Saturday, January 23, 2021

Stay on Implementation of New Farm Laws: किसानों के बीच कुछ खालिस्तानी हैं… कैसे दलीलों में मात खा गई मोदी सरकार

- Advertisement -


नई दिल्ली
सुप्रीम कोर्ट ने नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) के अमल पर रोक लगा दी है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि इस मामले में विवाद के समाधान के लिए एक कमिटी बनाई जाएगी और अगले आदेश तक कानून के अमल पर रोक लगी रहेगी। सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार ने अर्जी दाखिल कर कहा कि किसानों के ट्रैक्टर रैली पर रोक लगाई जाए। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से जवाब मांगा है और इस मुद्दे पर सोमवार को सुनवाई करेगा। कोर्ट में सुनवाई के दौरान सरकार और किसान संगठनों के बीच जमकर दलीलें चलीं।

किसान आंदोलन में घुसपैठियों की बात पर कोर्ट ने मांगा हलफनामा
सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान कहा गया कि किसानों के प्रदर्शन में कुछ बैन संगठन के घुसपैठी हैं। अटॉर्नी जनरल ने भी इस बात को कन्फर्म किया। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से हलफनामा दायर करने को कहा है। सुप्रीम कोर्ट ने तीनों कानून के अमल पर रोक लगाते हुए कमिटी के गठन का आदेश पारित किया है। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को सुनवाई के दौरान संकेत दिया था कि वह कृषि बिल के अमल पर रोक लगा सकती है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि सरकार या तो कानून के अमल पर रोक लगाए या फिर वह खुद होल्ड कर देगी।
किसान आंदोलनः राहुल का मोदी सरकार पर फिर वार- उलझाने की कोशिश बेकार, सब समझता है किसान
सुप्रीम कोर्ट ने की थी केंद्र सरकार की खिंचाई
सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस एसए बोबडे की अगुवाई वाली बेंच ने केंद्र सरकार की खिंचाई करते हुए कहा था कि उसने कृषि बिल के खिलाफ किसानों के प्रदर्शन को सही तरह से हैंडल नहीं किया। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सरकार की किसानों से जिस तरह से बातचीत चलती जा रही है और कोई नतीजा नहीं है वह बेहद निराशाजनक बात है। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा कि क्या चल रहा है? राज्य आपके कानून का विरोध कर रहे हैं। अदालत ने कहा था कि वह बातचीत के प्रोसेस से हम दुखी हैं। एक भी अर्जी सुप्रीम कोर्ट में ऐसी नहीं है जो बता रहा हो कि कानून लाभकारी है। हम अर्थशास्त्र के एक्सपर्ट नहीं है, लेकिन सरकार बताए कि कानून के अमल पर रोक लगाएगी या फिर हम रोक लगाएं। अपनी नाराजगी जताते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि सॉरी केंद्र सरकार ने किसानों के प्रदर्शन की समस्या का निदान करने में सक्षम नहीं है।

LIVE: सुप्रीम कोर्ट से मोदी सरकार को झटका, कृषि कानूनों के अमल पर अंतरिम रोक, कमिटी बनाई गई
कोर्ट ने कहा था- धैर्य को लेकर हमें लेक्चर न दिया जाए
सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि वह इस मामले में बातचीत के लिए कमिटी का गठन करेगी और कमिटी की अगुवाई सुप्रीम कोर्ट के रिटायर चीफ जस्टिस करेंगे। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा कि हमारे धैर्य को लेकर हमें लेक्चर न दिया जाए। हमने आपको काफी वक्त दिया ताकि समस्या का समाधान हो। कृषि कानून के खिलाफ दाखिल याचिका पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम करो्ट ने संकेत दिए थे वह कानून के अमल पर तब तक रोक लगा सकती है जब तक कि कमिटी के सामने दोनों पक्षों की बातचीत चलेगी ताकि बातचीत के लिए सहूलियत वाले वातावरण हों। सुप्रीम कोर्ट ने साथ ही किसानों से कहा है कि वह वैकल्पिक जगह पर प्रदर्शन के बारे में सोचें ताकि लोगों को वहां परेशानी न हो। अदालत ने कहा कि किसान प्रदर्शन कर सकते हैं लेकिन साथ ही कहा कि वह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि हिंसा न हो और सड़क पर खून न बहे।



Source link

इसे भी पढ़ें

सारा की इन तस्वीरों से बढ़ा पारा, मालदीव में कर रही हैं इंजॉय

बॉलिवुड ऐक्ट्रेस सारा अली खान इस समय मालदीव में क्वॉलिटी टाइम बिता रही है। वह अपने फैंस के लिए लगातार अपनी तस्वीरें सोशल...

मुश्किल दौर से गुजर रही हैं साइना, वापसी आसान नहीं : कोच विमल कुमार

नई दिल्लीपूर्व राष्ट्रीय चैम्पियन और कोच यू. विमल कुमार ने कहा है कि लंदन ओलिंपिक की कांस्य पदक विजेता साइना नेहवाल अपने करियर...
- Advertisement -

Latest Articles

सारा की इन तस्वीरों से बढ़ा पारा, मालदीव में कर रही हैं इंजॉय

बॉलिवुड ऐक्ट्रेस सारा अली खान इस समय मालदीव में क्वॉलिटी टाइम बिता रही है। वह अपने फैंस के लिए लगातार अपनी तस्वीरें सोशल...

मुश्किल दौर से गुजर रही हैं साइना, वापसी आसान नहीं : कोच विमल कुमार

नई दिल्लीपूर्व राष्ट्रीय चैम्पियन और कोच यू. विमल कुमार ने कहा है कि लंदन ओलिंपिक की कांस्य पदक विजेता साइना नेहवाल अपने करियर...

अलीबाग जाते समय वरुण धवन की कार का हुआ ऐक्सिडेंट

बॉलिवुड ऐक्टर वरुण धवन अपनी गर्लफ्रेंड नताशा दलाल के साथ 24 जनवरी को शादी करने जा रहे हैं। उनकी शादी की रस्में अलीबाग...