Tuesday, January 26, 2021

Shirdi Temple News: भ्रष्ट्राचार का अड्डा बनता जा रहा है शिरडी साईं संस्थान? तृप्ति देसाई का आरोप

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • शिरडी साईं संस्थान पर भूमाता ब्रिगेड के कार्यकर्ताओं का बवाल
  • ब्रिगेड का कहना है कि भक्तों के लिए ड्रेस कोड का फैसला गलत
  • मंदिर ऐसे फैसलों के जरिये भ्रष्टाचार को बढ़ावा देना चाहता है
  • फैसला वापस नहीं हुआ तो होगा बड़ा आंदोलन

मुंबई
भूमाता ब्रिगेड की अध्यक्षा और महिलाओं के अधिकारों के लिए लड़ने वाली तृप्ति देसाई ने शिर्डी के साईं बाबा संस्थान को भ्रष्टाचार का एक बड़ा अड्डा बताया है। उन्होंने कहा कि शिर्डी संस्थान (Shirdi Sai Temple) जितना बड़ा है उतना ही ज्यादा अब विवादित भी हो चुका है। बीती शाम भूमाता ब्रिगेड के कार्यकर्ताओं ने (Dress code for devotees in Shirdi Sai Temple) साईं संस्थान पर महिलाओं के ड्रेस कोड वाले पोस्टर पर कालिख पोत कर अपना विरोध जताया। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार का बोर्ड मंदिर प्रशासन ने लगाया है वह संविधान प्रदत्त अधिकारों का हनन है। जब संविधान ने हमें यह आजादी दी है कि हम अपने मन मुताबिक कपड़े पहन सकते हैं तो फिर शिर्डी संस्थान इस तरह के नोटिस बोर्ड क्यों लगा रहा है।

फिर होगा विरोध प्रदर्शन
तृप्ति देसाई ने कहा कि हमने मंदिर प्रशासन से कई बार अनुरोध किया था कि वे इस बोर्ड को हटाएं। लेकिन उन्होंने इसे हटाने की बजाय और ऊपर कर दिया। जिसके बाद हमारे कार्यकर्ताओं ने वहां पहुंचकर नोटिस पर कालिख पोती। मंदिर प्रशासन को हम एक बार फिर से चेतावनी देना चाहते हैं कि वह इस नोटिस बोर्ड को हटा दें। वरना और भी बड़ा आंदोलन मंदिर पर किया जाएगा। साईं संस्थान के पूर्व ट्रस्टी एकनाथ गोपकर ने बताया कि इस मामले में पुलिस कार्रवाई कर रही है। नोटिस बोर्ड को नहीं हटाया जाएगा।

आरती के नाम पर वसूली
आपको बता दें कि शिर्डी साईं संस्थान पर कुछ महिला भक्तों ने पिछले महीने यह आरोप लगाया था कि मंदिर में आरती करने के लिए उनसे 25 हज़ार रुपये की मांग की गयी थी। तृप्ति देसाई ने कहा कि शिरडी संस्थान ड्रेस कोड के जरिए भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने की कोशिश में जुटा हुआ है। उन्होंने कहा कि कुछ मंदिर ऐसे भी हैं जो ड्रेस कोड बनाकर आसपास में दुकानें खुलवाते हैं और फिर वहां से लोग मजबूरी में उन्हीं कपड़ों को खरीदते हैं। जिन्हें मंदिर प्रशासन कहता है। इस प्रकार एक नए तरह का भ्रष्टाचार शुरू होता है।



Source link

इसे भी पढ़ें

Permanent Ban on Chinese Apps: टिकटॉक, वीचैट और यूसी ब्राउजर समेत 59 चीनी ऐप्स पर सरकार ने लगाया परमानेंट बैन

हाइलाइट्स:भारत ने 59 चीनी ऐप्स पर स्थायी रूप से प्रतिबंध लगायाइनमें टिकटॉक, वीचैट, अलीबाबा का यूसी ब्राउजर जैसे ऐप्स शामिल हैंइससे पहले सरकार...

Coronavirus Vaccine के सहारे दबदबा कायम करना चाहता था चीन, उल्टा पड़ा दांव?

पेइचिंगकोरोना वायरस महामारी की उत्पत्ति का केंद्र होने का आरोप झेल रहे चीन ने सोचा था कि दूसरे देशों को वैक्सीन पहुंचाकर बाकी...
- Advertisement -

Latest Articles

Permanent Ban on Chinese Apps: टिकटॉक, वीचैट और यूसी ब्राउजर समेत 59 चीनी ऐप्स पर सरकार ने लगाया परमानेंट बैन

हाइलाइट्स:भारत ने 59 चीनी ऐप्स पर स्थायी रूप से प्रतिबंध लगायाइनमें टिकटॉक, वीचैट, अलीबाबा का यूसी ब्राउजर जैसे ऐप्स शामिल हैंइससे पहले सरकार...

Coronavirus Vaccine के सहारे दबदबा कायम करना चाहता था चीन, उल्टा पड़ा दांव?

पेइचिंगकोरोना वायरस महामारी की उत्पत्ति का केंद्र होने का आरोप झेल रहे चीन ने सोचा था कि दूसरे देशों को वैक्सीन पहुंचाकर बाकी...

62 साल पुराने संपत्ति विवाद की सुनवाई में बोला सु्प्रीम कोर्ट, आप हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाइये

नयी दिल्लीनवाब मीर यूसुफ अली खान सलार जंग तृतीय के वंशज 62 साल पुराने संपत्ति विवाद को सोमवार को सुप्रीम कोर्ट के समक्ष...

Padma Shri Award: टेनिस प्लेयर मौमा दास समेत 7 खिलाड़ियों को पद्म श्री पुरस्कार

नई दिल्लीअनुभवी टेबल टेनिस खिलाड़ी मौमा दास समेत 7 खिलाड़ियों को देश के 72वें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर भारत सरकार द्वारा...