Thursday, June 17, 2021

Kisan Andolan News: कोलकाता में CM ममता बनर्जी से मिले राकेश टिकैत, किसान प्रदर्शन को समर्थन देने की मांग

- Advertisement -


कोलकाता
केंद्रीय किसान बिलों को वापस लेने की मांग को लेकर पिछले कई महीनों से दिल्‍ली-यूपी बॉर्डर पर धरना दे रहे भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के नेता राकेश टिकैत बुधवार को पश्चिम बंगाल पहुंचे। यहां उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी से कृषि उत्पादों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य और नए कृषि कानूनों के खिलाफ जारी किसानों के आंदोलन के लिए समर्थन मांगा। साथ ही लोकल किसानों की समस्‍याओं के बारे में भी उन्‍हें बताया। इस बीच, केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर का कहना है कि केंद्र सरकार किसानों से बातचीत के लिए तैयार है। उन्‍होंने किसान नेताओं को कृषि बिल पर अपनी चिंताओं को तर्क के साथ रखने के लिए कहा।

बीकेयू के महासचिव युद्धवीर सिंह ने बताया, ‘हम चुनावी जीत के लिए ममता बनर्जी को धन्यवाद देने के साथ किसानों को उनकी फसलों के लिए उचित एमएसपी दिलाने के कदम के लिए उनका समर्थन चाहते हैं।’ सिंह ने कहा कि वह बनर्जी से पश्चिम बंगाल में फलों, सब्जियों और दुग्ध उत्पादों के लिए एमएसपी तय करने की मांग करना चाहते है क्योंकि यह बाकी जगहों पर ‘एक मॉडल की तरह काम करेगा।’

ट्रैक्टर रैली में इतनी हिंसा, टूटे सब नियम, इन तस्वीरों पर शर्मिंदा होंगे किसान!


‘यूपी चुनावों में हम निभाएंगे अहम भूमिका’
वहीं, राकेश टिकैत ने कहा कि अगर केंद्र सरकार हमसे बात करना चाहती है तो भी उनसे बात करने को तैयार हैं। उन्होंने आगामी यूपी चुनावों को लेकर कहा कि हम यूपी चुनाव में अहम भूमिका निभाने वाले हैं क्योंकि किसानों के लिए नए कृषि कानून काले कानून हैं। इसे खत्म करने के लिए हम केंद्र सरकार पर दबाव बनाएंगे।

Farmers Tractor Rally: गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में ‘ट्रैक्टर परेड’ निकाल रहे हैं किसान, देखिए ग्राउंड रिपोर्ट

‘हम राजनीति में नहीं, सिर्फ किसानों की बात करें’
ममता बनर्जी के राष्ट्रीय राजनीति के संबंध में सवाल पूछे जाने पर टिकैत ने कहा कि हम केवल किसान समस्या के मामलों में समर्थन कर सकते हैं, राजनीति में हम नहीं है। टिकैत और अन्य किसान नेता पिछले एक साल से संसद से पारित तीन कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं। उनका मानना है कि इन कानूनों से खेतीबाड़ी का बाजारीकरण हो जाएगा और छोटे किसानों को बड़ी खुदरा कंपनियों के शोषण से पर्याप्त सुरक्षा भी नहीं मिलेगी।

(एजेंसी इनपुट)

ममता और टिकैत की मुलाकात



Source link

इसे भी पढ़ें

बंगाल ही नहीं त्रिपुरा में भी बीजेपी को चोट पहुंचाने की जुगत में हैं मुकुल रॉय? लग रहीं अटकलें

हाइलाइट्स:त्रिपुरा बीजेपी में संगठन स्तर पर हो सकता है बड़ा बदलावनाराज अपनों को मनाने के लिए कैबिनेट विस्तार भी मुमकिनपार्टी के राष्ट्रीय संगठन...
- Advertisement -

Latest Articles

बंगाल ही नहीं त्रिपुरा में भी बीजेपी को चोट पहुंचाने की जुगत में हैं मुकुल रॉय? लग रहीं अटकलें

हाइलाइट्स:त्रिपुरा बीजेपी में संगठन स्तर पर हो सकता है बड़ा बदलावनाराज अपनों को मनाने के लिए कैबिनेट विस्तार भी मुमकिनपार्टी के राष्ट्रीय संगठन...