्सीन देश के अलग-अलग हिस्सों में भेजे जाएंगे। जहां 16 जनवरी से वैक्सीनेशन का काम शुरू किया जाएगा।

6 करोड़ से अधिक की खुराक का ऑर्डर
देश में 16 जनवरी से शुरू होने वाले टीकाकरण अभियान से पहले सरकार ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) और भारत बायोटेक से कोविड-19 टीके की छह करोड़ से अधिक खुराक खरीदने का ऑर्डर दिया। इस ऑर्डर की कुल कीमत करीब 1300 करोड़ रुपये होगी। सूत्रों ने बताया कि सरकार ने भारत बायोटेक को 55 लाख खुराक का ऑर्डर दिया है, जिसकी लागत 162 करोड़ रुपये है। सरकार ने एसआईआई से ऑक्सफोर्ड के कोविड-19 टीके ‘कोविशील्ड’ की 1.1 करोड़ खुराक खरीदने का सोमवार को ऑर्डर दिया।

पहले किसे दी जाएगी खुराक
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में 50 वर्ष से ऊपर के सभी लोगों को और 50 वर्ष से नीचे के उन बीमार लोगों को जिनको संक्रमण का सबसे ज्यादा खतरा है, उनको टीका लगाया जाएगा। इस टीकाकरण अभियान में सबसे अहम उनकी पहचान और मॉनीटरिंग का है जिनको टीका लगाना है। बूथस्तर तक की रणनीति को अमल में लाना है।

उन्होंने कहा, ‘हमारे जो सफाई कर्मचारी हैं, दूसरे फ्रंट लाइन वर्कर्स हैं, सैन्य बल हैं, पुलिस और केंद्रीय बल हैं, होमगार्डस हैं, डिजास्टर मैनेजमेंट वोलेंटियर्स समेत सिविल डिफें स के जवान हैं, कंटेनमेंट और सर्विलांस से जुड़े कर्मचारियों को पहले चरण में टीका लगाया जाएगा। तीन करोड़ संख्या होती है फ्रंटलाइन वर्कर्स की। इनके वैक्सीनेशन पर आने वाले खर्च को राज्य सरकारों को वहन नहीं करना है।’



Source link

इसे भी पढ़ें

वैज्ञानिकों को मिली बड़ी सफलता, दो हफ्ते में चल पड़े लकवाग्रस्त चूहे, जगी लाखों मरीजों के लिए उम्मीद

बर्लिनवैज्ञानिकों को रिसर्च के क्षेत्र में एक बड़ी सफलता मिली है। पैरालिसिस यानी लकवे का इलाज ढूंढ रहे वैज्ञानिकों ने चूहों पर सकारात्मक...

5 महीनों में 2 देशों के 8 शहर घूमने के बाद बेटी से मिले अजिंक्य रहाणे, लिखा ये मेसेज

मुंबई ऑस्ट्रेलिया से टेस्ट सीरीज जीतकर स्वदेश लौटे भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के खिलाड़ी इस समय अपने घर पर आराम कर...

Moto G 5G और Mi 10T समेत इन 5जी स्मार्टफोन्स पर Flipkart Sale में भारी छूट, देखें ऑफर्स

नई दिल्ली। Flipkart Big Saving Days Sale में कई स्मार्टफोन्स बंपर डिस्काउंट और आकर्षक ऑफर्स के साथ बेचे जा रहे हैं। आप भी...
- Advertisement -

Latest Articles

वैज्ञानिकों को मिली बड़ी सफलता, दो हफ्ते में चल पड़े लकवाग्रस्त चूहे, जगी लाखों मरीजों के लिए उम्मीद

बर्लिनवैज्ञानिकों को रिसर्च के क्षेत्र में एक बड़ी सफलता मिली है। पैरालिसिस यानी लकवे का इलाज ढूंढ रहे वैज्ञानिकों ने चूहों पर सकारात्मक...

5 महीनों में 2 देशों के 8 शहर घूमने के बाद बेटी से मिले अजिंक्य रहाणे, लिखा ये मेसेज

मुंबई ऑस्ट्रेलिया से टेस्ट सीरीज जीतकर स्वदेश लौटे भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के खिलाड़ी इस समय अपने घर पर आराम कर...

Moto G 5G और Mi 10T समेत इन 5जी स्मार्टफोन्स पर Flipkart Sale में भारी छूट, देखें ऑफर्स

नई दिल्ली। Flipkart Big Saving Days Sale में कई स्मार्टफोन्स बंपर डिस्काउंट और आकर्षक ऑफर्स के साथ बेचे जा रहे हैं। आप भी...

इमरान खान की इस ऐक्ट्रेस से नजदीकी बन गई पत्नी अवंतिका मलिक से दूरी की वजह?

आमिर खान के भांजे इमरान खान और उनकी वाइफ अवंतिका मलिक के अलग होने की खबरें कई दिनों से हेडलाइन्स में हैं। इमरान...