Thursday, February 25, 2021

Rahul Gandhi on Dynastic Politics: वंशवाद के सवाल पर बोले राहुल गांधी, मेरे परिवार से 30-35 साल पहले बना था प्रधानमंत्री

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • ‘वंशवादी राजनीति’ का नाम लेकर बीजेपी के निशाने पर रहते हैं राहुल गांधी
  • एक कार्यक्रम में कांग्रेस नेता ने इस सवाल का दिया जवाब
  • राहुल बोले- मेरे परिवार से तो 30-35 साल पहले बना था प्रधानमंत्री

नई दिल्ली
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने वंशवाद के उठते सवालों का जवाब दिया है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि पिछले 30-35 साल से उनके परिवार से कोई प्रधानमंत्री नहीं बना और UPA की सरकार में भी उनके परिवार से कोई व्यक्ति शामिल नहीं था। उन्होंने शिकागो विश्वविद्यालय के प्रोफेसर दीपेश चक्रवर्ती के साथ डिजिटल संवाद के दौरान कई मुद्दों पर बातचीत की और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ‘सपने बेचने का’ आरोप लगाया।

वंशवाद से जुड़े सवाल पर कांग्रेस नेता ने कहा, ‘मेरे परिवार से आखिरी बार 30-35 साल पहले प्रधानमंत्री बने थे। UPA सरकार में मेरे परिवार से कोई शामिल नहीं था।’ उन्होंने कहा, ‘मैं कुछ मूल्यों के लिए लड़ता हूं। आप यह नहीं कह सकते कि मैं राजीव गांधी का पुत्र हूं तो मैं इन मूल्यों के लिए क्यों नहीं लड़ सकता।’

राहुल गांधी के आरोपों पर बोला रक्षा मंत्रालय, ‘डिसइंगेजमेंट की प्रक्रिया में भारत ने नहीं छोड़ा किसी इलाके पर दावा’
लोकतंत्र से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा, ‘आधुनिक युग में महात्मा गांधी, बी. आर. आंबेडकर, जवाहर लाल नेहरू और मौलाना आजाद ने कुछ विचार दिए थे कि भारतीय लोकतंत्र किस तरह का होना चाहिए।’

संसद में किसानों को श्रद्धांजलि देने पर रार, BJP सांसदों ने राहुल गांधी के खिलाफ दिया विशेषाधिकार हनन नोटिस
दुनिया के विभिन्न देशों में ‘स्ट्रॉन्ग लीडर’ (शक्तिशाली नेता) के रूप में कुछ नेताओं के उभरने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि लोगों की परेशानी के बीच कोई नेता आता है और कहता है कि वह हर समस्या का समाधान करेगा, लेकिन वह समस्या का समाधान नहीं कर पाता है। किसान आंदोलन का जिक्र करते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री कुछ उद्योगपतियों के फायदे के लिए ये कानून लाए हैं।

rahul-gandhi

राहुल गांधी।



Source link

इसे भी पढ़ें

FATF की ग्रे लिस्ट में ही बना रहेगा पाकिस्तान, इमरान खान को देखने होंगे और बुरे दिन

फाइनेंशिल एक्शन टॉस्क फोर्स की पेरिस में हुई ऑनलाइन बैठक में पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट में ही रखे जाने पर फिर से मुहर...
- Advertisement -

Latest Articles

FATF की ग्रे लिस्ट में ही बना रहेगा पाकिस्तान, इमरान खान को देखने होंगे और बुरे दिन

फाइनेंशिल एक्शन टॉस्क फोर्स की पेरिस में हुई ऑनलाइन बैठक में पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट में ही रखे जाने पर फिर से मुहर...

प्राइवेट मेडिकल कॉलेज की फीस तार्किक हो ये सुनिश्चित करे कमिटी: सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्लीसुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि प्राइवेट मेडिकल कॉलेज की फीस शोषण करने वाला न हो और तार्किक हो ये बात एडमिशन...

भारत-पाकिस्तान में सीजफायर वाले समझौते में डोभाल का हाथ नहीं? पाकिस्तानी NSA का दावा

हाइलाइट्स:पाकिस्तानी एनएसए ने भारतीय राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के साथ हुई बैठक से किया इनकारभारत और पाकिस्तान के बीच हुए सीजफायर समझौते...