Saturday, November 28, 2020

Nagrota Encounter: कमांडो ट्रेनिंग लिए हुए थे नगरोटा में मारे गए चारों आतंकी, गहन जांच से हो रहे कई बड़े खुलासे

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • जम्मू-कश्मीर के नगरोटा में 19 नवंबर को हुए एनकाउंटर की जांच में कई बड़े खुलासे
  • एनकाउंटर में मारे गए चारों आतंकियों के कमांडो ट्रेनिंग प्राप्त होने के मिले सबूत
  • अधिकारियों ने बताया कि मारे गए चारों पाकिस्तानी आतंकी फिदायीन दस्ते के सदस्य थे

नई दिल्ली
सेना ने जम्मू-कश्मीर के नगरोटा में 19 नवंबर को एक ट्रक में चार आतंकवादियों को मार गिराया। ये सभी आतंकी पाकिस्तान से आए थे, दिनों दिन इसके नए-नए प्रमाण मिल रहे हैं। सुरक्षा एजेंसियों की गहन जांच में खुलासा हुआ है कि सारे आतंकवादी कमांडो ट्रेनिंग लिए हुए थे जिन्हें 2016 के पठानकोट हमले का प्रमुख अभियुक्त कासिम जान हैंडल कर रहा था। कासिम जान पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (JeM) का ऑपरेशनल कमांडर है। वह सीधे जैश चीफ मुफ्ती रऊफ असगर को रिपोर्ट करता है।

आतंकियों के कमांडो ट्रेनिंग प्राप्त होने के प्रमाण

मारे गए आतंकियों से प्राप्त ग्लोबल पॉजिशनिंग सिस्टम (GPS) सेट, वायरलेस सेट और रिसिवर के आंकड़ों की पड़ताल में पता चला है कि कमांडो ट्रेनिंग प्राप्त ये सारे आतंकी शाकरगाह स्थित जैश के आतंकी कैंप से करीब 30 किमी चलकर सांबा बॉर्डर पहुंचे और वहां से जटवाल के पिक पॉइंट तक गए जो सांबा से कठुआ के बीच छह किमी दूर है। इसका मतलब है कि आतंकी अंधेरी रातों में पिक पॉइंट्स तक गए और वहां से जम्मू-कश्मीर का रुख किया था।

यह रहा आतंकियों के कश्मीर तक पहुंचने का रूट
अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स ने एक सीनियर ऑफिसर के हवाले से कहा, ‘अंतरराष्ट्रीय सीमा से पिकअप पॉइंट का एरियल डिस्टैंस 8.7 किमी है और जैश का शाकरगाह कैंप जटवाल से 30 किमी की दूरी पर है। आतंकी संभवतः सांबा सेक्टर के मावा गांव में सीमा पार कर आए थे जो रामगढ़ और हीरानगर सेक्टर के बीच है। नौनथ नाला के पास कई कच्ची सड़के हैं और पिक पॉइंट से अंतरराष्ट्रीय सीमा तक जाती हैं। नौनथ नाला पाकिस्तान के चक जैमल गांव के बिन नाला में मिल जाता है। संभवतः आतंकियों ने 2.5 से तीन घंटे की यह दूरी पैदल ही तय की।’

अभी तक की जांच से पता चला है कि चारों आतंकी संभवतः 2.30 से 3 बजे रात ट्रक में बैठे। JK01AL 1055 नंबर का यह ट्रक जम्मू की तरफ जाते हुए 3.44 बजे सरोर टोल प्लाजा को पार किया। उसके बाद ट्रक नरवाल बाइपास से कश्मीर की तरफ मुड़ गया और बान टोल प्लाजा पर 4.45 बजे सुरक्षा बलों ने इसे धर दबोचा। सीनियर सिक्यॉरिटी अफसरों के मुताबिक, मारे गए आतंकी आत्मघाती दस्ते के सदस्य थे क्योंकि उनका पेट और जांघ के बीच के भाग के बाल साफ थे। पिछले घटनाओं में भी जिहादियों के शरीर के इस हिस्से से बाल साफ मिले थे।

नगरोटा में ढेर आतंकियों के मोबाइल से खुला राज, लगातार संपर्क में थे पाकिस्तान में बैठे आका

घुसपैठ की फिराक में 200 आतंकी!
एक अधिकारी ने कहा, ‘अलग-अलग संगठनों के करीब 200 आतंकवादी नियंत्रण रेखा (Loc) के उस पर लॉन्च पैड्स पर घुसपैठ का इंतजार कर रहे हैं। हमें पता चल रहा है कि अल बद्र ग्रुप फिर से सिर उठा रहा है। साथ ही, लश्कर-ए-मुस्तफा नाम से एक नया आतंकी संगठन खड़ा हो रहा है जिसका प्रमुख हिदायतुल्ला मलिक है। इसके अलावा, पाकिस्तान की लश्क-ए-तैयबा (LeT) ग्रुप खैबर पख्तुनख्वा के जंगल-मंगल कैंप में 23 आतंकियों को ट्रेनिंग दे रहा है।’

देश की आतंक रोधी संस्था के अधिकारियों के मुताबिक, अफगानिस्तान से अमेरिकी सुरक्षा बलों की वापसी और तालिबान की मजबूती के साथ ही जैश जम्मू-कश्मीर की सीमा पर बहुत ज्यादा सक्रिय हो गया है। अखबार के मुताबिक, अभी स्पेशल ट्रेनिंग प्राप्त कम-से-कम 14 आतंकवादी घुसपैठ की फिराक में गुजरांवाला में अड्डा जमाए हैं।



Source link

इसे भी पढ़ें

Corona Vaccine: अहमदाबाद के जाइडस बायोटेक पार्क में पीएम मोदी ने वैक्सीन की तैयारियों का जायजा लिया, टीम की सराहना की

नई दिल्लीपीएम मोदी आज कोरोना वैक्सीन की तैयारियों की समीक्षा करने के लिए तीन शहरों (अहमदाबाद, हैदराबाद और पुणे) के दौरे पर निकले...
- Advertisement -

Latest Articles

Corona Vaccine: अहमदाबाद के जाइडस बायोटेक पार्क में पीएम मोदी ने वैक्सीन की तैयारियों का जायजा लिया, टीम की सराहना की

नई दिल्लीपीएम मोदी आज कोरोना वैक्सीन की तैयारियों की समीक्षा करने के लिए तीन शहरों (अहमदाबाद, हैदराबाद और पुणे) के दौरे पर निकले...

चीनी सेना को शी जिनपिंग का संदेश, मौत से डरें नहीं, युद्ध जितने को तैयार रहें

पेइचिंगचीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने पीपल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के सैनिकों से अपनी जान की परवाह किए बिना युद्ध जीतने को तैयार...