Home देश Kangana Ranaut Golden Temple News: गोल्डन टेंपल में कंगना रनौत की अरदास…क्यों...

Kangana Ranaut Golden Temple News: गोल्डन टेंपल में कंगना रनौत की अरदास…क्यों लग रहे हैं सियासी कयास? जानिए

0


हाइलाइट्स:

  • बॉलिवुड ऐक्ट्रेस कंगना रनौत सोमवार को परिवार के साथ पहुंची अमृतसर के स्वर्ण मंदिर
  • कंगना 7 बजे गोल्डन टेंपल पहुंचीं और मंदिर के गर्भगृह और अकाल तख्त में पूजा-अर्चना की
  • पंजाब विधानसभा और हिमाचल में लोकसभा उपचुनाव से ठीक पहले इस यात्रा पर राजनीति अटकलें

अमृतसर
बॉलिवुड ऐक्ट्रेस कंगना रनौत (kangana ranaut) अक्सर अपने अच्छे और विवादित बयानों के कारण सुर्खियों में बनी रहती हैं। सोमवार को कंगना रनौत यहां स्वर्ण मंदिर (Golden Temple) पहुंचीं। ऐसे में उनकी स्वर्ण मंदिर यात्रा को लेकर सियासी हलकों में अटकलें तेज हो गई हैं। कई लोगों ने उनकी यात्रा को विशुद्ध रूप से राजनीतिक कारणों वाला बताया है। वहीं अन्य का अनुमान है कि यह यात्रा उनकी आने वाली फिल्मों के प्रचार के लिए होगा। फिरोजी रंग का सूट और दुपट्टा पहने कंगना लगभग 7 बजे गोल्डन टेंपल पहुंचीं और उन्होंने मंदिर के गर्भगृह और अकाल तख्त में भी पूजा-अर्चना की।

‘पंगा’ गर्ल के नाम से चर्चा में रहने वाली बॉलिवुड ऐक्ट्रेस कंगना के गोल्डन टेंपल दौरे से बीजेपी के अंदर भी कयास लगाए जा रहे हैं। क्योंकि उनकी राजनीतिक संभावनाएं किसी से छिपी नहीं हैं। नाम न छापने की शर्त पर बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि कंगना रनौत के हिमाचल प्रदेश से राजनीति में आने की संभावना हो सकती है क्योंकि वह मंडी जिले से भी आती हैं, जहां लोकसभा उपचुनाव मौजूदा सांसद राम स्वरूप शर्मा के कथित आत्महत्या के बाद होने वाले हैं।

मंडी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ सकती हैं कंगना
शर्मा के निधन के बाद से ही कयास लगाए जा रहे हैं कि कंगना बीजेपी के टिकट पर मंडी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ सकती हैं और एक राजपूत होने के नाते उनके पास क्षेत्र के लोगों का अपार समर्थन मिलने की संभावनाएं हैं।

कंगना रनौत ने फैमिली संग स्वर्ण मंदिर में किए दर्शन, कहा- खूबसूरती देखकर निशब्द हूं
प्रचार संग सिख वोटरों पर नजर

उधर, चर्चा है कि कंगना की यह यात्रा राजनीतिक और कमर्शियल दोनों मकसद को पूरा करती है। क्योंकि वह अपनी आने वाली फिल्मों- तेजस, थलाइवी और धाकड़- के प्रचार के साथ-साथ हिमाचल में सिख मतदाताओं पर नजर रख सकती हैं। सूत्रों ने कहा, हालांकि ये अभी तक अटकलें हैं। आने वाले दिनों में सब कुछ साफ होने की उम्मीद है।

pjimage - 2021-06-01T100757.466



Source link