Saturday, February 27, 2021

Uttarakhand Chamoli Glacier Burst: चमोली आपदा में लापता लोगों को मृत घोषित करेगी सरकार, उठाया ये कदम

- Advertisement -


हाइलाइट्स:

  • उत्तराखंड सरकार ने चमोली जिले में आई आपदा में लापता लोगों को मृत घोषित करने के लिए प्रक्रिया तय कर दी
  • उत्तराखंड सरकार ने मृत घोषित करने के लिए बनाई है तीन कैटेगरी, इसके तहत जारी किए जाएंगे मृत्यु प्रमाणपत्र
  • चमोली जिले में आई आपदा में 204 व्यक्ति लापता हुए थे, जिनमें से अभी तक 68 के शव बरामद हो चुके हैं

देहरादून
उत्तराखंड के चमोली जिले में इस महीने के शुरू में आई प्राकृतिक आपदा में लापता व्यक्तियों को मृत घोषित करने के लिए राज्य सरकार ने प्रक्रिया तय कर दी है। इस संबंध में स्वास्थ्य सचिव अमित नेगी ने प्रदेश के सभी डीएम और जिला जन्म एवं मृत्यु पंजीकरण अधिकारियों को एक पत्र जारी कर सात फरवरी को भीषण दैवीय आपदा में लापता व्यक्तियों के लिए मृत्यु प्रमाणपत्र के संबंध में निर्धारित प्रक्रिया की जानकारी दी गई है। उनसे इसका तत्काल पालन करने को कहा गया है।

सर्कुलर में कहा गया है कि साधारणतया मृत्यु का पंजीकरण संबंधित व्यक्तियों की ओर से दी गई सूचना के आधार पर किया जाता है लेकिन उत्तराखंड में हुई असाधारण घटना जैसी अपवादस्वरूप परिस्थितियों में जांच के बाद किसी लोकसेवक की आख्या पर भी मृत्यु पंजीकरण किया जा सकता है। जिन लोगों के शव प्राप्त हो गए हैं, उनका मृत्यु प्रमाणपत्र जारी करने में सामान्य प्रक्रिया अपनाई जाएगी लेकिन जिन लापता लोगों के शव नहीं मिले हैं, उनके मृत्यु प्रमाणपत्र जारी करने से पहले यह सुनिश्चित किया जाएगा कि उत्तराखंड में आई उक्त दैवीय आपदा में ही उनकी मृत्यु होने की पूरी आशंका है।

मृत्यु प्रमाणपत्र जारी करने को बनाई तीन कैटेगरी
मृत्यु प्रमाणपत्र जारी करने के लिए आपदा में लापता व्यक्तियों को तीन कैटेगरी में बांटा गया है। पहली में उन लापता लोगों को रखा गया है जो आपदा प्रभावित स्थानों के स्थाई निवासी थे या उन निकटवर्ती स्थानों के स्थाई निवासी थे जो आपदा के समय आपदा प्रभावित स्थानों में रह रहे थे। दूसरी कैटेगरी में वे लापता लोग हैं जो उत्तराखंड के अन्य जिलों के निवासी थे लेकिन आपदा के समय आपदा प्रभावित स्थानों में मौजूद थे और तीसरी कैटेगरी में अन्य राज्यों के लापता पर्यटक या व्यक्ति हैं जो आपदा के समय आपदा प्रभावित स्थान पर उपस्थित थे।

उत्तराखंड : ग्लेशियर पर नजर रखने के लिए ये बड़ा कदम

आपदा में 204 व्यक्ति लापता, 68 शव बरामद
मृत्यु प्रमाणपत्र जारी करने के लिए परगना अधिकारी या उपजिलाधिकारी को अभिहित अधिकारी (डेजेगनेटेड) और अतिरिक्त जिलाधिकारी या जिलाधिकारी को अपीलीय अधिकारी नियुक्त किया गया है। दरअसल ऋषिगंगा नदी में सात फरवरी को अचानक आई बाढ़ से चमोली जिले के रैंणी और तपोवन क्षेत्र में जानमाल का भारी नुकसान हुआ था। आपदा में 204 व्यक्ति लापता हुए थे जिनमें से अभी तक 68 के शव बरामद हो चुके हैं।

Rescue operation outside a tunnel after a part of a glacier broke away, in Tapovan



Source link

इसे भी पढ़ें

सैमसंग का Rugged Phone Samsung Galaxy Xcover 5 जल्द होगा लॉन्च, इस बार क्या खास?

हाइलाइट्स:मजबूती के मामले में सैमसंग का यह फोन धांसू होगालुक और स्पेसिफिकेशंस डीटेल आने लगी हैSamsung Xcover series फोन्स की डिमांडनई दिल्ली।भारत में...

किसान आंदोलन पर भारत ने UNHRC को इशारों में सुनाया, कहा- आपके बयान में निष्पक्षता की कमी

हाइलाइट्स:भारत ने यूएनएचआरसी प्रमुख के किसान आंदोलन पर की गई टिप्पणियों की आलोचना कीभारतीय प्रतिनिधि ने कहा- हाई कमिश्नर ने बयानों में निष्पक्षता...
- Advertisement -

Latest Articles

सैमसंग का Rugged Phone Samsung Galaxy Xcover 5 जल्द होगा लॉन्च, इस बार क्या खास?

हाइलाइट्स:मजबूती के मामले में सैमसंग का यह फोन धांसू होगालुक और स्पेसिफिकेशंस डीटेल आने लगी हैSamsung Xcover series फोन्स की डिमांडनई दिल्ली।भारत में...

किसान आंदोलन पर भारत ने UNHRC को इशारों में सुनाया, कहा- आपके बयान में निष्पक्षता की कमी

हाइलाइट्स:भारत ने यूएनएचआरसी प्रमुख के किसान आंदोलन पर की गई टिप्पणियों की आलोचना कीभारतीय प्रतिनिधि ने कहा- हाई कमिश्नर ने बयानों में निष्पक्षता...

Vijay Hazare Trophy 2021 : क्रुणाल पंड्या के नाबाद शतक से बड़ौदा ने छत्तीसगढ़ को हराया, यूपी ने रेलवे को रौंदा

सूरत/अलुरकप्तान क्रुणाल पांड्या (नाबाद 133) के शानदार शतक से बड़ौदा ने सूरत में शुक्रवार को खेले गए विजय हजारे ट्रोफी (Vijay Hazare Trophy...

मणिपुर: घुटने पर बैठे बच्चों ने किया मुख्यमंत्री का स्वागत! लोगों ने पूछा- मुगल बादशाह हैं क्या?

मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह एक तस्वीर को लेकर विवादों में घिर गए हैं। मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने गुरुवार को अपने...